ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRदोस्त की नाबालिग बेटी से दुष्कर्म, महिला एवं बाल विकास विभाग के डिप्टी डायरेक्टर पर मुकदमा दर्ज

दोस्त की नाबालिग बेटी से दुष्कर्म, महिला एवं बाल विकास विभाग के डिप्टी डायरेक्टर पर मुकदमा दर्ज

एफआईआर में पीड़िता ने आरोपी उप निदेशक की पत्नी पर भी साजिश रचने और पति का साथ देने का आरोप लगाया है। मानसिक हालत ठीक नहीं होने की वजह से पीड़िता अस्पताल में भर्ती है।

दोस्त की नाबालिग बेटी से दुष्कर्म, महिला एवं बाल विकास विभाग के डिप्टी डायरेक्टर पर मुकदमा दर्ज
Abhishek Mishraनई दिल्ली हिन्दुस्तानSun, 20 Aug 2023 07:18 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली सरकार के महिला एवं बाल विकास विभाग में कार्यरत डिप्टी डायरेक्टर पर दोस्त की नाबालिग बेटी से महीनों तक दुष्कर्म करने का केस दर्ज हुआ है। एफआईआर में पीड़िता ने आरोपी उप निदेशक की पत्नी पर भी साजिश रचने और पति का साथ देने का आरोप लगाया है। मानसिक हालत ठीक नहीं होने की वजह से पीड़िता अस्पताल में भर्ती है।

पुलिस के अनुसार, गोकलपुरी निवासी पीड़िता के माता-पिता सरकारी स्कूल में प्रधानाचार्य थे। वह सिविल लाइंस स्थित स्कूल में कक्षा 12वीं की छात्रा है। पीड़िता ने बताया कि वह परिवार सहित बुराड़ी के चर्च में जाती थी। वहां आरोपी उपनिदेशक परिवार सहित आता था। चूंकि दोनों परिवार एक ही प्रदेश से हैं, इसलिए घनिष्ठता बढ़ गई थी। एक अक्तूबर 2020 को पिता की मौत होने से वह परेशान रहने लगी। इस पर डिप्टी डायरेक्टर 14 वर्षीय पीड़िता को अपने घर लेकर आ गए। आरोपी ने नवंबर 2020 से जनवरी 2021 के बीच कई बार नाबालिग से दुष्कर्म किया। इस बीच पीड़िता गर्भवती हो गई और उसने आरोपी की पत्नी को इस बारे में बताया। आरोपी की पत्नी ने चुप रहने की सलाह देते हुए बेटे से गर्भपात की दवा मंगाई और पीड़िता को खिला दी।

पीड़िता के अनुसार, 16 जनवरी को जन्मदिन पर जब मां मिलने आई तो वह उनके साथ अपने घर चली गई। इसके बाद भी आरोपी उससे संपर्क करने की कोशिश करता था। चर्च जाने के दौरान अक्सर उसके साथ अश्लील हरकत करता था। इसलिए उसने इस साल जुलाई से चर्च जाना भी छोड़ दिया।

एंजाइटी अटैक आने पर खुलासा हुआ

पीड़िता को सात अगस्त को अचानक एंजाइटी अटैक आ गया। मां ने उसे सेंट स्टीफंस अस्पताल में भर्ती कराया। मनोचिकित्सक की निगरानी में उसे रखा गया। काउंसलिंग के दौरान पीड़िता ने अपने साथ हुई पूरी घटना के बारे में बताया। इसके बाद अस्पताल की तरफ से बुराड़ी पुलिस को जानकारी दी गई। 11 अगस्त को एफआईआर दर्ज की गई। फिलहाल पीड़िता की हालत मजिस्ट्रेट के सामने बयान देने की नहीं है। वहीं, आरोपी डिप्टी डायरेक्टर से पूछताछ की गई है।

महिला डॉक्टर का यौन शोषण और पिटाई, रेलकर्मी फरार

23 वर्षीय महिला डॉक्टर ने रेलकर्मी पर दुष्कर्म और पिटाई करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने शुक्रवार को एफआईआर दर्ज कर ली। अभी आरोपी फरार है।

पुलिस के अनुसार, पीड़िता परिवार सहित पीतमपुरा इलाके में रहती है। वर्ष 2017 में वह नीट की कोचिंग कर रही थी। इसी दौरान पड़ोस में रहने वाले 24 वर्षीय अविनाश से कोचिंग के पास मुलाकात हुई। अक्तूबर 2017 में आरोपी ने उसके घर ले जाकर पीड़िता के साथ दुष्कर्म किया। 2018 में पीड़िता का चयन राजधानी के मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस कोर्स के लिए हो गया। वह अक्सर कॉलेज जाकर निगाह रखता था।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें