ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदिल्ली के सैलून में दिनदहाड़े डबल मर्डर करने वालों की पहचान, सोशल मीडिया पोस्ट वजह

दिल्ली के सैलून में दिनदहाड़े डबल मर्डर करने वालों की पहचान, सोशल मीडिया पोस्ट वजह

दिल्ली के नजफगढ़ में सैलून में दो की गोली मारकर हत्या करने के एक दिन बाद हमलावरों की पहचान कर ली गई है। हत्याकांड के पीछे एक सोशल मीडिया पोस्ट को बताई जा रही है। पढ़ें यह रिपोर्ट...

दिल्ली के सैलून में दिनदहाड़े डबल मर्डर करने वालों की पहचान, सोशल मीडिया पोस्ट वजह
Krishna Singhलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSat, 10 Feb 2024 05:11 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के नजफगढ़ इलाके में शुक्रवार को दिनदहाड़े सैलून में घुसकर दो बदमाशों ने दो लोगों की गोली मार कर हत्या कर दी। वारदात के वक्त दोनों मृतक के बाल कटवा रहे थे, इस वजह से उन्हें बचने का मौका ही नहीं मिला। वारदात के बाद आरोपी पिस्तौल लहराते हुए फरार हो गए। पुलिस को वारदात की सूचना सैलून में काम करने वाले लोगों ने दी। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि पुलिस ने दोनों हमलावरों की पहचान कर ली है। हत्या के पीछे सोशल मीडिया पोस्ट भी बताई जा रही है। घटना के तार एक गैंगेस्टर से भी जुड़ रहे हैं।

गुहार लगाता रहा लेकिन ले ली जान
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि दोनों आरोपियों की पहचान संजीव दहिया उर्फ संजू और हर्ष उर्फ चिंटू के रूप में हुई है। इन दोनों ने शुक्रवार को नजफगढ़ के इंदिरा पार्क में आशीष और सोनू की गोली मारकर हत्या कर दी थी। पीड़ित बाल कटवाने के लिए सैलून गए थे। सोशल मीडिया पर घटना का कथित सीसीटीवी फुटेज वायरल हो रहा है। इसमें एक पीड़ित हमलावरों से गुहार लगाता नजर आ रहा है। फुटेज में सैलून की दो महिला स्टाफ भी डरकर भागती नजर आ रही हैं।

सोशल मीडिया पोस्ट के कारण हत्या
एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि प्रथम दृष्टया यह व्यक्तिगत दुश्मनी का मामला प्रतीत होता है, जो एक अपमानजनक सोशल मीडिया पोस्ट के कारण उत्पन्न हुई। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद खून-खराबे के पीछे का सही कारण पता चलेगा। सूत्रों ने कहा कि दहिया दिल्ली की एक अदालत में वकालत करते हैं लेकिन इसकी पुष्टि होना अभी बाकी है। जेल में बंद गैंगस्टर योगेश टुंडा का भाई हर्ष उर्फ चिंटू हाल ही में जमानत पर जेल से रिहा हुआ है।

सैलून में मच गई थी भगदड़
घटना के समय सैलून में कुछ अन्य लोग भी मौजूद थे। गोली चलते ही वहां अफरा-तफरी मच गई और लोग खुद को बचाने के लिए इधर उधर भागने लगे। सैलून के कर्मचारियों ने अंदर बने कमरे में घुसकर अपना बचाव किया। कर्मचारियों ने खुद को कमरे में बंद कर लिया। जिसके चलते आरोपी उस कमरे में नहीं जा पाए।

कुछ दिनों पहले हुआ था झगड़ा
वहीं पुलिस सूत्रों का कहना है कि शुरुआती जांच में पता चला है कि कुछ दिन पहले आशीष का संजीव नाम के युवक के साथ झगड़ा हुआ था। इनके बीच समझौता करवाने की कोशिश भी की गई थी। लेकिन मामले में कोई समझौता नहीं हुआ। दोनों एक दूसरे से रंजिश रख रहे थे। पुलिस को संजीव पर हत्या करने का शक है।

प्वाइंट ब्लैंक से मारी छह गोली
वारदात को अंजाम देने आए आरोपियों ने एक घायल को प्वाइंट ब्लैंक से छह गोली मारी है। वारदात में वीड़ियो में देखा जा सकता है कि पीड़ित आरोपियों के सामने हाथ जोड़ कर छोड़ने की गुहार लगा रहा था। लेकिन आरोपी ने उसकी एक के बाद एक उस पर कई गोली बरसाई। सिर पर गोली लगने के बाद पीड़ित फर्श पर गिर गया। जिसके बाद भी आरोपी उस पर गोली चलाता रहा।

रेकी कर दिया वारदात को अंजाम
पुलिस सूत्रों ने बताया कि दोनों आरोपियों ने रेकी कर वारदात को अंजाम दिया है। दोनों कई दिनों से सोनू और आशीष पर नज़र रखे हुए थे। ऐसे में जब सोनू और आशीष के सैलून में पहुंचे तो दोनों आरोपी करीब 15 मिनट बाद वहां पहुंचे और वारदात को अंजाम देकर पैदल ही फरार हो गए। आरोपियों ने सैलून के पास से भागने का रास्ता पहले से तय किया हुआ था। सूत्रों ने बताया कि वह गली में पैदल गए और आगे वहां से बाइक पर बैठ कर फरार हो गए।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें