DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › ना'पाक' आतंक के और खुलेंगे राज, दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की हिरासत में आया ओसामा का चाचा
एनसीआर

ना'पाक' आतंक के और खुलेंगे राज, दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की हिरासत में आया ओसामा का चाचा

नई दिल्ली। एएनआईPublished By: Praveen Sharma
Sun, 19 Sep 2021 03:13 PM
ना'पाक' आतंक के और खुलेंगे राज, दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की हिरासत में आया ओसामा का चाचा

दिल्ली पुलिस द्वारा बीते दिनों गिरफ्तार किए गए छह आतंकियों में से एक ओसामा का चाचा हुमैद-उर-रहमान अब दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की हिरासत में है। स्पेशल सेल रहमान को ट्रांजिट रिमांड पर लखनऊ से दिल्ली ला रही है। पुलिस को उसकी गिरफ्तारी से कई और राज खुलने की उम्मीद है।

रहमान पर आरोप है कि उसने अपने भतीजे ओसामा और जीशान दोनों को आतंक की ट्रेनिंग दिलाने के पाकिस्तान भेजने में मदद की थी। दिल्ली पुलिस का कहना है कि रहमान कथित तौर पर इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) के संपर्क में भी था। उसने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जिले के करेली थाने में सरेंडर कर दिया था।

दिल्ली पुलिस के अनुसार, रहमान इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइसेज (IED) के परिवहन में पाकिस्तान द्वारा संचालित आतंकी मॉड्यूल की सहायता कर रहा था और देशभर में सीरियल ब्लास्ट के जरिए हत्याओं और विस्फोटों को अंजाम देने की योजना बना रहा था।

गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मंगलवार को पाकिस्तान समर्थित आतंकी मॉड्यूल का पर्दाफाश करके पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा प्रशिक्षित दो आतंकियों सहित कुल छह आतंकवादियों को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने बताया था कि आतंकवादी गणेश चतुर्थी, नवरात्र त्योहारों को दौरान दिल्ली, उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र में कई जगहों पर बम विस्फोट करने की कथित साजिश रच रहे थे।

पुलिस के मुताबिक आरोपियों की पहचान जान मोहम्मद शेख (47) उर्फ 'समीर, ओसामा (22), मूलचंद (47), जीशान कमर (28), मोहम्मद अबु बकर (23) और मोहम्मद आमिर जावेद (31) के तौर पर हुई है, जिन्हें दिल्ली और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में छापेमारी के बाद गिरफ्तार किया गया।

पाक में प्रशिक्षित दो आतंकवादियों- ओसामा और कमर- ने यह खुलासा किया था कि रहमान (48) ने उनके जाने और आतंकी मॉड्यूल का हिस्सा बनने के लिए उन्हें उकसाया था। इसके बाद रहमान के खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी किया गया था।

पुलिस ने कहा था कि गिरफ्तार किए गए लोगों में ओसामा और कमर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलीजेंस (आईएसआई) के निर्देश पर काम कर रहे थे। पुलिस के मुताबिक, उन्हें दिल्ली और उत्तर प्रदेश में विभिन्न उपयुक्त ठिकानों पर आईईडी लगाने के लिए रेकी करने का काम सौंपा गया था। 

संबंधित खबरें