ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRदिल्ली में 'कातिल बच्चों' की बढ़ रही तादाद, 19 बड़े शहरों में नंबर एक पर राजधानी; क्या हैं कारण

दिल्ली में 'कातिल बच्चों' की बढ़ रही तादाद, 19 बड़े शहरों में नंबर एक पर राजधानी; क्या हैं कारण

दिल्ली के वेलकम इलाके में एक किशोर ने नाबालिग लड़के की बेरहमी से हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी को अरेस्ट कर लिया है लेकिन दिल्ली में लगातार नाबालिगों का अपराध बढ़ना चिंता का विषय है।

दिल्ली में 'कातिल बच्चों' की बढ़ रही तादाद, 19 बड़े शहरों में नंबर एक पर राजधानी; क्या हैं कारण
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,नई दिल्लीFri, 24 Nov 2023 06:40 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के वेलकम इलाके में मंगलवार रात एक 16 साल के नाबलिग ने 17 वर्षीय किशोर को बेरहमी से चाकू से गोदकर मार डाला। इस घटना का वीडियो गुरुवार को वायरल हो गया। आरोपी ने किशोर को न सिर्फ 50 से ज्यादा बार गोदा, बल्कि लाश के पास खड़े होकर डांस भी किया। वीडियो में दिख रहा है कि जाफराबाद निवासी युसुफ को आरोपी गली में घसीटता हुआ ला रहा है। देखने से लग रहा है कि युसुफ पहले ही मर चुका है, लेकिन नाबालिग आरोपी उसके गले के पास एक के बाद एक वार करता है।

एक माह पहले ही बाल सुधार गृह से आया था 

सूत्रों के अनुसार, आरोपी ने मार्च 2022 में भरत नामक युवक के साथ लूटपाट के दौरान उसकी हत्या कर दी थी। उसके बाद बाल सुधार गृह से वापस आने के बाद दो झपटमारी और एक लूट की। लूटपाट के मामले में आरोपी बाल सुधार गृह भेजा गया था जहां से वह पिछले महीने ही बाहर आया था।

रोजाना आपराधिक वारदातों में पकड़े जा रहे करीब 10 नाबालिग

राजधानी में नाबालिगों का आपराधिक वारदातों को अंजाम देने का सिलसिला तेजी से बढ़ा है। हालत यह है कि हर रोज 10 नाबालिग अपराध में पकड़े जा रहे हैं। वहीं, नाबालिगों द्वारा किए जाने वाले अपराध को लेकर भी औसतन करीब आठ एफआईआर भी दर्ज हो रही हैं।

19 बड़े शहरों में दिल्ली नंबर एक पर

एनसीआरबी के मुताबिक, 19 महानगरीय शहरों में दिल्ली में नाबालिगों द्वारा किए गए अपराधों की संख्या सबसे ज्यादा है। वर्ष-2020 में दिल्ली में 2,455 वारदात नाबालिगों ने की। इसमें करीब नौ फीसदी की बढ़ोतरी हुई। वर्ष-2021 में यह संख्या 2643 तक पहुंच गई, हालांकि महानगरीय स्तर पर एनसीआरबी ने अभी 2022 का आंकड़ा जारी नहीं किया है।

पिछले तीन वर्षों के आंकड़े

2020- 2455
2021- 2643
2022- 2450

कारण

● नाबालिग बच्चों का ऊर्जा स्तर आम लोगों की तुलना में काफी उच्च होता है, सही दिशा न मिलने पर नाबालिग अपराध की दुनिया की ओर चले जाते हैं
● घर में माता-पिता को नौकरी और काम से फुरसत न मिल पाने और परिवार में पर्याप्त बातचीत न हो पाने के चलते बच्चों में खिन्नता की भावना बढ़ने लगती है
● आज के समाज में बनने वाली फिल्मों में जहां हीरो भी विलेन के किरदार निभाने लगे हैं। इसका भी असर है

रोकथाम

● किशोरों को संवेदनशील बनाने के लिए प्रयास करना चाहिए, ताकि वे मानव समेत हर जीव की शारीरिक पीड़ा इत्यादि को समझ सकें
● व्यक्तिगत या पारिवारिक तौर पर बच्चों को समय दें। उन्हें अच्छे और बुरे का फर्क बताएं
● समाज की भी जिम्मेदारी है कि वे किसी भी बच्चे को कुछ गलत करता हुआ देखें तो उसे समझाने की कोशिश करें या मां-बाप को अवगत कराएं

हाल में हुईं बड़ी घटनाएं

09 सितंबर, 2023- संगम विहार इलाके में आठ नाबालिगों ने एक युवक की सरेआम चाकू से गोदकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने मामले में आठों को पकड़ लिया
22 सितंबर, 2022- गोविंदपुरी में बीड़ी नहीं देने से नाराज नाबालिग ने एक युवक पर ताबड़तोड़ चाकू से हमला कर हत्या कर दी
11 अगस्त, 2022- विवेक विहार में प्रेमिका पर टिप्पणी करने पर नाबालिग ने तीन दोस्तों के साथ मिलकर 19 वर्षीय एक युवक को चाकुओं से गोदकर मार डाला
29 मई, 2023- शाहबाद डेरी इलाके में एक युवक ने नाबालिग लड़की की चाकू से गोदने के बाद पत्थर से कुचलकर हत्या कर दी थी। पुलिस ने आरोपी को बुलंदशहर से गिरफ्तार किया था
02 मई, 2023- जहांगीरपुरी में नाबालिगों के एक गिरोह ने एक नाबालिग को चाकुओं से गोदकर मार डाला था