ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRएलजी ने केजरीवाल को फिर भेजा पत्र, सिसोदिया और सत्येंद्र जैन का भी जिक्र, इस बार क्या मुद्दा?

एलजी ने केजरीवाल को फिर भेजा पत्र, सिसोदिया और सत्येंद्र जैन का भी जिक्र, इस बार क्या मुद्दा?

दिल्ली के उप राज्यपाल वीके सक्सेना ने एकबार फिर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा है कि राजधानी में आयुष्मान भारत स्वास्थ्य योजना को लागू किया जाए ताकि...

एलजी ने केजरीवाल को फिर भेजा पत्र, सिसोदिया और सत्येंद्र जैन का भी जिक्र, इस बार क्या मुद्दा?
Krishna Singhहिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 25 Feb 2024 08:45 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के उप राज्यपाल वीके सक्सेना ने मुख्यमंत्री से कहा है कि राजधानी में आयुष्मान भारत स्वास्थ्य योजना को लागू किया जाए, ताकि मरीजों को राहत मिल सके। दिल्ली में यह योजना लागू नहीं होने से लाखों प्रवासी इसके लाभ से वंचित हैं। राजनिवास के मुताबिक, उप राज्यपाल ने कहा कि वर्ष 2018 में ऐसा करने पर सहमति व्यक्त करने और अपने बजट 2020 में इसके कार्यान्वयन की घोषणा करने के बावजूद फाइल को मंजूरी देने में देरी की जा रही है। 

जरूरतमंद लोग नहीं उठा पा रहे लाभ
उप राज्यपाल को कई वंचित समूहों की ओर से इस तरह के अनुरोध और अभ्यावेदन दिए गए हैं, जिनमें कहा गया है कि वे भारत सरकार की आयुष्मान भारत स्वास्थ्य योजना का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं, क्योंकि आम आदमी पार्टी द्वारा इसे दिल्ली में लागू नहीं किया जा सका है।

गरीब मरीज स्वास्थ्य लाभ नहीं उठा पा रहे 
राजनिवास के अनुसार, उप राज्यपाल ने इस तथ्य को भी रेखांकित किया है कि योग्य लाभार्थियों को राशन कार्ड जारी करने की सूची में आवेदक वर्ष 2018 से प्रतीक्षा कर रहे हैं, जबकि दस्तावेजों के अभाव में गंभीर बीमारियों से पीड़ित गरीब मरीज अन्य उपलब्ध योजनाओं के तहत भी स्वास्थ्य लाभ नहीं उठा पा रहे हैं।

मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन का भी जिक्र
उप राज्यपाल ने अपने नोट में इस बात पर जोर दिया है कि वर्ष 2018 से लगातार स्वास्थ्य मंत्री रहे आप नेताओं सत्येन्द्र जैन, मनीष सिसोदिया और सौरभ भारद्वाज ने कम से कम छह मौकों पर कमजोर बहाने से फाइल को रोक दिया था, जबकि इस योजना को लेकर सभी तथ्य पहले से ही स्पष्ट कर दिए गए थे। भारत सरकार ने यह भी स्पष्ट किया है कि आयुष्मान भारत को जीएनसीटीडी द्वारा चाहे गए किसी भी नाम के साथ जोड़ा जा सकता है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें