ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRऐसी गर्मी पड़ी नहीं कभी! दिल्ली में पारा 52 के पार, पूरे देश का टूटा रिकॉर्ड

ऐसी गर्मी पड़ी नहीं कभी! दिल्ली में पारा 52 के पार, पूरे देश का टूटा रिकॉर्ड

दिल्ली में गर्मी ने नया रिकॉर्ड बना दिया है। पहली बार राजधानी में पारा 52 डिग्री पार चला गया है। दिल्ली के मुंगेशपुर में बुधवार को अधिकतम तापमान 52.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

ऐसी गर्मी पड़ी नहीं कभी! दिल्ली में पारा 52 के पार, पूरे देश का टूटा रिकॉर्ड
delhi temprature 52 3
Sudhir Jhaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 29 May 2024 05:17 PM
ऐप पर पढ़ें

भीषण गर्मी और हीटवेव का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। दिल्ली में बुधवार को ऐसी गर्मी पड़ी कि पूरे देश का रिकॉर्ड टूट गया। इतिहास में पहली बार पारा 52 के पार चला गया। दिल्ली के मुंगेशपुर में अधिकतम तापमान 52.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इसके अलावा कई अन्य इलाकों में तापमान 50 डिग्री के आसपास दर्ज किया गया है। हालांकि, कुछ देर बाद ही मौसम ने करवट ली और आसमान में बादल छा गए, जिससे दिल्ली-एनसीआर के लोगों के राहत की सांस ली।

मुंगेशपुर उत्तरी पूर्वी दिल्ली इलाके में है, जहां अब तक की सबसे भीषण गर्मी पड़ी। यह दिल्ली के बाहरी इलाके में स्थित गांव है जो दिल्ली के केंद्र कनॉट प्लेस से करीब 50 किलोमीटर दूर है। यहां जवाहर नवोदय विद्यालय में स्थित मौसम केंद्र में यह तापमान रिकॉर्ड किया गया। दोपहर 2:30 मिनट पर यह तापमान दर्ज किया गया। न्यूज एजेंसी एएफपी के मुताबिक, यह ना सिर्फ दिल्ली बल्कि पूरे देश में अब तक रिकॉर्ड किया गया सर्वाधिक तापमान है।

अब तक राजस्थान के नाम था रिकॉर्ड
सबसे अधिक तापमान का रिकॉर्ड अब तक राजस्थान के नाम था। राजस्थान के फलौदी में 2016 में 51 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था, जोकि देश का अब तक का सबसे ऊंचा तापमान था। इससे पहले राजस्थान के अलवर में 1956 में 50.6 तक पारा पहुंचा था।

दिल्ली के इन इलाकों में सबसे ज्यादा गर्मी
वैसे तो दिल्ली-एनसीआर समेत पूरे उत्तर भारत में लोगों को प्रचंड गर्मी का सामना करना पड़ रहा है। लेकिन दिल्ली के मुंगेशपुर, नजफगढ़, नरेला, जाफरपुर, पूसा, आयानगर जैसे इलाकों में स्थिति बेहद गंभीर है। मंगलवार को भी इन इलाकों में तापमान 50 के बेहद करीब था। गर्मी इतनी अधिक है कि लोगों को स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।