ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRगर्मी से बचने को पहाड़ जाने का प्लान बनाने वालों को झटका, ट्रेनें फुल; बसों में भी मारामारी

गर्मी से बचने को पहाड़ जाने का प्लान बनाने वालों को झटका, ट्रेनें फुल; बसों में भी मारामारी

दिल्ली-एनसीआर में पारा बढ़ने के साथ लोगों ने मैदानी भागों से पहाड़ों की ओर रुख कर लिया है। हालात यह हैे कि हिमाचल और उत्तराखंड की ओर जाने वाली किसी भी ट्रेन में सीट नहीं है।

गर्मी से बचने को पहाड़ जाने का प्लान बनाने वालों को झटका, ट्रेनें फुल; बसों में भी मारामारी
Sneha Baluniप्रमुख संवाददाता,गाजियाबादFri, 16 Jun 2023 06:53 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली-एनसीआर में पारा बढ़ने के साथ लोगों ने मैदानी भागों से पहाड़ों की ओर रुख कर लिया है। हालात यह है कि हिमाचल और उत्तराखंड की ओर जाने वाली किसी भी ट्रेन में सीट नहीं है। वेटिंग लिस्ट भी काफी लंबी है। 25 मई के बाद कुछ राहत है। ट्रेन में सीट न होने से एसी बस और टूर एंड ट्रेवल ने भी किराया बढ़ा दिया है।

मई से पारा बढ़ने लगा था। जून में चिलचिलाती गर्मी से बचने के लिए हजारों लोग पहाड़ों की हसीन वादियों की ओर जा रहे हैं। समुद्री तट पर ज्यादा गर्मी होने के कारण उस और लोगों का कम रुझान है। रेल आरक्षण केंद्र से मालूम हुआ है कि ग्रीष्मकालीन अवकाश में मौज-मस्ती करने हरिद्वार, जम्मू, देहरादून की ओर लोगों का सबसे अधिक रुख हैं। इन मार्गों पर चलने वाली सभी ट्रेनों में आरक्षण तो क्या वेटिंग टिकट भी मिलना मुश्किल हो गया है।

जम्मू और कटरा जाने वाली ट्रेन 25 जून तक फुल हैं। इस और जाने वाली किसी भी ट्रेन में सीट नहीं है। कई ट्रेन में वेटिंग लिस्ट 100 से पार जा चुकी है। ऐसे में मां वैष्णो देवी के दर्शन करने के इच्छुक भक्तों को परेशानी हो रही है। उन्हें ट्रेनों के अलावा कटरा जाने के लिए अन्य विकल्प खोजने पड़ रहे हैं। लोग कई ट्रेनों में एक साथ टिकट बुक करा रहे हैं। जिन ट्रेनों में कन्फर्म होने की ज्यादा उम्मीद रहती है उसे छोड़ बाकी सभी को कैंसिल करा रहे हैं। तत्काल टिकट यदि मिल जाता है तो फिर वेटिंग टिकट को कैंसिल करा दिया जाता है। रोजाना 40 से ज्यादा टिकट इस वजह से काउंटरों पर रदद करा रहे हैं।

तत्काल टिकट से भी राहत नहीं

लोगों को तत्काल में भी ट्रेनों में टिकट नहीं मिल रही है। 24 घंटे पूर्व तत्काल सेवा शुरू होती है। सुबह दस बजे से वातानुकूलित श्रेणी और सुबह 11 बजे से स्लीपर क्लास के लिए तत्काल टिकट बुकिंग शुरू होती है। तत्काल सेवा में कुछ अतिरिक्त शुल्क देना पड़ता है। हालात यह है कि साइबर कैफे के कारण रेलवे आरक्षण केंद्रों पर पहले दो यात्रियों के अलावा किसी को कंफर्म टिकट नहीं मिल रही है। इतनी देर में सभी ट्रेनों में सीट फुल हो जा रही हैं।

ट्रेवल एजेंसी ने रेट बढ़ाए

टूर एंड ट्रेवल एजेंसियों ने रेट बढ़ा दिए हैं। गांधी नगर स्थित टूर एंड ट्रैवल के मालिक सुमित अरोड़ा के मुताबिक, लोग परिवार के साथ इनोवा या फिर 16 सीटर बस की बुकिंग करा रहे हैं। उनकी गाड़ियां सीधे कटरा के होटल तक जाती हैं। हरिद्वार, ऋषिकेष, गंगोत्री, यमनोत्री, केदारनाथ और बद्रीनाथ के लिए भी बुकिंग हो रही है। कुछ लोग अपने हिसाब से टूर पैकेज बनवा रहे हैं। दस दिनों तक ज्यादा जोर है। स्कूल खुलते ही भीड़ कम हो जाएगी।

बस सेवा भी महंगी हुई

जम्मू, देहरादून, हरिद्वार, ऋषिकेश के अलावा हिमाचल, उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों की ओर जाने वाली बसों में भी मारामारी है। सरकारी बस सेवा पहाड़ों की ओर कम है। निजी ट्रेवल्स एजेंसी की एसी बसों में भी सीट को लेकर मारामारी है। ऑनलाइन बुकिंग के कारण अधिकतर फुल हो चुकी हैं। दिल्ली से सरकारी और निजी बस सेवाएं जम्मू तक उपलब्ध हैं।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें