DA Image
18 अक्तूबर, 2020|10:56|IST

अगली स्टोरी

हाथरस कांड पर दिल्ली एनसीआर में उबाल, इंडिया गेट पर हिरासत में लिए गए प्रदर्शनकारी

hathras case   many protesters arrested at india gate

राजधानी के हाथरस की दुष्कर्म पीड़िता को न्याय दिलाने की मांग को लेकर इंडिया गेट सहित अन्य स्थानों पर छात्र संगठनों ने प्रदर्शन किया। सुबह यूपी भवन के बाहर विरोध प्रदर्शन करने के बाद आइसा, एएफआई, डीएसयू, क्रांतिकारी युवा संगठन सहित कई छात्र संगठन व सामाजिक संगठनों से जुड़े लोगों ने बाद में शाम को इंडिया गेट पर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारी छात्रों ने पुलिस पर बल प्रयोग करने और जबरदस्ती हिरासत में लेने आ आरोप लगाया।

छात्र यूपी सरकार हाय हाय और हाथरस की पीड़िता को न्याय दो का नारा लगा रहे थे। इंडिया गेट पर प्रदर्शनकारियों की बढ़ती भीड़ को देखते हुए पुलिस ने माइक पर ऐलान किया कि आप लोग दूरी बना लें कोविड 19 से उपजी स्थिति के कारण एक जगह बहुत लोग एक साथ एकत्रित नहीं हो सकते। छात्र संगठनों के प्रतिनिधि का कहना है कि लोगों को तितर बितर करने के लिए लिए पुलिस ने बल प्रयोग किया जबकि हम लोग शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। जिस तरह से दुष्कर्म की घटना एक युवती के साथ घटी है उससे पता चलता है कि न केवल उत्तर प्रदेश बल्कि देश में कहीं भी महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं।

आल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष एन साई बालाजी ने बताया कि हाथरस में दलित युवती के लिए न्याय की मांग को लेकर छात्र इंडिया गेट पहुंचे थे लेकिन पुलिस ने हमारे कार्रवाई की। हम योगी सरकार से इस्तीफा की मांग करते हैं। हमारा विरोध प्रदर्शन शांतिपूर्ण था लेकिन पुलिस ने छात्राओं को शाम 6 बजे के बाद हिरासत में लेकर गई है। यह उनको कहां लेकर गई है इसकी जानकारी हमारे पास नहीं है। सवाल है कि दिल्ली पुलिस क्या शांतिपूर्ण अपना विरोध भी जताने नहीं देगी। उत्तर प्रदेश पुलिस ने पीड़िता के परिवार वालों को उसके अंतिम संस्कार में भी शामिल नहीं किया। हम लोगों का विरोध महिलाओं के ऊपर बढ़ रहे ऐसे अपराध और सरकार के खिलाफ है।

जंतर-मंतर पर दी श्रद्धांजलि
यूपी के हाथरस मामले की पीड़िता को बुधवार शाम को जंतर-मंतर पर श्रद्धांजलि दी गई। साथ ही केंद्र सरकार से इस घटना की जांच सीबीआई से कराने की मांग भी कार्यकर्ताओं ने की। श्रद्धांजलि सभा का आयोजन दिल्ली डेमोक्रेटिक एलाइंस के तत्वावधान में हुआ था।

संगठन के कार्यकर्ताओं ने पीड़िता की तस्वीर के आगे मोमबत्ती जलाकर उसे श्रद्धांजलि दी और दो मिनट का मौन रखा। दिल्ली डेमोक्रेटिक एलाइंस के अध्यक्ष अशोक अज्ञानी ने बताया कि सरकार से मांग है कि इस मामले की जांच के सीबीआई द्वारा कराई जाए। पूर्व जजों की अध्यक्षता में एक स्वतंत्र समिति का गठन हो। एक निश्चित समय अवधि में दोषियों पर कड़ी कार्रवाई करके उन्हें फांसी की सजा दी जाए। साथ ही सरकार पीड़ित परिवार को एक करोड़ रुपये की आर्थिक राशि की मदद दें।

उधर, करोलबाग के रैगरपुरा स्थित हाथी वाला चौक पर भी लोग पीड़िता को श्रद्धांजलि देने के लिए पहुंचे। लोगों ने मोमबत्ती जलाकर इस घटना पर दुख जताया और सरकार से पीड़िता के परिवार को इंसाफ देने की मांग की। रैगरपुरा निवासी प्रवीण कुरड़िया ने बताया कि दोषियों को फांसी की सजा दी जाए। इस पूरे मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में हो। जिससे पीड़ित परिवार को न्याय मिल सकें।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Delhi NCR angry over Hathras gang rape case Many Protesters arrested at India Gate