ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदिल्ली में मॉब लिंचिंग; चोरी के इरादे से घर में घुसे 4 युवकों को भीड़ ने पीटा, एक की मौत

दिल्ली में मॉब लिंचिंग; चोरी के इरादे से घर में घुसे 4 युवकों को भीड़ ने पीटा, एक की मौत

दिल्ली पुलिस ने रविवार को बताया कि खिचरीपुर इलाके में चोर होने के संदेह में भीड़ ने कथित तौर पर चार युवकों की पिटाई कर दी। इसमें 25 वर्षीय एक युवक की मौत हो गई, जबकि तीन अन्य घायल हैं।

दिल्ली में मॉब लिंचिंग; चोरी के इरादे से घर में घुसे 4 युवकों को भीड़ ने पीटा, एक की मौत
Krishna Singhएएनआई,नई दिल्लीSun, 11 Feb 2024 11:54 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के खिचरीपुर इलाके में रविवार को तड़के चोरी के इरादे से एक घर में घुसे चार लड़कों को भीड़ ने रंगे हाथ पकड़ लिया। इसके बाद भीड़ ने चारों लड़कों की जमकर पिटाई की। इससे एक लड़के की मौत हो गई जबकि तीन अन्य घायल हो गए। मृतक की पहचान 25 वर्षीय साहिल सिंह के रूप में हुई है। साहिल की डेड बॉडी पर चाकू से गोदे जाने के दो गंभीर जख्म पाए गए हैं। पुलिस ने आशंका जताई है कि भीड़ में से किसी ने उस पर चाकू से वार किए थे। बाकी तीन अन्य युवकों एलबीएस अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

अधिकारियों के अनुसार, पुलिस को रविवार और सोमवार की दरम्यानी रात को एक पीसीआर कॉल मिली। इसमें बताया गया कि लोगों ने चार युवकों को पकड़ लिया है। चारों एक मकान में कथित तौर पर चोरी का प्रयास कर रहे थे। पुलिस की एक टीम मौके पर पहुंची तो उसने भयानक मंजर देखा। कॉल करने वाले की पहचान विनोद के रूप में हुई, जब पुलिस पहुंची तो वह घटनास्थल पर मौजूद था। घटनास्थल पर पहुंचने पर पता चला कि चोरी के संदेह में पीड़ित और तीन अन्य लोगों पर लोगों ने हमला किया था।

पीड़ित की पहचान राज सिंह के बेटे साहिल (25) के रूप में हुई है, जिसे झगड़े के दौरान घातक चोटें आईं। उस पर चाकू के दो घाव पाए गए और एलबीएस अस्पताल ले जाने पर उसे मृत घोषित कर दिया गया। अधिकारियों ने कहा कि इसके अतिरिक्त, तीन अन्य युवक घायल हो गए। भीड़ ने उन्हें खूब पीटा था। पुलिस ने इस मामले में आईपीसी की धारा 302 (हत्या), 323 (चोट पहुंचाना), 341 (गलत तरीके से रोकना), और 34 (सामान्य इरादा) के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। 

पुलिस ने तीन (विपुल, आदित्य और अतुल) को गिरफ्तार किया है। दो अन्य (करण और अल्ताफ) की तलाश कर रही है, जो इस घटना से जुड़े हैं। पीड़ित के एक सहयोगी की पहचान कमलजीत उर्फ विक्की के रूप में हुई है। उसका चोरियों के मामलों में शामिल होने का रिकॉर्ड है। पुलिस सीसीटीवी फुटेज की जांच कर रही है। अन्य संदिग्धों की पहचान करने के प्रयास जारी हैं। प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि साहिल, विक्की और उनके साथी कथित तौर पर चोरी करने के इरादे से आवास में घुसे थे, लेकिन लोगों ने उन्हें पकड़ लिया।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें