DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   NCR  ›  कोरोना मरीजों के लिए दिल्ली के निजी अस्पतालों के ICU में अब 25 फीसदी बेड ही होंगे रिजर्व

एनसीआरकोरोना मरीजों के लिए दिल्ली के निजी अस्पतालों के ICU में अब 25 फीसदी बेड ही होंगे रिजर्व

नई दिल्ली। प्रमुख संवाददाताPublished By: Praveen Sharma
Tue, 19 Jan 2021 04:56 PM
कोरोना मरीजों के लिए दिल्ली के निजी अस्पतालों के ICU में अब 25 फीसदी बेड ही होंगे रिजर्व

दिल्ली सरकार ने मंगलवार को दिल्ली हाईकोर्ट को बताया कि राजधानी के 33 निजी अस्पतालों में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के लिए आईसीयू में अब सिर्फ 25 फीसदी ही बेड आरक्षित होंगे। इससे पहले कोरोना मरीजों के लिए निजी अस्पतालों के आईसीयू में 40 फीसदी बेड आरक्षित थे।

जस्टिस नवीन चावला के समक्ष दिल्ली सरकार ने यह जानकारी दी है। इसके बाद कोर्ट ने मामले की सुनवाई 2 फरवरी तक के लिए स्थगित कर दी। इससे पहले सरकार द्वारा निजी अस्पतालों के 80 फीसदी आईसीयू बेड आरक्षित करने के निर्णय को चुनौती देने वाले संगठन ने अपने सदस्य अस्पतालों से निर्देश लेने और पक्ष रखने के लिए वक्त देने की मांग की।

सरकार ने 12 सितंबर को आदेश जारी कर 33 निजी अस्पतालों में आईसीयू के 80 फीसदी बेड कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित कर दिया। बाद में सरकार ने संक्रमित मरीजों की संख्या में कमी को देखते हुए आरक्षित बेड की संख्या 80 फीसदी से घटाकर 60 फीसदी कर दिया था। सरकार ने 8 जनवरी को हाईकोर्ट को बताया था कि इन अस्पतालों के आईसीयू बेड में से 40 फीसदी या जितने मरीज भर्ती हैं, उसके दोगुना आईसीयू बेड आरक्षित रखा जाएगा।

दिल्ली हाईकोर्ट ने 11 जनवरी को सरकार को 18 जनवरी तक कोरोना संक्रमण दर में कमी देखते हुए अपने निर्णय की समीक्षा करने का निर्देश दिया था। इसके बाद सरकार ने बैठक में स्थिति की समीक्षा करने के बाद अब सिर्फ निजी अस्पतालों के 25 फीसदी आईसीयू बेड कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित रखने का फैसला किया था।

संबंधित खबरें