ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRदिल्ली हाईकोर्ट ने MCD को फिर लगाई फटकार, कहा- कुछ कर नहीं रहे उल्टे आरोप लगा रहे

दिल्ली हाईकोर्ट ने MCD को फिर लगाई फटकार, कहा- कुछ कर नहीं रहे उल्टे आरोप लगा रहे

दिल्ली हाईकोर्ट ने सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी के भीष्म पितामह मार्ग पर सीसीटीवी कैमरे न लगाए जाने पर एमसीडी को फटकार लगाई। साथ ही अदालत ने एमसीडी को अपना घर व्यवस्थित करने को कहा था...

दिल्ली हाईकोर्ट ने MCD को फिर लगाई फटकार, कहा- कुछ कर नहीं रहे उल्टे आरोप लगा रहे
Krishna Singhपीटीआई,नई दिल्लीMon, 13 May 2024 11:29 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली हाईकोर्ट ने राष्ट्रीय राजधानी के भीष्म पितामह मार्ग पर CCTV कैमरे नहीं लगाए जाने को लेकर सोमवार को नगर निगम को फटकार लगाई है। हाईकोर्ट ने सिविक एजेंसी से अपना काम दुरुस्त करने को कहा है। दिल्ली हाईकोर्ट ने कहा कि दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) अपना घर ठीक करने के लिए कुछ नहीं कर रहा है उलटा पूरी दुनिया पर असहयोग का आरोप लगा रहा है। 

कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश मनमोहन और न्यायमूर्ति मनमीत पीएस अरोड़ा की पीठ ने कहा- क्या उस सड़क पर सीसीटीवी कैमरे हैं? आपने कैमरे क्यों नहीं लगाए? आपको सड़कों पर कचरा फेंकने के लिए चालान जारी करना चाहिए। आप अपने घर को व्यवस्थित करने के लिए कुछ नहीं कर रहे हैं। ऐसे में आम लोगे आप को किस तरह सहयोग करेंगे? आप पूरी दुनिया को दोष दे रहे हैं लेकिन अपना घर व्यवस्थित नहीं कर रहे हैं।

दिल्ली हाईकोर्ट की यह टिप्पणी एमसीडी व दिल्ली पुलिस को एक महीने से अधिक समय से लंबित याचिका पर चार सप्ताह के भीतर निर्णय लेने के निर्देश देते हुए आई। इस मामले में दायर याचिका मुख्य सड़कों पर आवारा जानवरों के खुले घूमने, कूड़े के निपटान, अवैध पार्किंग के कारण भारी जाम, गैरकानूनी लोडिंग व अनलोडिंग के संबंध में दाखिल की गई है। 

याचिकाकर्ता की ओर से पैरवी कर रहे वकील जय अनंत देहाद्राई ने कहा कि कचरा सड़क पर स्थित बीएसईएस के विद्युत ट्रांसफार्मरों और उसके आसपास फेंका जा रहा है। इससे आग लगने का खतरा हो सकता है क्योंकि क्षेत्र में लकड़ी, हार्डवेयर और बिजली की कई दुकानें हैं।

इस पर हाईकोर्ट ने एमसीडी एवं पुलिस से एक महीने पहले जवाब मांगा था, लेकिन इन महकमों की तरफ से कोई पहल नहीं की गई। इस पर हाईकोर्ट ने नाराजगी जाहिर की है। उच्च न्यायालय ने एमसीडी व पुलिस से पूछा था कि कोटला मुबारक पुर व डिफेंस कॉलोनी (जिसे भीष्म पितामह मार्ग के नाम से भी जाना जाता है) सड़क पर सीसीटीवी कैमरे हैं। यदि नहीं हैं तो यहां कैमरे क्यों नहीं लगाए गए।