ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRठंड की मार, जहरीली बयार; दिल्ली में और 6 दिन प्रदूषण से राहत के आसार नहीं; पारा गिरने से बढ़ी ठिठुरन

ठंड की मार, जहरीली बयार; दिल्ली में और 6 दिन प्रदूषण से राहत के आसार नहीं; पारा गिरने से बढ़ी ठिठुरन

राजधानी दिल्ली को जहरीले प्रदूषण से अगले छह दिन के बीच राहत मिलती नहीं दिख रही है। वहीं, उच्च हिमालयी क्षेत्रों में हुए हिमपात का असर अब दिल्ली के मौसम पर भी दिखने लगा है।

ठंड की मार, जहरीली बयार; दिल्ली में और 6 दिन प्रदूषण से राहत के आसार नहीं; पारा गिरने से बढ़ी ठिठुरन
Praveen Sharmaनई दिल्ली। हिन्दुस्तानSun, 10 Dec 2023 05:54 AM
ऐप पर पढ़ें

राजधानी दिल्ली को जहरीले प्रदूषण से अगले छह दिन के बीच राहत मिलती नहीं दिख रही है। हवा की रफ्तार बढ़ने से शनिवार को प्रदूषण के स्तर में मामूली सुधार हुआ है। दिल्ली की हवा बेहद खराब श्रेणी में बनी हुई है। वहीं, उच्च हिमालयी क्षेत्रों में हुए हिमपात का असर अब दिल्ली के मौसम पर भी दिखने लगा है। राजधानी में शनिवार की सुबह इस सीजन में सबसे ठंडी रही। सीजन में पहली बार न्यूनतम पारा नौ डिग्री से नीचे दर्ज किया गया। दिल्ली में खासतौर पर सुबह के समय ठिठुरन बढ़ने लगी है। मानक वेधशाला सफदरजंग में न्यूनतम तापमान 8.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से एक डिग्री कम है। यह इस सीजन का सबसे कम न्यूनतम तापमान है। इससे पहले छह और सात दिसंबर को न्यूनतम तापमान 9.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, जो कि सबसे कम रहा था।

दिल्ली के लोग लगातार प्रदूषित हवा में सांस ले रहे हैं। डेढ़ महीने से ज्यादा का वक्त हो गया है, लेकिन एक दिन भी हवा साफ-सुथरी नहीं रही है। अंदाजा लगाया जा रहा है था कि शनिवार को हवा की रफ्तार इजाफा होने से प्रदूषण के स्तर में कुछ सुधार होगा, लेकिन इसका मामूली असर पड़ा है।

केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के मुताबिक, शनिवार को दिल्ली का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 320 के अंक पर रहा। एक दिन पहले शुक्रवार को यह सूचकांक 324 के अंक पर रहा था। यानी चौबीस घंटे में इसमें सिर्फ चार अंकों का सुधार हुआ है। दिल्ली के ज्यादातर इलाकों की हवा बेहद खराब श्रेणी में बनी हुई है। दिल्ली में प्रदूषण की जो स्थिति बनी हुई है उससे सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ और उसके चलते होने वाली बारिश ही राहत दिला सकती है, लेकिन अगले सप्ताहभर इस तरह का कोई भी मौसमी सिस्टम आने की संभावना कम है।

मानकों से ढाई गुना ज्यादा प्रदूषण

मानकों के मुताबिक, हवा में प्रदूषक कण पीएम 10 का स्तर 100 से और पीएम 2.5 का स्तर 60 से कम होने पर ही उसे स्वास्थ्यकारी माना जाता है। दिल्ली-एनसीआर की हवा में शनिवार की शाम चार बजे पीएम 10 का औसत स्तर 244 और पीएम 2.5 का स्तर 135 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर पर रहा।

पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी का दिल्ली में दिखा असर

मौसम विभाग के मुताबिक, शनिवार को दिल्ली में हवा की दिशा आमतौर पर उत्तरी पश्चिमी रही। यह हवा अपने साथ उच्च हिमालयी क्षेत्रों की ठंडक भी ला रही है। इसी के चलते तापमान में गिरावट हुई है। मौसम विभाग का अनुमान है कि रविवार को अधिकतम तापमान 24 और न्यूनतम तापमान नौ डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। हवा की गति आठ से 16 डिग्री सेल्सियस तक रहने का अनुमान है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें