DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › कोरोना की दवाएं ब्लैक करने वालों की अब खैर नहीं, एलजी अनिल बैजल ने दिल्ली सरकार को दिए ये आदेश
एनसीआर

कोरोना की दवाएं ब्लैक करने वालों की अब खैर नहीं, एलजी अनिल बैजल ने दिल्ली सरकार को दिए ये आदेश

नई दिल्ली। एएनआईPublished By: Praveen Sharma
Sat, 22 May 2021 04:24 PM
कोरोना की दवाएं ब्लैक करने वालों की अब खैर नहीं, एलजी अनिल बैजल ने दिल्ली सरकार को दिए ये आदेश

कोरोना के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवाओं और जरूरी उपकरणों की जमाखोरी और कालाबाजारी करना अब आसान नहीं होगा। ऐसे लोगों पर लगाम लगाने के लिए दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने कई अहम फैसले लिए हैं।

दिल्ली के उपराज्यपाल और डीडीएमए के अध्यक्ष अनिल बैजल ने शनिवार को दिल्ली सरकार को निर्देश दिया है कि लोगों को कोरोना संक्रमण (COVID-19) के इलाज से संबंधित आवश्यक दवाएं उपलब्ध कराई जाएं और यह भी सुनिश्चित किया जाए कि डीलरों या विक्रेताओं द्वारा ऐसी दवाइयों पर ज्यादा दाम नहीं लिए जाएं तथा इनकी कालाबाजारी न हो सके।

दिल्ली में आज से युवाओं का वैक्सीनेशन रुका, कल से सभी सेंटर होंगे बंद

उपराज्यपाल ने यह भी निर्देश दिया है कि कोविड-19 से संबंधित उपकरणों और मशीनों जैसे पल्स ऑक्सीमीटर, ऑक्सीजन सिलेंडर और ऑक्सीजन कंसेंट्रेटर आदि के संबंध में एक समान आदेश जल्द से जल्द जारी किया जाए।

इसके साथ ही डीडीएमए की ओर से जारी आदेश के अनुसार, दिल्ली में कोरोना के इलाज से संबंधित आवश्यक दवाएं उपलब्ध कराने वाले सभी अधिकृत डीलर, खुदरा विक्रेता और विक्रेता आम जनता के लिए अपने व्यावसायिक परिसरों में विशिष्ट स्थानों पर दवाओं के स्टॉक और उनके दाम की जानकारी प्रदर्शित करेंगे। स्टॉक की स्थिति दिन में चार बार सुबह 10 बजे, दोपहर 2 बजे, शाम 6 बजे और रात 9 बजे अपडेट करनी होगी।

गौरतलब है कि कोरोना महामारी के इस दौर में बीते दिनों लोगों को दवाओं से लेकर ऑक्सीजन तक के लिए जद्दोजहद करनी पड़ी थी। इस आपदा को अवसर में बदलने में लगे कुछ शातिर लोग ऐसे वक्त में भी जमाखोरी और कालाबाजारी की अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे। अब भी मरीजों से दवा से लेकर उपकरणों तक के मनमाने दाम वसूले जा रहे हैं। इसे देखते हुए उपराज्यपाल ने आज यह आदेश दिया है। हालांकि, दिल्ली पुलिस ने पहले ही ऐसे लोगों की धरपकड़ तेज कर दी है।

दिल्ली में कोरोना के 2260 नए मामले, 182 लोगों की मौत

दिल्ली में शनिवार को कोरोना के 2260 नए मामले सामने आए तथा 182 लोगों की मौत हो गई। वहीं, अब संक्रमण दर 3.58 प्रतिशत पर आ गई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा साझा किए गए आंकड़ों के मुताबिक, 31 मार्च के बाद से सबसे कम मामले आए हैं और एक अप्रैल के बाद से संक्रमितों की संख्या 3000 के नीचे रही। दिल्ली में 31 मार्च को 1819 और एक अप्रैल को 2790 मामले आए थे।

हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक, दिल्ली में मृतकों की संख्या 23,013 हो गई है। संक्रमण दर गुरुवार को 5.5 प्रतिशत थी और शुक्रवार को 4.76 प्रतिशत हो गई। एक्टिव मामलों की संख्या 31,308 है।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने ट्वीट कर कहा कि संक्रमण के 2260 नए मामले आए हैं। उन्होंने कहा, ''31 मार्च के बाद से ये सबसे कम संख्या है। अब भी तमाम सावधानी और कोविड के संबंध में उचित व्यवहार अपनाने की जरूरत है।  

संबंधित खबरें