ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRमर्दानगी को दी चुनौती, गुस्से में शख्स ने ले ली जान, दिल्ली पुलिस ने गुरुग्राम से दबोचा

मर्दानगी को दी चुनौती, गुस्से में शख्स ने ले ली जान, दिल्ली पुलिस ने गुरुग्राम से दबोचा

दक्षिण दिल्ली के खिड़की एक्सटेंशन इलाके में पार्टी के दौरान गुस्से में आकर एक शख्स ने अपने मित्र की जान इसलिए ले ली क्योंकि पीड़ित आरोपी की मर्दानगी को चुनौती दी थी। पढ़ें यह रिपोर्ट...

मर्दानगी को दी चुनौती, गुस्से में शख्स ने ले ली जान, दिल्ली पुलिस ने गुरुग्राम से दबोचा
Krishna Singhभाषा,नई दिल्लीMon, 27 May 2024 12:22 AM
ऐप पर पढ़ें

दक्षिण दिल्ली के खिड़की एक्सटेंशन इलाके में पार्टी के दौरान गुस्से में आकर एक शख्स ने अपने मित्र की जान ले ली। पीड़ित ने आरोपी की मर्दानगी को चुनौती दी थी। दिल्ली पुलिस ने बताया कि इससे गुस्से में आकर आरोपी ने पीड़ित का गला घोंट दिया और मौके से फरार हो गया। पुलिस ने गुरुग्राम के राजेंद्र नगर इलाके से आरोपी को दबोचा है। पुलिस ने बताया कि सोनीपत निवासी वीरेंद्र को हत्या के एक महीने बाद गिरफ्तार किया गया।

पुलिस ने बताया कि वीरेंद्र के पीड़ित की मां के साथ नाजायज संबंध थे। जब पीड़ित को वीरेंद्र के उसकी मां के साथ नाजायज संबंधों के बारे में पता चला तो दोनों व्यक्तियों के बीच दुश्मनी हो गई, लेकिन बाद में वे दोस्त बन गए। पीड़ित ने कथित तौर पर 33 वर्षीय वीरेंद्र को अपने फ्लैट पर एक पार्टी में आमंत्रित किया था, जहां पीड़ित ने वीरेंद्र की मर्दानगी को चुनौती दी। पुलिस ने बताया कि गुस्से में आकर वीरेंद्र ने उसका गला घोंट दिया और मौके से फरार हो गया।

पुलिस उपायुक्त (अपराध) राकेश पावरिया ने कहा कि 13 अप्रैल को 23 वर्षीय एक व्यक्ति का शव उसके साथ फ्लैट में रहने वाले व्यक्ति ने खिड़की एक्सटेंशन में उनके किराये के फ्लैट में पाया। रात्रि पाली में काम करने के बाद गुड़गांव से लौटे पीड़ित व्यक्ति के साथ फ्लैट में रहने वाले व्यक्ति ने पीसीआर कॉल के माध्यम से पुलिस को सूचित किया।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया और मामले की जांच के लिए मालवीय नगर पुलिस थाने में एक प्राथमिकी दर्ज की गई। आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए, देहरादून, हरिद्वार, दिल्ली और गुड़गांव सहित विभिन्न स्थानों पर छापे मारे गए। एक संदिग्ध मोहित को स्थानीय पुलिस ने पकड़ लिया, लेकिन मुख्य आरोपी वीरेंद्र पकड़ से बचने में कामयाब रहा।

पुलिस उपायुक्त (अपराध) राकेश पावरिया ने कहा कि उन्हें पता चला कि वीरेंद्र 21 मई को एक सहयोगी से मिलने के लिए गुरुग्राम के राजेंद्र नगर इलाके में पहुंचेगा। इस खुफिया जानकारी के बाद एक टीम गठित की गई और वीरेंद्र को पकड़ लिया गया। आरोपी वीरेंद्र ने हत्या में अपनी संलिप्तता कबूल कर ली है।