ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRचिल्ली बॉर्डर से दिल्ली-नोएडा का सफर क्यों हो गया मुश्किल, कहां-क्या दिक्कत

चिल्ली बॉर्डर से दिल्ली-नोएडा का सफर क्यों हो गया मुश्किल, कहां-क्या दिक्कत

नोएडा के सेक्टर-95 दलित प्रेरणा स्थल से चिल्ला बॉर्डर तक चार स्थानों पर बॉटलनेक वाहनों की रफ्तार पर ब्रेक लगा रहे हैं। इसका असर नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे पर भी पड़ता है। 4 जगहों पर लगता है जाम।

चिल्ली बॉर्डर से दिल्ली-नोएडा का सफर क्यों हो गया मुश्किल, कहां-क्या दिक्कत
Sudhir Jhaहिन्दुस्तान,नोएडाWed, 23 Aug 2023 09:47 AM
ऐप पर पढ़ें

नोएडा के सेक्टर-95 दलित प्रेरणा स्थल से चिल्ला बॉर्डर तक चार स्थानों पर बॉटलनेक वाहनों की रफ्तार पर ब्रेक लगा रहे हैं। इसका असर नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे पर भी पड़ता है। बॉटलनेक की वजह से वाहनों का काफिला दो लेन में सिमट जाता है। इसकी वजह से पीछे की ओर वाहनों की लंबी कतार लग रही है।

नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे पार करते ही महामाया फ्लाईओवर से आगे सेक्टर-95 दलित प्रेरणा स्थल के सामने सड़क बॉटलनेक हो जाती है। पीछे से चार लेन में आ रहे ट्रैफिक को दो लेन ही निकलने के लिए मिल पाती हैं। यहां पर एक्सप्रेसवे के साथ-साथ कालिंदी कुंज की ओर से आने वाला ट्रैफिक भी मिलता है। ऐसे में व्यस्त समय में एक्सप्रेसवे की ओर जाम लगना शुरू हो जाता है।

इसी तरह फिल्म सिटी फ्लाईओवर से उतरकर चिल्ला बॉर्डर की ओर जाने लिए उतरने वाले लूप के पास भी बॉटलनेक होने की वजह से जाम लगता है। कई बार यहां पर पुलिस ट्रैफिक रोककर चलाती है। इसके बाद डीएनडी पर चढ़ने वाले और वहां से उतरने वाले लूप के सामने भी रास्ता बॉटलनेक हो जाता है। इसकी वजह से जाम की समस्या और बढ़ जाती है। फिल्म सिटी कट पर बॉटलनेक बनने से जाम लगता है।

सेक्टर-95 दलित प्रेरणा से चिल्ला बॉर्डर तक चार जगह बनने वाले बॉटलनेक की वजह से लगने वाले जाम का असर नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे तक रहता है। एक्सप्रेसवे पर सबसे ज्यादा परेशानी दलित प्रेरणा स्थल के सामने बॉटलनेक से होती है। इसकी वजह से भी एक्सप्रेसवे पर भी लोगों को लंबे जाम में फंसना पड़ता है। नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे पर जाम की समस्या बढ़ती जा रही है। लोगों को व्यस्त समय में ज्यादा परेशानी उठानी पड़ रही है। नोएडा प्राधिकरण के कागजों में इन बॉटलनेक खत्म करने की प्रक्रिया ही चल रही है। धरातल पर कोई काम नहीं हुआ है। इसकी वजह से रोजाना लाखों लोगों को जाम की समस्य का सामना करना पड़ रहा है।

लेन बदलने से भी एक्सप्रेसवे पर अटक रहा ट्रैफिक 
एक्सप्रेसवे पर ग्रेटर नोएडा की ओर से आकर कालिंदी कुंज की ओर जाने के लिए वाहन चालक चरखा गोलचक्कर से मुड़ जाते हैं। ऐसे में ग्रेटर नोएडा से आ रहे वाहनों के अचानक लेन बदलने से जाम लगता है। एक्सप्रेसवे पर लेन सिस्टम का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कैमरों के जरिए कार्रवाई नहीं हो पा रही है। व्यस्त समय में वाहनों का दबाव अधिक रहता है, जिससे लोगों की जाम संबंधी परेशानी बढ़ जाती है।

समाधान निकालने की तैयारी तेज
नोएडा विकास प्राधिकरण के डीजीएम श्रीपाल भाटी का कहना है कि बॉटलनेक की समस्या का समाधान निकालने की तैयारी है। इसके लिए रिपोर्ट बन रही है। महामाया से चिल्ला बॉर्डर तक जाम कम करने के लिए सर्वे कराया जा रहा है। इसकी रिपोर्ट का अध्ययन करने के बाद काम शुरू कराया जाएगा। नोएडा प्राधिकरण की ओर से शहर के यातायात को सुगम बनाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

यहां फंस रहे वाहन
1. दलित प्रेरणा स्थल के सामने
2. फिल्म सिटी कट
3. डीएनडी लूप
4. फिल्म सिटी फ्लाईओवर से उतरकर

चिल्ला एलिवेटेड रोड के बनने से राह आसान होगी
चिल्ला बॉर्डर से महामाया फ्लाईओवर तक एलिवेटेड रोड बनना प्रस्तावित है। रविवार को हुई बोर्ड बैठक में तय हुआ कि इसका काम ईपीसी मॉडल पर किया जाएगा। शासन से इसके लिए बजट को मंजूरी पहले ही मिल चुकी है। अब अगले महीने निर्माण शुरू करने के लिए टेंडर जारी होगा। ऐसे में करीब तीन महीने में इसका काम शुरू हो सकता है। काम शुरू होने पर डेढ़ से दो साल पूरा होने में लगेंगे। एलिवेटेड रोड के बनने के बाद ही बॉटलनेक की वजह से लगने वाला जाम खत्म हो पाएगा। एलिवेटेड रोड के बनने से सभी बॉटलनेक का असर नीचे से निकलने वाले ट्रैफिक पर ज्यादा नहीं पड़ेगा। फिल्म सिटी के सामने भी जाम की समस्या खत्म हो जाएगी। एलिवेटेड रोड का काम तो वैसे चार साल पहले शुरू हो गया था, लेकिन पैसों की वजह से अटक गया।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें