ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRअरविंद केजरीवाल के खिलाफ LG ने की NIA जांच की सिफारिश, खालिस्तानी संगठन से पैसा लेने का आरोप

अरविंद केजरीवाल के खिलाफ LG ने की NIA जांच की सिफारिश, खालिस्तानी संगठन से पैसा लेने का आरोप

दिल्ली के उपराज्यपाल ने प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन 'सिख फॉर जस्टिस' से कथित तौर पर राजनीतिक फंडिंग प्राप्त करने के लिए अरविंद केजरीवाल के खिलाफ एनआईए जांच की सिफारिश की है।

अरविंद केजरीवाल के खिलाफ LG ने की NIA जांच की सिफारिश, खालिस्तानी संगठन से पैसा लेने का आरोप
Krishna Singhलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 06 May 2024 06:53 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के उपराज्यपाल वीके सक्सेना (Delhi LG VK Saxena) ने प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन 'सिख फॉर जस्टिस' (Sikhs for Justice) से कथित तौर पर पोलिटिकल फंडिंग प्राप्त करने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) के खिलाफ एनआईए जांच की सिफारिश की है। समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, उपराज्यपाल को शिकायत मिली थी कि अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी को देवेंद्र पाल भुल्लर की रिहाई में मदद करने और खालिस्तानी समर्थक भावनाओं को बढ़ावा देने के लिए चरमपंथी खालिस्तानी समूहों से भारी मात्रा में रकम मिली। 

आरोप हैं कि आम आदमी पार्टी को चरमपंथी खालिस्तानी समूहों से 16 मिलियन अमेरिकी डॉलर मिले थे। एलजी वीके सक्सेना ने यह कार्रवाई एक शिकायत के आधार पर की है। इसमें कहा गया है कि अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी ने देवेंद्र पाल भुल्लर की रिहाई और खालिस्तानी भावनाओं को बढ़ावा देने के लिए खालिस्तान समर्थक समूह से कथित तौर पर 16 मिलियन डॉलर की रकम प्राप्त की थी। 

उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने केंद्रीय गृह मंत्रालय को लिखे पत्र में कहा है कि चूंकि आरोप सीधे मुख्यमंत्री के खिलाफ हैं। ये आरोप भारत में प्रतिबंधित आतंकवादी संगठन से किसी राजनीतिक दल को लाखों डॉलर की कथित फंडिंग से संबंधित हैं। ऐसे में शिकायतकर्ता की ओर से प्रस्तुत इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की फोरेंसिक जांच कराए जाने की जरूरत है। 

उपराज्यपाल वीके सक्सेना के आदेश के अनुसार, यह शिकायत विश्व हिंदू महासंघ के राष्ट्रीय महासचिव आशु मोंगिया की ओर से मिली थी। अपनी शिकायत में शिकायतकर्ता ने एक वीडियो की सामग्री का हवाला दिया है। वीडियो सबूत के तौर पर संलग्न पेन ड्राइव में है। इसमें कथित तौर पर खालिस्तानी आतंकी गुरपतवंत सिंह पन्नू को दिखाया गया है। इस वीडियो में पन्नू ने आरोप लगाया है कि केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी को साल 2014 से 2022 के दौरान खालिस्तानी समूहों से 16 मिलियन अमेरिकी डॉलर की फंडिंग मिली।

एलजी की ओर से लिखे गए पत्र में 2014 में अरविंद केजरीवाल और खालिस्तानी समर्थक सिखों के बीच हुई एक गुप्त बैठक का भी उल्लेख है। यह बैठक न्यूयॉर्क के गुरुद्वारा रिचमंड हिल्स में हुई बताई जाती है। शिकायत में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाया गया है कि उन्होंने खालिस्तानी संगठनों से आम आदमी पार्टी को फंडिंग के बदले में देवेंद्र पाल भुल्लर की रिहाई का वादा किया था। देवेंद्र पाल भुल्लर 1993 के दिल्ली बम विस्फोट मामले में दोषी है।

उपराज्यपाल के इस फैसले पर सियासत गरमा गई है। आम आदमी पार्टी ने उपराज्यपाल पर हमला बोलते हुए कहा है कि यह केजरीवाल के खिलाफ एक बड़ी साजिश है। आम आदमी पार्टी के नेता सौरभ भारद्वाज ने कहा कि यह मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ एक और बड़ी साजिश है। LG साहब भाजपा के एजेंट की तरह काम कर रहे हैं। भाजपा दिल्ली की सभी सीटें हार रही है, इसलिए बौखलाहट में यह कदम उठाया गया है।