ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRपीएम मोदी की उम्मीदवारी खारिज कराने पहुंचे शख्स को कोर्ट से झटका, HC ने साजिश के आरोपों को नकारा

पीएम मोदी की उम्मीदवारी खारिज कराने पहुंचे शख्स को कोर्ट से झटका, HC ने साजिश के आरोपों को नकारा

दिल्ली हाई कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वाराणसी से चुनाव लड़ने से अयोग्य ठहराने की मांग करने वाली याचिका खारिज कर दी। कोर्ट ने याचिकाकर्ता की आलोचना भी की। कोर्ट ने इसे दुर्भावनापूर्ण बताया।

पीएम मोदी की उम्मीदवारी खारिज कराने पहुंचे शख्स को कोर्ट से झटका, HC ने साजिश के आरोपों को नकारा
Subodh Mishraलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 30 May 2024 02:20 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली हाई कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को वाराणसी निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ने से अयोग्य ठहराने की मांग वाली याचिका खारिज कर दी। न्यायमूर्ति सचिन दत्ता की अध्यक्षता वाली पीठ ने बुधवार को याचिका को दुर्भावनापूर्ण करार देते हुए इसे खारिज कर दिया। 


पायलट कैप्टन दीपक कुमार ने पीएम मोदी के खिलाफ एक याचिका दायर की थी, जिसमें उन्होंने आरोप लगाया था कि प्रधानमंत्री ने झूठी शपथ ली है कि वह भारत के संविधान के प्रति सच्ची आस्था और निष्ठा रखेंगे। कुमार की याचिका में कहा गया है कि 2024 के आम चुनावों के लिए वाराणसी निर्वाचन क्षेत्र के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने रिटर्निंग ऑफिसर के समक्ष भारत के संविधान के प्रति सच्ची आस्था और निष्ठा रखने का झूठा प्रतिवेदन प्रस्तुत किया था।

इसके अलावा याचिकाकर्ता ने दावा किया कि पीएम मोदी आतंकवादी कृत्य में शामिल थे और उनके खिलाफ साजिश रच रहे थे। कुमार ने कहा कि मोदी ने उनके विमान को दुर्घटनाग्रस्त करवाकर उन्हें मारने की कोशिश की। याचिका में कहा गया है कि मोदी और उनके सहयोगियों पर आपराधिक साजिश की जांच करने का आरोप है। मोदी ने आठ जुलाई 2018 की उड़ान एआई 459 की दुर्घटना की योजना बनाकर राष्ट्रीय सुरक्षा को अस्थिर करने का प्रयास किया था।

सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि याचिकाकर्ता ने प्रधानमंत्री के खिलाफ लापरवाह और निराधार आरोप लगाए हैं। कोर्ट ने आगे कहा कि याचिकाकर्ता का उद्देश्य बिना किसी आधार के निंदनीय आरोप लगाना था। लाइव लॉ की रिपोर्ट के अनुसार, अदालत ने कहा कि याचिका दुर्भावनापूर्ण और अप्रत्यक्ष उद्देश्यों से प्रेरित थी।

याचिका में पीएम मोदी के अलावा केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया की भी उम्मीदवारी रद्द करने की भी मांग की गई है। कुमार ने अपनी याचिका में कहा कि नरेंद्र मोदी, अमित शाह,  ज्योतिरादित्य सिंधिया और उनके सहयोगी एक आपराधिक तत्व हैं जो भारतीय समाज के लिए घातक हो सकते हैं।