ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRAAP से दोस्ती नामंजूर; दिल्ली कांग्रेस में बढ़ी खींचतान, दो पूर्व MLA ने भी छोड़ी पार्टी

AAP से दोस्ती नामंजूर; दिल्ली कांग्रेस में बढ़ी खींचतान, दो पूर्व MLA ने भी छोड़ी पार्टी

दिल्ली कांग्रेस में सबकुछ ठीक नहीं है। अरविंदर सिंह लवली के इस्तीफे के बाद पार्टी के पूर्व विधायक नीरज बसोया और नसीब सिंह ने AAP के साथ गठबंधन के विरोध में कांग्रेस छोड़ दी है। पढ़ें यह रिपोर्ट...

AAP से दोस्ती नामंजूर; दिल्ली कांग्रेस में बढ़ी खींचतान, दो पूर्व MLA ने भी छोड़ी पार्टी
Krishna Singhलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 01 May 2024 05:00 PM
ऐप पर पढ़ें

कांग्रेस की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष पद से अरविंदर सिंह लवली (Arvinder Singh Lovely) के इस्तीफा देने के ठीक बाद पार्टी के पूर्व विधायक नीरज बसोया और नसीब सिंह ने AAP के साथ गठबंधन के विरोध में पार्टी छोड़ दी है। यह घटनाक्रम कांग्रेस की ओर से पूर्व विधायक देवेंद्र यादव को अपनी दिल्ली इकाई का अंतरिम अध्यक्ष नियुक्त किए जाने के बाद आया है। पार्टी छोड़ने वाले नेताओं कहना है कि AAP से गठबंधन को लेकर पार्टी कार्यकर्ताओं में भारी नाराजगी है।

पार्टी से अपने इस्तीफे पर पूर्व कांग्रेस विधायक नसीब सिंह ने कहा- कांग्रेस में हम वरिष्ठ नेता और करीब 30 से 35 पूर्व विधायक AAP के साथ गठबंधन का विरोध कर रहे थे। फिर भी हाईकमान ने ध्यान नहीं दिया और हमारी बात नहीं सुनी। मुझे लगता है कि गठबंधन केवल एक सीट पर ही है क्योंकि बाकी दो उम्मीदवार हमारी विचारधारा के नहीं हैं। आलम यह है कि पार्टी कार्यकर्ता कह रहे हैं कि वे किसी ऐसे व्यक्ति के लिए काम नहीं करेंगे जिसने गलत प्रचार कर के हमें खत्म करने का काम किया।

नसीब सिंह ने कहा- हमसे सहन नहीं हो रहा है। हम नहीं देख सकते कि सोनिया गांधी के नेतृत्व छोड़ने के बाद पार्टी के भीतर क्या हो रहा है। अरविंद केजरीवाल तिहाड़ जेल से दिल्ली कांग्रेस कमेटी चला रहे हैं। कांग्रेस की विचारधारा से नहीं आने वाले कन्हैया कुमार और उदित राज खरगे जी की तस्वीर नहीं लगा रहे हैं। यही कांग्रेस है क्या? आज सत्ता के मोह में इतने गिर गए हैं कि उन्हें नजर नहीं आ रहा है कि आज 50 सीट पर आने वाली कांग्रेस की हालत इसी AAP पार्टी ने की है।

नसीब सिंह ने कहा- आज कांग्रेस को ऐसे लोग चला रहे हैं जो कमलनाथ को जलील करते हैं। अरविंदर सिंह और गुलाम नबी आजाद को जलील करते हैं। उन्होंने कांग्रेस को बर्बाद कर दिया है। शर्म आनी चाहिए। डुबो के जाएंगे। इससे पहले की कांग्रेस डूबे, हम इसमें अपनी भागीदारी नहीं चाहते हैं क्योंकि हमने 30 साल इस पार्टी को दिए हैं। खून पसीने से सींचा है। सोनिया गांधी ने हमें अधिकार दिया था। उन्होंने हमको आगे बढ़ाया था। जब तक वह थीं तब तक 14-15 राज्यों में कांग्रेस की सरकार थी।