ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदिल्ली में स्कूल ने नहीं दिया एडमिट कार्ड, छात्र ने दी जान, परिजनों का विरोध प्रदर्शन

दिल्ली में स्कूल ने नहीं दिया एडमिट कार्ड, छात्र ने दी जान, परिजनों का विरोध प्रदर्शन

दिल्ली में एक स्कूल के एडमिट कार्ड देने से इनकार करने के बाद एक छात्र ने फांसी लगा ली। छात्र के परिजनों एवं अन्य नागरिकों ने शनिवार को स्कूल प्रशासन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। पढ़ें यह रिपोर्ट...

दिल्ली में स्कूल ने नहीं दिया एडमिट कार्ड, छात्र ने दी जान, परिजनों का विरोध प्रदर्शन
Krishna Singhपीटीआई,नई दिल्लीSat, 24 Feb 2024 10:42 PM
ऐप पर पढ़ें

अधिकारियों द्वारा परीक्षा के लिए एडमिट कार्ड देने से इनकार करने से कथित तौर पर एक छात्र ने फांसी लगा ली। छात्र के परिजनों एवं अन्य नागरिकों ने शनिवार को आर्मी पब्लिक स्कूल, शंकर विहार के पास विरोध प्रदर्शन किया। लोगों ने प्रिंसिपल को हटाने की मांग की। 10वीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्र ने दक्षिण पश्चिम दिल्ली के शंकर विहार इलाके में अपने घर में कथित तौर पर छत से लटक कर आत्महत्या कर ली। छात्र के चाचा कृष्ण कुमार ने कहा कि पीड़ित का परिवार चाहता है कि अधिकारी स्कूल के प्रिंसिपल को बर्खास्त कर दें। 

छात्र के चाचा कृष्ण कुमार ने बताया कि शनिवार को हमने आर्मी पब्लिक स्कूल से ब्रिगेडियर के आवास तक एक मार्च निकाला और उनसे मांग की कि प्रिंसिपल को उनके पद से हटाया जाए और उन्हें हमारे सामने पेश किया जाए। मार्च में कई लोग शामिल हुए। हमने अपना बच्चा खो दिया है। हम चाहते हैं कि भविष्य में स्कूल के किसी भी छात्र के साथ ऐसी कोई स्थिति ना हो।

कृष्ण कुमार ने आरोप लगाया कि जब पीड़िता की मां अपने एडमिट कार्ड के लिए स्कूल गई तो प्रिंसिपल ने उसके साथ 'दुर्व्यवहार' किया। शुक्रवार को दिल्ली पुलिस ने स्कूल प्रशासन पर आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज किया। पुलिस ने छात्र के पिता की शिकायत पर आर्मी पब्लिक स्कूल, शंकर विहार के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की।

छात्र के परिजनों ने आरोप लगाया कि उनके बेटे को स्कूल प्रशासन द्वारा परीक्षा के लिए प्रवेश पत्र देने से इनकार कर दिया गया था। एक अधिकारी ने बताया कि गुरुवार को वसंत विहार पुलिस स्टेशन (Vasant Vihar Police Station) में दी गई शिकायत में लड़के के पिता ने आरोप लगाया कि स्कूल में कुर्सी तोड़ने के लिए उनके बेटे को भारी जुर्माना भरने को कहा गया था। इस मामले में स्कूल प्रशासन (Army Public School) की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें