ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRस्कूलों को उड़ाने की धमकी मामले में इंटरपोल की मदद लेगी दिल्ली पुलिस, क्या रणनीति?

स्कूलों को उड़ाने की धमकी मामले में इंटरपोल की मदद लेगी दिल्ली पुलिस, क्या रणनीति?

दिल्ली में स्कूलों, अस्पतालों और एयरपोर्ट को बम से उड़ाने की धमकियों के पीछे कौन है इसका पर्दाफाश करने के लिए दिल्ली पुलिस जल्द ही इंटरपोल से संपर्क करेगी। पढ़ें यह रिपोर्ट...

स्कूलों को उड़ाने की धमकी मामले में इंटरपोल की मदद लेगी दिल्ली पुलिस, क्या रणनीति?
Krishna Singhभाषा,नई दिल्लीTue, 14 May 2024 12:52 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली में स्कूलों, अस्पतालों और एयरपोर्ट को बम से उड़ाने की धमकियों के पीछे की साजिश का पर्दाफाश करने के लिए दिल्ली पुलिस जल्द ही इंटरपोल से संपर्क करेगी। यही नहीं वह दूसरे राज्यों की पुलिस के साथ मिलकर अखिल भारतीय स्तर पर जांच कर सकती है। दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि यहां के अधिकारी ई-मेल भेजे जाने के तरीके का विश्लेषण कर रहे हैं। जांच अधिकारी अन्य राज्यों के पुलिस बलों से संपर्क करने की योजना बना रहे हैं।

पुलिस ने बताया कि पिछले दो हफ्तों में दिल्ली, बेंगलुरु, अहमदाबाद, जयपुर और लखनऊ जैसे शहरों में विद्यालयों एवं अस्पतालों और दिल्ली, मुंबई, गोवा, नागपुर और कोलकाता के हवाई अड्डों के अलावा विभिन्न सरकारी भवनों को विदेशी मेल सेवा कंपनियों के जरिए उन्नत कूट भाषा में धमकी भरे मेल भेजे गए। उसने बताया कि इन शहरों में जांच की जा रही है।

बीस अस्पतालों, दिल्ली एयरपोर्ट और उत्तर रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (सीपीआरओ) कार्यालय को रविवार को 'इमारतों के अंदर विस्फोटक उपकरण रखने' के बारे में चेतावनी वाले ई-मेल प्राप्त हुए थे। दिल्ली पुलिस ने तलाशी ली लेकिन कुछ भी संदिग्ध नहीं मिला।

अधिकारी ने बताया कि रविवार की धमकी यूरोप स्थित मेल सेवा कंपनी 'बीबल डॉट कॉम' से भेजी गई थी। उन्होंने कहा कि जिस उपकरण से ई-मेल भेजा गया था, उसके आईपी (इंटरनेट प्रोटोकॉल) पते के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए पुलिस जल्द ही इंटरपोल से संपर्क करेगी। अधिकारी ने बताया कि दिल्ली पुलिस की विशेष शाखा जांच कर रही है।

पुलिस पता लगाने की कोशिश कर रही है कि उक्त ई-मेल कहां से भेजे गए थे। शुरुआती छानबीन में पता चला है कि कोर्ट नाम के ग्रुप ने जिम्मेदारी ली है। पुलिस को शक है कि उसे गुमराह करने के लिए अलग-अलग तरीके से धमकी देने की कोशिश की गई। दिल्ली पुलिस की साइबर यूनिट इस मामले में एंटी टेरर यूनिट और स्पेशल सेल के साथ छानबीन में जुटी है।