ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRदिल्ली में धधका कूड़े का पहाड़, दमघोंटू हवा से परेशानी, केजरीवाल सरकार पर बरसी BJP, देखें वीडियो

दिल्ली में धधका कूड़े का पहाड़, दमघोंटू हवा से परेशानी, केजरीवाल सरकार पर बरसी BJP, देखें वीडियो

दिल्ली के गाजीपुर लैंडफिल साइट पर भीषण आग लगने से आस पास के लोगों की समस्याएं बढ़ गई हैं। इस अग्निकांड को लेकर सियासत भी गर्म है। दिल्ली भाजपा ने केजरीवाल सरकार पर तीखा हमला बोला है। देखें वीडियो...

दिल्ली में धधका कूड़े का पहाड़, दमघोंटू हवा से परेशानी, केजरीवाल सरकार पर बरसी BJP, देखें वीडियो
Krishna Singhपीटीआई,नई दिल्लीSun, 21 Apr 2024 08:39 PM
ऐप पर पढ़ें

पूर्वी दिल्ली में गाजीपुर लैंडफिल साइट पर रविवार शाम को भीषण आग लग गई। दिल्ली अग्निशमन सेवा (डीएफएस) के एक अधिकारी ने बताया कि इस घटना की सूचना शाम 5:22 बजे उनको मिली। इसके बाद तुरंत घटनास्थल की ओर दो दमकल गाड़ियों को रवाना कर दिया गया। आग बुझाने की कोशिशें की जा रही हैं। इस अग्निकांड को लेकर सियासत भी गर्म है। दिल्ली भाजपा ने इसको लेकर केजरीवाल सरकार पर हमला बोला है। भाजपा का दावा है कि इस आग के चलते फैले धुएं के कारण आसपास के इलाकों में लोगों को परेशानी हो रही है। 

भाजपा का अटैक, वादा भूल गए केजरीवाल 
वहीं दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि आग पर काबू पाने के लिए उत्खननकर्ताओं को भी काम पर लगाया गया है। भाजपा ने दिल्ली सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि केजरीवाल सरकार ने पिछले साल 31 दिसंबर तक गाजीपुर लैंडफिल साइट को खाली करने का वादा किया था लेकिन वह वादा पूरा करना भूल गई है। केजरीवाल सरकार ने अपना वादा पूरा नहीं किया है।

पूरे इलाके में फैला धुआं
दिल्ली भाजपा के प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने दावा किया कि लैंडफिल साइट पर आग लगने के कारण पूरे इलाके में धुआं फैल गया है। इससे लोगों को काफी परेशानी हो रही है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 2022 के एमसीडी चुनाव से पहले 31 दिसंबर 2023 तक इस लैंडफिल साइट को खाली करने का वादा किया था लेकिन आलम यह है कि इस लैंडफिल साइट से कचरा हटाने के बजाय और अधिक डाल दिया गया है। 

क्या कहते हैं आंकड़े?
साल 2019 में गाजीपुर लैंडफिल की ऊंचाई 65 मीटर थी, जो कुतुब मीनार से केवल आठ मीटर कम थी। साल 2017 में इस डंपिंग यार्ड में कचरे का एक हिस्सा बगल की सड़क पर टूटकर गिर गया था। इस हादसे में दो लोगों की मौत हो गई थी। यह घटना उन दिनों चर्चा के केंद्र में रही थी। साल 2022 में गाजीपुर लैंडफिल पर आग लगने की तीन घटनाएं देखी गईं। इसमें 28 मार्च की घटना ने सुर्खियां बटोरी थी। इस आग को 50 घंटे से अधिक समय के बाद कड़ी मशक्कत के बाद बुझाया गया था।