ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRDelhi Pollution: बारिश के बाद सुधर गई दिल्ली की हवा, लेकिन जारी रहेगा ग्रैप नियमों का पालन; सरकार सख्त

Delhi Pollution: बारिश के बाद सुधर गई दिल्ली की हवा, लेकिन जारी रहेगा ग्रैप नियमों का पालन; सरकार सख्त

मौसम विभाग का  मानना है कि अगर हवा की गति कम रहेगी तो प्रदूषण एक बार फिर बढ़ने लगेगा। इसे ध्यान में रखते हुए दिल्ली में ग्रैप के पहले एवं दूसरे चरण का सख्ती से  पालन  करवाया जाएगा।

Delhi Pollution: बारिश के बाद सुधर गई दिल्ली की हवा, लेकिन जारी रहेगा ग्रैप नियमों का पालन; सरकार सख्त
Swati Kumariहिंदुस्तान,नई दिल्लीWed, 29 Nov 2023 08:23 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली में प्रदूषण को लेकर आये सुधार के बावजूद ग्रैप के पहले एवं दूसरे चरण का सख्ती से पालन करवाया जाएगा। यह जानकारी पर्यापरण मंत्री गोपाल राय ने दी। उन्होंने बताया कि बुधवार को पर्यावरण विभाग एवं डीपीसीसी अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की गई है। इसमें उन्होंने चिन्हित हॉटस्पॉट पर विशेष नजर रखने और निर्माण साइट्स का नियमित निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही उन्होंने दिल्ली के विभिन्न इलाकों में पानी का छिड़काव तेजी से करने की सलाह दी है।

जानकारी के अनुसार प्रदूषण में आई कमी के चलते केन्द्रीय वायु गुणवत्ता आयोग ने मंगलवार को ग्रैप का तीसरा चरण दिल्ली-एनसीआर से हटा लिया है। बुधवार को  आयोजित समीक्षा बैठक के बाद पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि बीते दो दिनों से मौसम में आए बदलाव के चलते प्रदूषण कम हुआ है। लेकिन मौसम विभाग का  मानना है कि अगर हवा की गति कम रहेगी तो प्रदूषण एक बार फिर बढ़ने लगेगा। इसे ध्यान में रखते हुए दिल्ली में ग्रैप के पहले एवं दूसरे चरण का सख्ती से  पालन  करवाया जाएगा। इसके लिए पर्यावरण विभाग द्वारा सभी संबधित विभागों को आदेश जारी किया गया है।

प्रदूषण को रोकने के लिए काम कर रही एंटी डस्ट कैम्पेन टीम, एंटी ओपन  बर्निग अभियान टीम, पीयूसी चेकिंग टीमें आदि पूरी मुस्तैदी के साथ कार्य करती रहेंगी।  पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बताया कि उन्होंने हॉट स्पाट पर सभी नियमों का कड़ाई से पालन जारी रखने के आदेश दिए हैं। प्रदूषण को लेकर संबंधित एजेंसियों द्वारा लगातार निगरानी की जा रही है ताकि वायु गुणवत्ता गंभीर श्रेणी में न जाए। गोपाल राय ने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि प्रतिदिन चिन्हित सड़कों पर पानी का छिड़काव किया जाए और लगातार मैकेनिकल स्वीपिंग मशीन का उपयोग कर सड़कों को साफ किया जाए।

उन्होंने बताया कि 215  मोबाइल एंटी स्मॉग गन से पानी का छिड़काव किया जा रहा है। खासतौर से हॉटस्पॉट के लिए 60  मोबाइल एंटी स्मॉग गन लगाए गये हैं। पानी के छिड़काव के लिए  375 वाटर स्प्रिंक्लिंग मशीन भी लगाई गई हैं। इसके साथ ही 82 मैकनिकल स्वीपिंग मशीन काम कर रही हैं। एंटी ओपन बर्निंग अभियान के तहत 611 टीम तैनात हैं जो आगामी 14 दिसंबर तक अभियान चलाएंगी। 

निर्माण और विध्वंस गतिविधियां 
पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बताया कि 500 स्क्वायर मीटर या इससे ज्यादा एरिया वाले निर्माण  प्रोजक्ट को वेब पोर्टल पर पंजिकृत करना अनिवार्य है। इसके लिए डीपीसीसी को विशेष अभियान चलने का निर्देश दिया गया है। सभी निर्माण स्थलों पर निर्माण संबंधी 14 नियमों का पालन  करना जरूरी है। नियमों को पालन नहीं करने पर टीमें सख्त कार्रवाई करेंगी। इसके लिए 591 टीमें तैनात की गई हैं। सी एंड डी निर्माण साईटों पर एंटी स्मॉग गन की तैनाती संबंधित नियमों का कड़ाई से पालन करने का निर्देश दिया गया है । 

पीयूसी जांच में लगी 84 टीमें 
गोपाल राय ने बताया कि पीयूसी नियमों का सख्ती से पालना कराने और प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों पर कार्रवाई के निर्देश दिए गये हैं। इसके लिए  ट्रांसपोर्ट विभाग द्वारा 84 टीमें लगाई गई हैं। इनके साथ ही दिल्ली पुलिस की 284 टीम भी काम कर रही हैं। ट्रैफिक पुलिस ने  जिन 91 ट्रैफिक जाम के प्वाईंट की जानकारी दी है, वहां विशेष टीमों की तैनाती कर जाम खत्म करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने दिल्ली के लोगों से अपील की है कि कहीं भी प्रदूषण से सम्बंधित कार्य देखें तो उसकी शिकायत ग्रीन दिल्ली एप पर करें।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें