Thursday, January 27, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRओमिक्रॉन के खतरे से अलर्ट मोड में आई दिल्ली सरकार, CM केजरीवाल ने बताई कितनी है तैयारी

ओमिक्रॉन के खतरे से अलर्ट मोड में आई दिल्ली सरकार, CM केजरीवाल ने बताई कितनी है तैयारी

नई दिल्ली। एजेंसियां Praveen Sharma
Tue, 30 Nov 2021 04:51 PM
ओमिक्रॉन के खतरे से अलर्ट मोड में आई दिल्ली सरकार, CM केजरीवाल ने बताई कितनी है तैयारी

इस खबर को सुनें

दक्षिण अफ्रीका में कोरोना वायरस के नए ओमिक्रॉन वैरिएंट (Omicron Covid Variant) B.1.1.1.529 का पता चलने और इसे लेकर दुनिया भर में पैदा हुई आशंकाओं ने भारत में भी चिंताएं बढ़ा दी है। इस बीच, ओमिक्रॉन वैरिएंट के संभावित खतरे से निपटने के लिए दिल्ली सरकार ने भी अपनी तैयारियां तेज कर दी हैं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि ओमिक्रॉन वैरिएंट के खतरे को देखते हुए मैंने आज अधिकारियों के साथ बैठक कर तैयारियों का जायजा लिया है। हमें उम्मीद है कि ओमिक्रॉन भारत नहीं आएगा, लेकिन हमें जिम्मेदार सरकारों के रूप में तैयार रहने की जरूरत है, जहां तक ​​बेड का सवाल है, हमने 30,000 ऑक्सीजन बेड तैयार किए हैं और इनमें से लगभग 10,000 आईसीयू बेड हैं। इसके अलावा 6,800 ICU बेड्स निर्माणाधीन हैं जो फरवरी तक तैयार हो जाएंगे। हम हर नगर पालिका वार्ड में 100 ऑक्सीजन बेड्स को 2 हफ्ते के नोटिस पर तैयार कर सकते हैं। दिल्ली में 270 वार्ड हैं तो इस तरह से हम 27,000 ऑक्सीजन बेड्स और तैयार कर सकते हैं। इन सबको मिलाकर हम 63,800 बेड्स तैयार कर सकते हैं। 

केजरीवाल ने कहा कि 32 किस्म की दवाइयां हैं, जिनको अलग-अलग तरह से कोरोना के दौरान इस्तेमाल किया जाता है। इन सारी दवाइयों का 2 महीने का बफर स्टॉक ऑर्डर किया जा रहा है, जिससे किसी भी तरह से दवाइयों की कमी न पड़े और कर्मियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि होम आइसोलेशन से संबंधित तैयारी भी की जा रही है।  

राजधानी को अप्रैल और मई में महामारी की दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन संकट से जूझना पड़ा था। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने 442 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन की अतिरिक्त स्टोरेज सुविधा तैयार की है, जो पिछली लहर के दौरान नहीं थी। उन्होंने कहा कि हमारे पास ऑक्सीजन उत्पादन की शून्य क्षमता थी। हमने पीएसए संयंत्र स्थापित किए हैं जो 121 मीट्रिक टन ऑक्सीजन का उत्पादन कर सकते हैं। पिछली बार, अस्पताल ऑक्सीजन के लिए एसओएस मैसेज भेज रहे थे। हमने दिल्ली के सभी ऑक्सीजन टैंक में टेलीमेट्री उपकरण लगाने का निर्देश दिया है, ताकि हमारे वॉर रूम को पता चल सके कि ऑक्सीजन कहां खत्म हो रही है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने चीन से 6,000 सिलेंडर आयात किए हैं और तीन निजी 'रीफिलिंग' संयंत्र हैं जो प्रति दिन 1500 सिलेंडर भर सकते हैं। उन्होंने कहा कि हमने दो बॉटलिंग संयंत्र लगाए हैं जो दैनिक आधार पर 1400 सिलेंडर भर सकते हैं।

ओमिक्रॉन के खतरे को लेकर हुई हाई लेवल मीटिंग

बता दें कि कोरोना के नए 'ओमिक्रॉन' वैरिएंट से पैदा हुई चिंताओं के बीच, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कोविड​​​​-19 महामारी की तीसरी लहर की संभावना पर समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की। दिल्ली सचिवालय में हुई इस बैठक में मुख्य सचिव, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी, दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) के आयुक्त और सभी जिलों के डीएम भी शामिल थे।

इससे पहले, दिल्ली सरकार ने सोमवार को दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल की अध्यक्षता में दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) की बैठक में फैसला किया कि उच्च जोखिम वाले छह देशों से आने वाले सभी यात्रियों के आरटी-पीसीआर टेस्ट किए जाएंगे। ओमिक्रॉन वैरिएंट (बी.1.1.529), कोरोना वायरस का एक नया वैरिएंट है जो पहली बार बोत्सवाना में 11 नवंबर, 2021 को रिपोर्ट किया गया था, और 14 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका में दिखाई दिया। 

epaper

संबंधित खबरें