ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRपति करता था रेप, पत्नी ने बंद रखा मुंह; बेटा भी जानता था अफसर बाप की करतूत; बना था मददगार

पति करता था रेप, पत्नी ने बंद रखा मुंह; बेटा भी जानता था अफसर बाप की करतूत; बना था मददगार

दोस्त की नाबालिग बेटी से दुष्कर्म और प्रताड़ित करने के आरोप में महिला एवं बाल विकास विभाग के सहायक निदेशक और उसकी पत्नी को पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार कर लिया। अपराध में पूरा परिवार शामिल था।

Sudhir Jhaहिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 22 Aug 2023 10:02 AM
ऐप पर पढ़ें

दोस्त की नाबालिग बेटी से दुष्कर्म और प्रताड़ित करने के आरोप में महिला एवं बाल विकास विभाग के सहायक निदेशक और उसकी पत्नी को पुलिस ने सोमवार को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने महिला को जेल भेज दिया है। आरोपियों की पहचान 50 वर्षीय प्रेमोदय खाका और 47 वर्षीय सीमा खाका के रूप में हुई है।

पुलिस के अनुसार, पीड़िता अपनी मां के साथ वजीराबाद में रहती है। वहीं, महिला एवं बाल विकास विभाग में सहायक निदेशक प्रेमोदय खाका परिवार सहित बुराडी में रहता है। अक्तूबर 2020 में पिता की मौत के बाद पीड़िता पारिवारिक मित्र प्रेमोदय खाका के घर में रहने लगी। इस दौरान नवंबर से जनवरी के बीच प्रेमोदय ने पीड़िता से दुष्कर्म किया। पीड़ित लड़की ने इसकी जानकारी आरोपी की पत्नी सीमा को दी, लेकिन उसने मदद करने की बजाय पिटाई की।

किशोरी के गर्भवती होने पर सीमा ने बेटे से गर्भपात की दवा मंगाकर उसे खिला दी। प्रेमोदय के बेटे पर भी पीड़िता ने यौन शोषण की जानकारी होने की बात कही थी। पीड़िता के अनुसार सीमा ने अपने बेटे से गर्भपात की दवा मंगा कर दी थी। अब पुलिस प्रेमोदय के बेटे को गिरफ्तार करने के लिए कानूनी सलाह ले रही है।

जनवरी 2021 में किशोरी वापस अपने घर लौट गई। इसके बाद भी मिलने पर आरोपी उससे छेड़छाड़ करता रहा। इन वजहों से पीड़िता खौफ के साये में जीने लगी। इस वर्ष सात अगस्त को एंजाइटी अटैक आने पर किशोरी को सेंट स्टीफंस अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। अस्पताल में काउंसलिंग के दौरान पीड़िता ने घटना के बारे में बताया, जिसके बाद जांच शुरू की गई।

सहायक निदेशक प्रेमोदय खाका निलंबित
दिल्ली सरकार के महिला एवं बाल कल्याण विभाग में तैनात सहायक निदेशक प्रेमोदय खाका को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया। दिल्ली सरकार के मुख्य सचिव नरेश कुमार की तरफ से निलंबित किए जाने का आदेश जारी किया गया है। निलंबन अवधि में वो बिना किसी पूर्व अनुमति के मुख्यालय (दिल्ली) नहीं छोड़ेंगे। आरोपी अधिकारी मार्च 2022 से मार्च 2023 तक दिल्ली सरकार के परिवहन मंत्री के ओएसडी के तौर पर तैनात रहा है।

कब क्या हुआ
1.
पिता की मौत के बाद किशोरी पिता के दोस्त के यहां रहने गई तो उसने दुष्कर्म किया।
2. आरोपी की पत्नी ने पति का साथ दिया, गर्भपात की गोली खिलाई।
3. घर लौटने के बाद भी आरोपी बाहर मिलने पर किशोरी से छेड़छाड़ करता था, अस्पताल में भर्ती होने के बाद सच्चाई सामने आई।

अस्पताल में भर्ती दुष्कर्म पीड़िता की काउंसलिंग
नाबालिग लड़की की लगातार काउंसलिंग की जा रही है। दिल्ली बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने लड़की की काउंसलिंग के लिए विशेष काउंसलर नियुक्त किए है। अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है।

Advertisement