ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRबारिश ने प्रदूषण वाली आफत से दिल्ली को दिलाई राहत, 290 रहा AQI; आज से फिर जहरीली होगी हवा?

बारिश ने प्रदूषण वाली आफत से दिल्ली को दिलाई राहत, 290 रहा AQI; आज से फिर जहरीली होगी हवा?

दिल्ली-एनसीआर में हुई हल्की बारिश ने प्रदूषण से बड़ी राहत दिलाई। बुधवार को दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक 290 रहा, जो खराब श्रेणी में आता है। मगर यह राहत ज्यादा दिन नहीं रहेगी।

बारिश ने प्रदूषण वाली आफत से दिल्ली को दिलाई राहत, 290 रहा AQI; आज से फिर जहरीली होगी हवा?
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 30 Nov 2023 05:45 AM
ऐप पर पढ़ें

राजधानी में दो दिन हुई बारिश के चलते बुधवार को प्रदूषण से बड़ी राहत मिली। बुधवार को दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक 290 रहा, जो खराब श्रेणी में आता है। दिल्ली में 17 दिनों के बाद हवा बेहद खराब श्रेणी से खराब श्रेणी में लौटी है। बीती 12 नवंबर को दिवाली के दिन वायु गुणवत्ता सूचकांक 212 रहा था। इसके बाद से प्रदूषण लगातार बेहद खराब और गंभीर श्रेणी में रहा है। विशेषज्ञों का मानना है कि गुरुवार को एक बार फिर प्रदूषण स्तर बेहद खराब श्रेणी में चला जाएगा। मंगलवार को वायु गुणवत्ता में सुधार के चलते ग्रैप का तीसरा चरण हटा लिया गया था।

आज से फिर जहरीली होगी हवा 

नवंबर माह में अधिकांश दिन प्रदूषण बेहद खराब या गंभीर श्रेणी में रहा है। दिल्ली में इस दौरान केवल दो बार बारिश के चलते वायु गुणवत्ता सूचकांक खराब श्रेणी में लौटा है। बीते सोमवार एवं मंगलवार को हुई बारिश के चलते प्रदूषण में काफी कमी देखने को मिली। सोमवार को जहां वायु गुणवत्ता सूचकांक 395 था तो वहीं मंगलवार को यह 312 रहा। बुधवार सुबह इसमें काफी कमी देखने को मिली और यह 258 रहा, लेकिन शाम तक इसमें फिर बढ़ोतरी देखने को मिली।

राजधानी में प्रदूषण स्तर और बढ़ने के संकेत 

बताया गया कि बुधवार शाम दिल्ली का औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 290 रहा। दिल्ली में प्रदूषण बढ़ने के संकेत मिल रहे हैं। यह माना जा रहा है कि गुरुवार को एक बार फिर प्रदूषण बेहद खराब श्रेणी में चला जाएगा।

बारिश का असर ज्यादा दिन तक नहीं दिखेगा 

मौसम विशेषज्ञों के अनुसार, राजधानी दिल्ली में बारिश के चलते प्रदूषण में जो कमी आई थी, उसका असर ज्यादा दिनों तक नहीं बना रहेगा। अगले छह दिनों तक प्रदूषण बेहद खराब श्रेणी में ही रहने की उम्मीद है। मौसम विभाग ने गुरुवार को भी राजधानी दिल्ली में बूंदाबांदी की संभावना जताई है, लेकिन इसका प्रदूषण पर कोई बड़ा असर देखने को नहीं मिलेगा। बुधवार को विवेक विहार दिल्ली का सबसे अधिक प्रदूषित क्षेत्र रहा, जहां वायु गुणवत्ता सूचकांक 391 दर्ज किया गया। वहीं, सबसे कम प्रदूषित स्थान जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम रहा, जहां वायु गुणवत्ता सूचकांक 159 दर्ज किया गया।

नवंबर महीने में हालात सबसे ज्यादा खराब

राजधानी दिल्ली के लिए इस साल नवंबर का महीना प्रदूषण के मामले में सबसे ज्यादा खराब रहा। अभी तक नवंबर के 29 दिनों में से 17 में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 400 के आसपास रहा। दरअसल, 10 नवंबर और 27 नवंबर को हुई बारिश को छोड़कर राजधानी दिल्ली की हवा खराब और बेहद खराब श्रेणी में ही रही। ऐसी जहरीली हवा में सांस लेना दिल्ली के लोगों के लिए दूभर हो गया है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें