ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदिल्ली में 999 तक AQI; पलूशन नापने में अब मशीन भी फेल, बहुत बीमार कर देगी यह हवा

दिल्ली में 999 तक AQI; पलूशन नापने में अब मशीन भी फेल, बहुत बीमार कर देगी यह हवा

दिल्ली की जहरीली हवा में सांस ले रहे लोगों को जल्द राहत मिलने की उम्मीद है। मौसम विभाग ने बताया है कि राहत की बूंदे कब बरसेंगी। वहीं बुधवार को वायु गुणवत्ता 'गंभीर' श्रेणी में दर्ज की गई।

दिल्ली में 999 तक AQI; पलूशन नापने में अब मशीन भी फेल, बहुत बीमार कर देगी यह हवा
Sneha Baluniलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 08 Nov 2023 09:39 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली-एनसीआर की फिजा में घुले जहर में लोग सांस लेने को मजबूर हैं। हवा की गुणवत्ता में मामूली सुधार हुआ है जिससे लोगों को किसी तरह की राहत नहीं मिली है। बुधवार को कई इलाकों में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 400 के पार दर्ज किया गया है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार, दिल्ली में वायु गुणवत्ता 'गंभीर' श्रेणी में बनी हुई है। बुधवार सुबह आनंद विहार में एक्यूआई 452, आरके पुरम में 433, पंजाबी बाग में 460 और आईटीओ में 413 रहा। वहीं रात के समय आनंद विहार का एक्यूआई 999 पर पहुंच गया था जोकि खतरनाक स्तर है। अब यह घटकर 452 पर पहुंच गया है। बता दें कि दिल्ली में प्रदूषण को नापने वाली मशीन में तीन डिजिट (अंक) तक नंबर दिखते हैं। इसमें चार डिजिट के नंबर दिखाई नहीं देते। इसका मतलब है कि यदि किसी स्थान पर प्रदूषण 999 अंक से ज्यादा होगा तो वह इसमें शो नहीं होगा।

बिगड़ेगी आबोहवा

लगातार पांच दिन तक वायु गुणवत्ता के 'गंभीर' श्रेणी में रहने के बाद मंगलवार सुबह प्रदूषण के स्तर में मामूली कमी देखी गई पर वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 'बेहद खराब' श्रेणी में दर्ज किया गया। सीपीसीबी के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली का 24 घंटे का औसत एक्यूआई मंगलवार को 395 रहा, जो सोमवार के 421 से कम है। दिल्ली-एनसीआर के लिए पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय की वायु गुणवत्ता प्रारंभिक चेतावनी प्रणाली के अनुसार, आठ नवंबर को हवा की गुणवत्ता और खराब होने तथा इसके 'गंभीर' श्रेणी में पहुंचने के आसार हैं, जबकि नौ और 10 नवंबर को इसके 'बेहद खराब' श्रेणी में रहने की आशंका है।

कब बरसेंगी राहत की बूंदे

इस वीकेंड पर हल्की ठंड बढ़ने के आसार हैं। तापमान में एक से दो डिग्री की गिरावट आ सकती है। मौसम विभाग के अनुसार, बुधवार से हवा की गति में थोड़ा सुधार हो सकता है। जिससे दिल्ली-एनसीआर के लोगों को प्रदूषण से कुछ राहत मिल सकती है। नौ नवंबर गुरुवार को बूंदाबांदी की संभावना है। आसमान में बादल छाए रह सकते हैं। 11 और 12 नवंबर से हवाओं की गति तेज हो जाएगी। जिससे ठंड बढ़ने के साथ ही तापमान में ज्यादा कमी आएगी।

आसमान पर छाए रहेंगे बादल

मौसम विभाग के बुलेटिन में कहा गया है, 'दिल्ली में आठ नवंबर को सुबह उत्तर-पश्चिम दिशा से चार-12 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से हवा के आने तथा दोपहर/शाम तक आंशिक रूप से बादल छाये रहने और धुंध छाए रहने के आसार हैं। अलग-अलग दिशाओं से आ रही हवा के कारण नौ नवंबर की रात दिल्ली में एक या दो स्थानों पर बहुत हल्की बारिश का अनुमान है।' प्रदूषण के स्तर में मामूली गिरावट आने के बावजूद पीएम2.5 (सूक्ष्म कण जो सांस लेने पर श्वसन प्रणाली में प्रवेश कर सकते हैं और श्वसन संबंधी समस्याएं पैदा कर सकते हैं) की सांद्रता 60 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर की सुरक्षित सीमा से सात से आठ गुना अधिक रही। यह विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा निर्धारित स्वस्थ सीमा (15 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर) से 30 से 40 गुना अधिक है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें