ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदिल्ली-NCR को जाम से मुक्ति दिलाने को NHAI के 7 बड़े फैसले, क्या-क्या होंगे बदलाव

दिल्ली-NCR को जाम से मुक्ति दिलाने को NHAI के 7 बड़े फैसले, क्या-क्या होंगे बदलाव

दिल्ली-एनसीआर में रहने वालों के लिए गुड न्यूज है। एनसीआर को जाम से निजात दिलाने के लिए शुक्रवार को नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) की तरफ से सात अहम फैसले लिए गए है।

दिल्ली-NCR को जाम से मुक्ति दिलाने को NHAI के 7 बड़े फैसले, क्या-क्या होंगे बदलाव
Praveen Sharmaनई दिल्ली। हिन्दुस्तानSat, 28 Oct 2023 10:17 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली-एनसीआर में रहने वालों के लिए गुड न्यूज है। एनसीआर को जाम से निजात दिलाने के लिए शुक्रवार को नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) की तरफ से सात अहम फैसले लिए गए है। इसके तहत दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे (Delhi-Meerut Expressway) को जीटी रोड (GT Road) और ईस्टर्न पेरिफेरल (Eastern Peripheral Expressway) को यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Expressway) से जोड़ा जाएगा। साथ ही लालकुआं के पास अतिरिक्त प्रवेश और निकास मार्ग बनाए जाएंगे।

एनएचएआई चेयरमैन संतोष यादव की अध्यक्षता में मेरठ मंडल के अधिकारियों की बैठक हुई। इस दौरान चेयरमैन ने कहा कि जाम की समस्या को खत्म करने और सीधे कनेक्टिविटी के लिए जिला प्रशासन, निकाय और प्राधिकरण समय से फाइलों पर मंजूरी दें, ताकि तेजी से काम पूरा किया जा सके। चेयरमैन ने बताया कि दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के किनारे एनएच-9 पर जाम रहता है, इसके लिए गाजियाबाद में लालकुआं के पास अतिरिक्त प्रवेश और निकास मार्ग बनाए जाने हैं, जिससे कि दिल्ली से जाने वाले वाहन लालकुआं पर निकल सकें और गाजियाबाद से दिल्ली की तरफ आने वाले वाहन लालकुआं के पास एक्सप्रेसवे की लेन में चढ़ सकें। इनके लिए करीब नौ करोड़ रुपये की लागत से निर्माण किया जाना है, जिसके लिए मंजूरी दे दी गई है। इंटरनल अप्रेजल कमेटी की मंजूरी मिलते ही काम शुरू हो जाएगा। इससे दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे सीधे जीटी रोड (नेशनल हाईवे-91) से जुड़ जाएगा।

तीन महीने में काम शुरू होगा : बैठक में ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे को यमुना एक्सप्रेसवे से जोड़े जाने पर भी चर्चा हुई। इस दौरान कहा गया कि यह काम काफी समय से लंबित है। तत्काल मुआवजा वितरण का काम शुरू होगा। तीन महीने के अंदर किसानों को मुआवजा देकर इंटरचेंज बनाने का काम शुरू कर दिया जाएगा। यमुना औद्योगिक विकास प्राधिकरण के अधिकारियों ने कहा कि एडीएम नोएडा को 64 प्रतिशत पैसा जारी कर दिया है, जो किसानों को मुआवजे के तौर पर बांटा जाएगा। मुआवजा बंटने के साथ ही काम शुरू हो जाएगा। इसमें निर्माण लागत एनएचएआई की तरफ से वहन की जाएगी।

मोहिउद्दीनपुर से खरखौदा को जोड़ने की मांग : मेरठ एक्सप्रेसवे के पांचवें चरण के काम को तत्काल शुरू किए जाने का फैसला लिया गया। एनएचएआई चेयरमैन ने कहा कि जिस हिस्से में कोई समस्या नहीं है, उसमें तत्काल काम शुरू करें। बताया जा रहा है कि डीएम गाजियाबाद और मेरठ ने मोहिउद्दीनपुर से खरखौदा मार्ग को जोड़ने की मांग रखी। उन्होंने कहा कि इसके बनने से आसपास के क्षेत्र में औद्योगिक संभावनाएं बढ़ेंगी। यह मार्ग पर करीब 14 हजार कार व अन्य वाहनों का प्रतिदिन आवागमन है, जिसके बनने से मेरठ के अंदरूनी हिस्से में भी जाम की समस्या खत्म होगा। जिलाधिकारियों की मांग का कमिश्नर मेरठ ने समर्थन किया। इस पर एनएचएआई ने तकनीकी रूप से विचार करने का फैसला लिया है।

सात महत्वपूर्ण फैसले

1. लालकुआं से दादरी के बीच अंडरपास : एनएच-91 पर लालकुआं से दादरी के बीच जाम खत्म करने के लिए अंडरपास और फ्लाईओवर का निर्माण किया जाएगा, जिसका काम एनएचएआई की परियोजना क्रियान्वयन ईकाई (अलीगढ़) को दिया गया है। इसके साथ ही इस हिस्से में काफी जगहों पर जलभराव की समस्या है, इसे लेकर ग्रेटर नोएडा विकास औद्योगिक प्राधिकरण के सीईओ से कहा गया कि वो नालों का निर्माण कराए।

2. म्यूटेशन जल्द पूरा होगा : दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे और ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे की जमीन का म्यूटेशन जल्द से जल्द पूरा कराने पर सहमति बनी है। ग्रेटर नोएडा में सड़क के किनारे जनसुविधा की जमीन को एनओसी जल्द जारी किए जाने का भी प्रस्ताव रखा गया है, जिस पर ग्रेटर नोएडा में करीब 45 फीसदी, गाजियाबाद में 22 फीसदी से अधिक म्युटेशन का काम बचा है। इसे जल्द पूरा करने की बात कही गई है।

3. दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे के पांचवें-चरण के काम को तत्काल शुरू किया जाएगा।

4. ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेसवे को यमुना एक्सप्रेसवे से जोड़े जाने के लिए तत्काल मुआवजा वितरण का काम शुरू होगा।

5. 45 करोड़ रुपये की लागत से गाजियाबाद के विजय नगर में एनएच-9 के किनारे ड्रेनेज बनाने पर सहमति बनी है।

6. मेरठ में हापुड़ रोड पर इंटरचेंज के पास कूड़े के पहाड़ को हटाया जाएगा।

7. इधर दिल्ली में उपराज्यपाल ने सराय काले खां और मयूर विहार के बीच बारापुला एलिवेटेड रोड परियोजना को तेजी से आगे बढ़ाते हुए इसके खंभों के निर्माण के लिए भूमि अधिग्रहण को मंजूरी दे दी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें