DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  दिल्ली : बेटे की हत्या करने आए बदमाशों ने पिता को गोलियों से भूना

एनसीआरदिल्ली : बेटे की हत्या करने आए बदमाशों ने पिता को गोलियों से भूना

प्रमुख संवाददाता, नई दिल्ली Published By: Shivendra Singh
Thu, 10 Jun 2021 09:25 PM
दिल्ली : बेटे की हत्या करने आए बदमाशों ने पिता को गोलियों से भूना

राजधानी दिल्ली के यमुनापार के न्यू उस्मानपुर इलाके में बेटे की हत्या करने आए बदमाशों ने पिता की गोलियां बरसाकर हत्या कर दी। मरने वाले शख्स की पहचान सतीश कुमार (57) के रूप में हुई है। हालांकि वारदात की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज मामले की जांच आरंभ की तो यह पता चला कि गोली मारने का कारण मारे गए सतीश के बेटे सुनील द्वारा मुख्य आरोपी मोहित ठाकुर के खिलाफ करीब डेढ़ साल पहले छेड़छाड़ का मामला दर्ज करवा जेल भिजवाना था। बहरहाल जांच में जुटी पुलिस ने गुरुवार को मुठभेड़ के बाद मोहित को लोनी से गिरफ्तार किया है।

दरअसल पीछा करने के दौरान आरोपी ने पुलिस टीम पर गोली चला दी। इस पर जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने भी गोली चलाई तो गोली उसकी टांग में लगी। जिससे वह लगने से जख्मी हो गया और पुलिस ने उसे काबू कर नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया है। उधर उसके दो साथी अजय डेढ़ा व चंटू मौका पाकर फरार हो गए। पुलिस ने आरोपी के पास से दो पिस्टल व कुछ कारतूस बरामद किए हैं। लोनी थाने में आरोपियों के खिलाफ हत्या के प्रयास, सरकारी काम में बाधा और ड्यूटी के दौरान हमला करने का मामला दर्ज किया है। पुलिस का दावा किया है कि आरोपी पिछले तीन दिनों से उत्तर-पूर्वी जिले में लगातार गोलियां चला रहे थे। पुलिस उनकी तलाश कर ही रही थी।

जानकारी के मुताबिक वारदात के समय तीन बदमाश सतीश के घर के सामने खड़े होकर उसके बेटे सुनील उर्फ चुन्नू को मारने की बात कर रहे थे। इस दौरान जैसे ही सतीश ने पहली मंजिल की बालकनी से झांका, तभी बदमाशों ने उनको गोली मार दी। हत्या की यह वारदात न्यू उस्मानपुर इलाके में गली नंबर-1 स्थित जगजीवन नगर, कैथवाड़ा में बुधवार रात हुई। यहां सतीश अपने परिवार के साथ रहता था। परिवार में पत्नी संतोष देवी, एक बेटी व दो बेटे दीपक और सुनील उर्फ चुन्नू हैं। सतीश डीटीसी मुख्यालय के कंट्रोल रूम में टेलिफोन ऑपरेटर थे।

बुधवार रात वह खाना खाने के बाद सोने के लिए चले गए थे। वहीं सुनील पार्किंग में सोने की तैयारी कर रहा था। तभी रात करीब पौनपे एक बजे बदमाश काले रंग की बाइक से सुनील के घर के सामने पहुंचे। वहां आते ही आरोपियों ने सुनील के दरवाजे पर लात मारकर उसको बाहर निकलने के लिए कहा। इस दौरान एक ने पिस्टल निकालकर सुनील को जान से मारने की धमकी दी। सुनील ने डर की वजह से दरवाजा नहीं खोला और अंदर से ही आरोपियों का मोबाइल से वीडियो बनाने लगा।

इस बीच सुनील के पिता सतीश ने जैसे ही पहली मंजिल से झांककर नीचे देखा कि बदमाशों ने उनपर गोली चला दी। गोली उनकी कमर और कूल्हे के बीच लगी। वारदात के बाद आरोपी गाली-गलोज करते हुए सुनील को देख लेने की धमकी देकर फरार हो गए। उधर परिजन सतीश को जख्मीहालत में जग प्रवेश चंद अस्पताल ले गए, जहां उनको मृत घोषित कर दिया गया। उधर पुलिस को दिए गए बयान में सतीश के बेटे सुनील ने बताया कि करीब दो साल पहले उसकी न्यू उस्मानपुर की रहने वाली एक युवती से मंगनी हुई थी। उसकी छोटी बहन को आरोपी मोहित परेशान कर रहा था। इसपर उसने उसके खिलाफ छेड़छाड़ की शिकायत करवा दी थी। जिस पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। करीब दो माह जेल में रहने के बाद मोहित बाहर आया था। तभी से वह सुनील को देख लेने की धमकी देता था। 

संबंधित खबरें