DA Image
3 मार्च, 2021|1:02|IST

अगली स्टोरी

लाल किला हिंसा : कोर्ट ने दीप सिद्धू को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा

deep sidhu  file photo

दिल्ली की एक अदालत ने गणतंत्र दिवस हिंसा मामले में मुख्य आरोपी पंजाबी एक्टर दीप सिद्धू को आज 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। इससे पहले कोर्ट ने दीप सिद्धू को दो बार 7-7 दिन की पुलिस रिमांड में भेजा था। पुलिस ने उसे 9 फरवरी को करनाल से गिरफ्तार किया था।

सिद्धू को इस मामले में सात दिनों की पुलिस हिरासत की अवधि समाप्त होने के बाद मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट समरजीत कौर की अदालत में पेश किया गया था। उसे तिहाड़ जेल में मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया, जहां वह अभी बंद है। अदालत ने सिद्धू को नौ फरवरी को सात दिन की पुलिस हिरासत में भेजा था। पुलिस का आरोप है कि वह लाल किले पर हुई हिंसा को भड़काने वाले मुख्य लोगों में से एक है। उसकी हिरासत अवधि 16 फरवरी को सात और दिनों के लिये बढ़ा दी गई थी।

पुलिस ने कहा था कि ऐसे वीडियो हैं जिनमें सिद्धू को कथित तौर पर घटनास्थल पर मौजूद देखा जा सकता है। पुलिस ने आरोप लगाया था कि वह भीड़ को उकसा रहा था। वह मुख्य दंगाइयों में से एक था। सह-साजिशकर्ताओं की पहचान के लिए कई सोशल मीडिया अकाउंट्स की जांच करने की जरूरत है। उसका स्थायी पता हालांकि, नागपुर दिया गया है, लेकिन पंजाब और हरियाणा में कई स्थानों पर जाकर छानबीन की जरूरत है जिससे और विवरण का खुलासा हो सके।

पुलिस के मुताबिक, उसे झंडा फहराने वाले एक व्यक्ति के साथ बाहर आते और उसे बधाई देते देखा जा सकता है। वह बाहर आया और ऊंची आवाज में भाषण देकर वहां मौजूद भीड़ को उकसाया। वह भड़काने वाले मुख्य लोगों में था। उसने भीड़ को उकसाया जिसकी वजह से हिंसा हुई। हिंसा में कई पुलिसकर्मी जख्मी हो गए।

सिद्धू के वकील ने हालांकि दावा किया कि उसका हिंसा से कोई लेना देना नहीं था और वह बस गलत वक्त पर गलत जगह था। सिद्धू को भारतीय दंड संहिता के तहत विभिन्न आरोपों में गिरफ्तार किया गया था जिनमें दंगा (147 और 148) , गैरकानूनी रूप से इकट्ठा होना (149), हत्या का प्रयास, आपराधिक साजिश (120-बी), लोकसेवक पर हमला या उसके काम में बाधा डालना (152), डकैती (395), गैर इरादतन हत्या (308) और लोकसेवक द्वारा जारी आज्ञा का उल्लंघन (188) शामिल हैं।

उसे आर्म्स एक्ट, सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने से रोकने संबंधी अधिनियम के साथ ही प्राचीन स्मारक और पुरातात्विक स्थल एवं अवशेष अधिनियम के तहत भी गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने सिद्धू की गिरफ्तारी में सहायक जानकारी देने वाले के लिए एक लाख रुपये के इनाम की भी घोषणा की थी। 

हिंसा में 500 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए थे

गणतंत्र दिवस पर हुई हिंसा में 500 से अधिक पुलिसकर्मी घायल हुए थे और एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई थी। घटना के बाद से दीप सिद्धू सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट कर रहा था। सिद्धू एक महिला मित्र के साथ संपर्क में था जो कैलिफोर्निया में रहती है। वह वीडियो बनाकर उसे भेजता था और वह सिद्धू के फेसबुक अकाउंट पर उन्हें अपलोड करती थी। गिरफ्तारी से बचने के लिए सिद्धू लगातार ठिकाना बदल रहा था।  

कौन है दीप सिद्धू 

दीप सिद्धू पंजाबी फिल्मों के अभिनेता के साथ ही सामाजिक कार्यकर्ता भी है। दीप ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत पंजाबी फिल्म रमता जोगी से की थी, जिसे लेकर कहा जाता है कि इसके निर्माता धर्मेंद्र हैं। दीप सिद्धू का जन्म साल 1984 में पंजाब के मुक्तसर जिले में हुआ। दीप ने कानून की पढ़ाई की है। वह किंगफिशर मॉडल अवॉर्ड भी जीत चुके हैं। 17 जनवरी को सिख फॉर जस्टिस से जुड़े केस के सिलसिले में एनआईए ने सिद्धू को तलब भी किया था।

गौरतलब है कि 26 जनवरी को हजारों की संख्या में प्रदर्शनकारी किसान अवरोधकों को तोड़ कर राष्ट्रीय राजधानी में दाखिल हो गये थे और आईटीओ सहित अन्य स्थानों पर उनकी पुलिस कर्मियों से झडपें हुई थीं। कई प्रदर्शनकारी ट्रैक्टर चलाते हुए लाल किला पहुंच गये और ऐतिहासिक स्मारक में प्रवेश कर गये तथा उसकी प्राचीर पर एक धार्मिक झंडा लगा दिया।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Delhi court sends actor Deep Sidhu arrested in connection with Red Fort violence on Republic Day to 14-day judicial custody