ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRमॉनसून के लिए दिल्ली तैयार, MCD ने जलभराव से निपटने का बनाया एक्शन प्लान; क्या-क्या तैयारियां

मॉनसून के लिए दिल्ली तैयार, MCD ने जलभराव से निपटने का बनाया एक्शन प्लान; क्या-क्या तैयारियां

दिल्ली में मॉनसून के दस्तक देने से पहले दिल्ली नगर निगम ने जलभराव रोकने के लिए कार्य योजना तैयार की है। इसके तहत नालों और नालियों की सफाई की जा रही है। महापौर ने प्रशासन की तैयारियों पर चर्चा की।

मॉनसून के लिए दिल्ली तैयार, MCD ने जलभराव से निपटने का बनाया एक्शन प्लान; क्या-क्या तैयारियां
delhi mcd action plan for waterlogging
Sneha Baluniहिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 19 Jun 2024 08:01 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली नगर निगम ने मानसून के दौरान जलभराव रोकने के लिए कार्य योजना तैयार की है। इसके तहत नालों और नालियों की सफाई की जा रही है। महापौर डॉ. शैली ओबरॉय ने मंगलवार को निगम मुख्यालय में प्रेसवार्ता के दौरान निगम प्रशासन की तैयारियों पर चर्चा की। इस दौरान उनके साथ नेता सदन मुकेश गोयल भी उपस्थित रहे। महापौर ने बताया कि निगम के अधीन चार फीट से ऊपर के 713 नाले हैं, जिनकी लंबाई लगभग 460 किलोमीटर है। 

चार फीट से नीचे के लगभग 21 हजार नाले हैं। जिनकी लंबाई लगभग 6600 किलोमीटर है। इन नालों की सफाई का काम दो चरणों में करते हैं। पहले चरण में मानसून से पहले नालों की सफाई होती है और दूसरे चरण में मानसून के खत्म होने के बाद सफाई होती है। पहले चरण में चार फीट से ऊपर के नालों की सफाई का काम 92 से 93 फीसदी तक हो चुका है। चार फीट से नीचे के नालों की सफाई काम काम 85 फीसदी तक पूरा हो चुका है। 

महापौर ने कहा कि पिछले वर्ष जिन स्थानों पर जलभराव हुआ था। वहां पर विशेष ध्यान देंगे। मानसून के दौरान सभी स्थायी पंपिंग स्टेशनों पर 24 घंटे और सातों दिन स्टाफ उपलब्ध रहेगा। निगम के अधीन कुल 70 से 80 पंप हैं। अस्थाई पंप की संख्या 450 से 500 है। वार्ड स्तर पर जोनल टीम बनाई गई हैं, जिसमें जूनियर इंजीनियर, सफाई कर्मचारी, नाला बेलदार और रखरखाव और डेम्स विभाग के कर्मचारी शामिल किए हैं।

क्यूआरटी का गठन किया

महापौर ने बताया कि जलभराव की समस्या से निपटने के लिए त्वरित प्रतिक्रिया टीम (क्यूआरटी) का गठन किया है। हर जोन में एक नोडल अधिकारी भी नियुक्त किया है। अधिकारी की जिम्मेदारी जोन में जलभराव वाले स्थानों को चिह्नित कर निगरानी करनी होगी। साथ ही, जलभराव की स्थिति से बचाव के लिए अतिरिक्त इंतजाम भी करना होगा।

नेता विपक्ष ने निशाना साधा

दिल्ली नगर निगम में नेता विपक्ष राजा इकबाल सिंह ने मंगलवार को निगम की मानसून की तैयारियों पर निशाना साधा। उन्होंने आरोप लगाया कि नालों की सफाई के लिए दो समय सीमा खत्म हो चुकी है, लेकिन अभी तक नालों की सफाई नहीं हुई है। 713 में से सिर्फ 259 नालों की सफाई कागजों में हुई है। दिल्ली में विभिन्न जगहों पर नालों में गंदगी फैली हुई है। उन्होंने कहा कि नालों की सफाई न होने से लोगों को जलभराव की समस्या से जूझना पड़ेगा।

दिल्ली नगर निगम इन कदमों को उठाएगा

1. जलभराव की स्थिति से निपटने के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया जाएगा
2. 24 घंटे में सभी तरह की शिकायतों का समाधान निकाला जाएगा
3. जलभराव वाले स्थानों पर तीन से चार घंटे में पानी की निकासी होगी
4. निगम ऐप 311 पर भी लोग जलभराव से जुड़ी शिकायतें दर्ज करा सकते हैं
5. निगम मुख्यालय में कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है
6. सभी जोन कार्यालयों में कंट्रोल रूम बनाकर नजर रखी जाएगी