ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदिल्ली में बूंदाबांदी के बीच गंभीर श्रेणी में AQI, किस इलाके की हवा सबसे खराब, कब तक राहत?

दिल्ली में बूंदाबांदी के बीच गंभीर श्रेणी में AQI, किस इलाके की हवा सबसे खराब, कब तक राहत?

दिल्ली के ज्यादातर हिस्सों में हल्की बूंदाबांदी हुई है। वहीं प्रदूषण का स्तर एक बार फिर से गंभीर श्रेणी की दहलीज पर पहुंच गया है। बुधवार को दिल्ली के बीस इलाकों का AQI 400 के पार रहा।

दिल्ली में बूंदाबांदी के बीच गंभीर श्रेणी में AQI, किस इलाके की हवा सबसे खराब, कब तक राहत?
Krishna Singhहिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 31 Jan 2024 05:57 PM
ऐप पर पढ़ें

राजधानी दिल्ली में प्रदूषण का स्तर एक बार फिर से गंभीर श्रेणी की दहलीज पर पहुंच गया है। बुधवार को दिल्ली के बीस इलाकों का सूचकांक 400 के पार यानी गंभीर श्रेणी में रहा। हालांकि, राहत की बात यह है कि दिल्ली के ज्यादातर हिस्सों में हल्की बूंदाबांदी हुई है। इससे अगले दो दिनों में प्रदूषण के स्तर में गिरावट आने की संभावना है। दिल्ली के लोगों को इस बार जाड़े के मौसम में पहले के सालों से कहीं ज्यादा प्रदूषण का सामना करना पड़ रहा है।

पिछले साल 20 अक्तूबर के बाद से एक दिन भी ऐसा नहीं रहा है जब वायु गुणवत्ता सूचकांक 200 के अंक से नीचे आया हो। केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक बुधवार को दिल्ली का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 392 के अंक पर रहा।

इस स्तर की हवा को बेहद गंभीर श्रेणी में रखा जाता है। लेकिन, यह गंभीर श्रेणी से सिर्फ दस अंक नीचे है। मंगलवार को यह सूचकांक 357 के अंक पर रहा था। चौबीस घंटे के भीतर इसमें 35 अंकों की बढ़ोतरी हुई है। दिल्ली के 20 इलाकों का सूचकांक गंभीर श्रेणी में पहुंचा हुआ है और इसमें दिल्ली के ज्यादातर रिहायशी इलाके शामिल हैं।

मानकों के मुताबिक हवा में प्रदूषक कण पीएम 10 का स्तर 100 से कम और पीएम 2.5 का स्तर 60 से कम होने पर ही उसे स्वास्थ्यकारी माना जाता है। सीपीसीबी के मुताबिक बुधवार को शाम चार बजे दिल्ली-एनसीआर की हवा में पीएम 10 का स्तर 308 और पीएम 2.5 का स्तर 184 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर पर रहा। यानी दिल्ली-एनसीआर की हवा में प्रदूषक कणों का औसत स्तर मानकों से तीन गुना ज्यादा है।

इन इलाकों की हवा सबसे खराब
नेहरू नगर---449
आरके पुरम---449
सिरीफोर्ट---444
विवेक विहार---438
आनंद विहार---436

वहीं, दिल्ली वालों के लिए अच्छी खबर यह है कि पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से दिल्ली व आसपास के एक बड़े हिस्से में बुधवार की दोपहर से हल्की बूंदाबांदी हुई है। संभावना है कि इसके चलते वायु मंडल में मौजूद प्रदूषक कण जमीन पर गिर जाएंगे और हवा की गुणवत्ता में सुधार होगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें