ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRपानी बचाने से लेकर योग तक का संदेश, विजयादशमी पर PM मोदी ने दिलाए 10 संकल्प

पानी बचाने से लेकर योग तक का संदेश, विजयादशमी पर PM मोदी ने दिलाए 10 संकल्प

दिल्ली में रामलीला देखने के लिए विभिन्न जगहों पर भारी भीड़ उमड़ी है। लव कुश रामलीला कमेटी में उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और अभिनेत्री कंगना रनौत पहुंचे हैं।

पानी बचाने से लेकर योग तक का संदेश, विजयादशमी पर PM मोदी ने दिलाए 10 संकल्प
Krishna Singhराहुल मानव,नई दिल्लीTue, 24 Oct 2023 07:51 PM
ऐप पर पढ़ें

Delhi Dussehra Celebrations: दशहरा के मौके पर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में लोगों की भारी भीड़ बुराई पर अच्छाई का पर्व मनाने के लिए विभिन्न रामलीला समारोहों में जमा हुई। प्रधानमंत्री मोदी भी मंगलवार को दशहरा समारोह के उपलक्ष्य में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के द्वारका सेक्टर 10 में आयोजित एक रामलीला कार्यक्रम में शामिल हुए। रामलीला के मंच पर पीएम मोदी का स्वागत शॉल और राम दरबार की मूर्ति भेंट कर किया गया। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में समाज में सौहार्द को नुकसान पहुंचाने वाली जातिवाद, क्षेत्रवाद जैसी विकृतियों को खत्म करने का आह्वान किया।

हमारी शक्ति पूजा दुनिया के कल्याण के लिए
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि भारत में विजयदशमी के मौके पर 'शस्त्र पूजन' की भी परंपरा है। भारतीय धरती पर हथियारों की पूजा किसी भूमि पर प्रभुत्व के लिए नहीं बल्कि अपनी मातृभूमि की रक्षा के लिए की जाती है। हमारी शक्ति पूजा केवल हमारे लिए नहीं वरन पूरी दुनिया के कल्याण के लिए है। देश की जनता भगवान राम की मर्यादा को जानती है और देश की सीमाओं की रक्षा कैसे करनी है यह भी जानती है। 

चंद्रयान की सफलता को किया याद
पीएम मोदी ने कहा- मैं सभी देशवासियों को नवरात्रि और विजयादशमी की हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं। यह त्योहार बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है। इस बार हम विजयादशमी तब मना रहे हैं जब चंद्रमा पर हमारी जीत को 2 महीने हो गए हैं। हम गीता का ज्ञान भी जानते हैं और हमारे पास आईएनएस विक्रांत और तेजस बनाने की क्षमता भी है। 

अपने संकल्पों को दोहराने का समय
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि यह पर्व अपने संकल्पों को दोहराने का समय है। विजयादशमी का ये पर्व, अन्याय पर न्याय की विजय, अहंकार पर विनम्रता की विजय और आवेश पर धैर्य की विजय का पर्व है।

अगली रामनवमी रामलला मंदिर में 
पीएम मोदी ने कहा- यह हमारा सौभाग्य है कि हम भव्य राम मंदिर बनते देख सकते हैं। राम मंदिर में भगवान राम के विराजमान होने में बस कुछ ही महीने बचे हुए हैं। भगवान श्री राम आने ही वाले हैं। अगली रामनवमी अयोध्या में रामलला के मंदिर में भव्यता के साथ मनाई जाएगी। 

भारत को सतर्क रहने की जरूरत- पीएम मोदी
पीएम मोदी ने कहा- मौजूदा वक्त में भारत को बेहद सतर्क रहने की जरूरत है। हमें समाज में भेदभाव के अंत का संकल्प लेना चाहिए। आने वाले 25 साल भारत के लिए बेहद महत्वपूर्ण है। पूरी दुनिया आज भारत की ताकत देख रही है। अब हमें विश्राम नहीं करना है।  

उन ताकतों का अंत हो जो देश को बांटती हैं...
समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, पीएम मोदी ने कहा- हमें ध्यान रखना है कि आज रावण का धहन केवल पुतले का दहन न हो। ये दहन हो हर उस बुराई का हो जिसकी वजह से समाज का आपसी सौहार्द बिगड़ता है। यह दहन उन ताकतों का होना चाहिए जो क्षेत्रवाद और जातिवाद के नाम पर मां भारती को बांटने की कोशिशें करती हैं। यह दहन उन विचारों का हो जिनमें देश का विकास नहीं स्वार्थ की सिद्धि निहित है।

देशवासियों को दिलाया 10 संकल्प
पीएम मोदी ने लोगों से 10 संकल्पों को लेने की अपील की। इन संकल्पों में कम से कम एक गरीब परिवार को उसकी सामाजिक-आर्थिक स्थिति सुधारने में मदद करना भी शामिल है। उन्होंने पानी की बचत, डिजिटल लेनदेन, स्वच्छता, वोकल फॉर लोकल को बढ़ावा दने का संकल्प लेने की अपील की। उन्होंने कहा कि जब सबका विकास होगा, तभी देश विकसित राष्ट्र बनेगा। पीएम मोदी ने गुणवत्तापूर्ण कार्य, घरेलू पर्यटन, प्राकृतिक खेती, मोटे अनाजों के उपभोग और योग पर भी जोर दिया।

भगवान राम के जीवन मूल्य सभी चुनौतियों का समाधान- राष्ट्रपति
वहीं राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने कहा- विजयदश्मी के पावन अवसर पर मैं भारतवासियों को बधाई देती हूं और सबके सुख और समृद्धि की कामना करती हूं। यह पर्व हमारे महान राष्ट्र के साझा मूल्य को दर्शाता है। यह ऐसा पर्व है जो समाज में सच्चाई और मर्यादापूर्ण व्यवहार को अपनाने की प्रेरणा देता है। मौजूदा वक्त में हम भ्रष्टाचार, असमानता, अशिक्षा, जलवायु परिवर्तन और आतंकवाद रूपी रावण जैसी कई बुराइयों का सामना कर रहे हैं। भगवान राम के जीवन मूल्य इन सभी चुनौतियों से निपटने में हम सभी की मदद कर सकते हैं।

पीएम मोदी समेत कई दिग्गज शामिल
प्रधानमंत्री मोदी द्वारका सेक्टर-10 की राम लीला में 'रावण दहन' कार्यक्रम शामिल हुए हैं। वहीं दिल्ली के लाल किला में आयोजित लव कुश रामलीला कमेटी में उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना पहुंचे। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू भी लाल किला में आयोजित लव कुश कमेटी में रामलीला देखने पहुंचीं। इसी कमेटी में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत भी मौजूद रहे। इन सभी की उपस्थिति से लोग बेहद उत्साहित थे। 

सबसे पहले लव कुश रामलीला कमेटी ने की शुरुआत
लाल किला की लव कुश रामलीला कमेटी में रामलीला शाम 4.30 बजे से शुरू हो गई। सबसे पहले लव कुश रामलीला कमेटी के मंच पर रामलीला शुरू हुई। भगवान शिव जी और भगवान गणेश जी की एंट्री बड़ी क्रेन से हुई। इसके बाद भगवान श्री राम जी, माता सीता जी और लक्ष्मण जी की आरती की हुई। लोगों में राम लीला का जबरदस्त क्रेज नजर आ रहा है। लोगों की भीड़ लाल किला की राम लीलाओं में दोपहर 2.30 बजे से ही उमड़ने लगी। लाल किला के आसपास हर तरफ लोग रावण, कुंभकरण और मेघनाथ के पुतलों की तवसीर लगातार खींचते नजर आए।

सैंकड़ों पुलिस कर्मियों ने संभाली सुरक्षा व्यवस्था
लाल किला के आसपास के क्षेत्र में और रामलीला के आसपास और अंदर दिल्ली पुलिस और सुरक्षा कर्मियों ने सुरक्षा व्यवस्था को संभाला। लाल किला के पास वाहनों को खड़े करने नहीं दिया जा रहा था। इसके अलावा ई रिक्शा को भी हटाया गया। दिल्ली के लाल किला में आयोजित लव कुश रामलीला कमेटी के मंच पर 3डी ग्राफिक्स के साथ बड़ी स्क्रीन पर रामलीला को दिखाया गया। माता सीता के पीछे स्क्रीन पर 3डी ग्राफिक्स से प्रकृति के दृश्य को दिखाया गया। इसके साथ ही मंच पर किरदार निभा रहे आर्टिस्ट इयर फोन माइक से अपनी भूमिका निभाते दिखे।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें