ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदिल्ली में अवैध रेस्टोरेंटों पर ऐक्शन, एमसीडी ने किया सील, क्या थे आरोप?

दिल्ली में अवैध रेस्टोरेंटों पर ऐक्शन, एमसीडी ने किया सील, क्या थे आरोप?

एमसीडी ने राष्ट्रीय राजधानी में छतों और टेरेस पर अवैध रूप से चल रहे रेस्टोरेंटों पर कार्रवाई की है। इन रेस्टोरेंट को सील कर दिया है। इन रेस्टोरेंटों पर क्या थे आरोप जानने के लिए पढ़ें यह रिपोर्ट..

दिल्ली में अवैध रेस्टोरेंटों पर ऐक्शन, एमसीडी ने किया सील, क्या थे आरोप?
Krishna Singhराहुल मानव,नई दिल्लीSat, 20 Apr 2024 06:54 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली नगर निगम ने शनिवार को छतों और टेरेस पर अवैध रूप से चलने वाले रेस्टोरेंटों पर कार्रवाई की है। निगम के अधिकारियों ने करोल बाग जोन के नारायणा औद्योगिक क्षेत्र, फेज-1 में छतों और टेरेस पर अवैध रूप से संचालित तीन कैफे/रेस्टोरेंट को सील कर दिया है। सूत्रों ने बताया कि सार्वजनिक सुरक्षा को खतरे में डालने के आरोपों के तहत इन पर कार्रवाई हुई है। जिन कैफे/रेस्टोरेंट पर कार्रवाई हुई है उनमें मैसर्स मून मिस्ट कैफे, मैसर्स टोमा टीना कैफे, मैसर्स ताम्बूला बाय बुहू शामिल हैं। 

प्राप्त जानकारी के मुताबिक, दिल्ली नगर निगम ने अवैध रूप से छत पर चलने वाले रेस्तरां पर बड़ी कार्रवाई की है। करोल बाग जोन के नारायणा औद्योगिक क्षेत्र में तीन कैफ व रेस्तरां को निगम ने सील किया है। निगम के अनुसार यह बिना आवश्यक स्वास्थ्य व्यापार लाइसेंस और अग्नि अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) के संचालित किए जा रहे थे। 

निगम के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि दिल्ली में विभिन्न जगहों पर कर्मचारी निरीक्षण कर रहे हैं। इसमें अनधिकृत रूप से चलने वाले रेस्तरां की तेजी से पहचान की जा रही है। उनके खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं। अगले एक माह के दौरान कई जगहों पर निगरानी तेज करेंगे। जिन भी रेस्तरां के पास स्वास्थ्य व्यापार लाइसेंस नहीं मिलेंगे और नियम के तहत संचालन नहीं करेंगे। तब उन पर कार्रवाई होगी। 

छतों पर चलने वाले रेस्तरां व इससे जुड़े प्रतिष्ठानों में आने वाले लोगों की सुरक्षा के लिए उचित कदम उठाए जाने आवश्यक हैं। इसके लिए निर्धारित किए गए मानदंडों के तहत फायर एनओसी, लाइसेंस लेना अनिवार्य होता है। इन मानकों का अनुपालन न करने वाले रेस्तरां व कैफे पर कार्रवाई करते हुए उन्हें सील किया जाएगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें