ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRमुंडका अग्निकांड हादसा : फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला ने मृतकों की डीएनए रिपोर्ट दिल्ली पुलिस को सौंपी

मुंडका अग्निकांड हादसा : फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला ने मृतकों की डीएनए रिपोर्ट दिल्ली पुलिस को सौंपी

दिल्ली के मुंडका इलाके में चार मंजिला एक इमारत में आग लग गई थी, जिससे 27 लोगों की मौत हो गई थी। फॉरेंसिक टीमों ने लापता व्यक्तियों के परिवार के सदस्यों के डीएनए के साथ कई नमूनों का मिलान किया है।

मुंडका अग्निकांड हादसा : फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला ने मृतकों की डीएनए रिपोर्ट दिल्ली पुलिस को सौंपी
Praveen Sharmaनई दिल्ली | भाषाTue, 07 Jun 2022 09:22 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला (एफएसएल) ने मुंडका अग्निकांड (Mundka Fire Tragedy) में मारे गए लोगों के डीएनए नमूनों की कुछ रिपोर्ट दिल्ली पुलिस को सौंप दी हैं। फॉरेंसिक टीमों ने लापता व्यक्तियों के परिवार के सदस्यों के डीएनए के साथ कई नमूनों का मिलान किया है।

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि फॉरेंसिक टीमों ने लापता व्यक्तियों के परिजनों के डीएनए के साथ कई नमूनों का मिलान किया है। उन्होंने कहा कि कुछ रिपोर्ट सोमवार को दी गईं तथा कुछ मंगलवार को सौंपे जाने की उम्मीद है। पुलिस उपायुक्त (बाहरी) समीर शर्मा ने कहा कि सोमवार को मुंडका थाने में केवल एक डीएनए रिपोर्ट प्राप्त हुई।

उन्होंने कहा कि बाकी रिपोर्ट प्राप्त करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। शर्मा ने कहा कि रिपोर्ट लेने के लिए एफएसएल के रोहिणी कार्यालय में एक टीम मौजूद है। एफएसएल अधिकारियों के अनुसार, मंगलवार को चार से पांच रिपोर्ट सौंपी जा सकती हैं।

इससे पहले एफएसएल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था कि प्रयोगशाला को डीएनए टेस्ट के लिए सौ से ज्यादा नमूने प्राप्त किए थे। दिल्ली के मुंडका इलाके में चार मंजिला एक इमारत में आग लग गई थी, जिससे 27 लोगों की मौत हो गई थी।

बता दें कि, संजय गांधी मेमोरियल (एसजीएम) अस्पताल में कुल 27 शवों को संरक्षित किया गया था और पीड़ितों के परिवार के सदस्यों के रक्त के नमूने डीएनए प्रोफाइलिंग और मिलान के लिए एफएसएल भेजे गए थे। पुलिस ने कहा कि 27 में से आठ शव परिवार के सदस्यों को सौंप दिए गए हैं।

उन आठ पीड़ितों में से सात की डीएनए प्रोफाइलिंग उनके परिवार के सदस्यों के साथ की गई है। डीसीपी ने कहा कि चूंकि पीड़िता (रंजू देवी) का डीएनए प्रोफाइल उसके बेटे से मेल नहीं खाता, इसलिए डीएनए मिलान के लिए उसके माता-पिता के रक्त के नमूने लिए जा रहे हैं।

इसके अलावा, एफएसएल अधिकारियों ने मंगलवार शाम को तीन अज्ञात शवों के डीएनए प्रोफाइल पुलिस को सौंपे। पुलिस ने बताया कि डीएनए प्रोफाइल की मदद से पीड़ितों की पहचान मुंडका निवासी मधु देवी, प्रेम नगर निवासी नरेंद्र और किरारी सुलेमान नगर निवासी मुस्कान के रूप में हुई है.

उन्होंने बताया कि उनके परिवार के सदस्यों को पोस्टमॉर्टम के बाद शव लेने के लिए बुधवार को मंगोलपुरी के एसजीएम अस्पताल आने को कहा गया है।

पुलिस ने कहा कि एफएसएल अधिकारियों से आरोपी हरीश गोयल और वरुण गोयल के अपने पिता अमर नाथ गोयल के शरीर के साथ मिलान करने के लिए नए रक्त के नमूने लेने का भी अनुरोध किया गया है।

पीड़िता के पति मनोज कुमार ने कहा कि हमें पता चला कि मंगलवार को आठ और पीड़ितों की पहचान की गई थी, लेकिन हम अभी भी अधिकारियों से सुनवाई की गुहार लगा रहे हैं।