ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRसर्जरी के लिए पहलवान सुशील कुमार को सात दिन की अंतरिम जमानत, क्या है तकलीफ?

सर्जरी के लिए पहलवान सुशील कुमार को सात दिन की अंतरिम जमानत, क्या है तकलीफ?

दिल्ली की एक अदालत ने पहलवान सुशील कुमार को घुटने की सर्जरी के लिए एक हफ्ते की अंतरिम जमानत दी। सुशील अन्य आरोपियों के साथ जूनियर पहलवान सागर धनखड़ हत्या मामले में मुकदमे का सामना कर रहे हैं।

सर्जरी के लिए पहलवान सुशील कुमार को सात दिन की अंतरिम जमानत, क्या है तकलीफ?
Krishna Singhभाषा,नई दिल्लीWed, 19 Jul 2023 11:49 PM
ऐप पर पढ़ें

पहलवान सुशील कुमार को घुटने की सर्जरी के लिए अदालत ने एक सप्ताह की अंतरिम जमानत दे दी है। सुशील कुमार अन्य आरोपियों के साथ जूनियर पहलवान सागर धनखड़ हत्या मामले में मुकदमे का सामना कर रहे हैं। लिगमेंट (एसीएल) के एंटेरोमेडियल बंडल के फटने के कारण आरोपी सुशील कुमार की सर्जरी के आधार पर अंतरिम जमानत याचिका दायर की गई थी। याचिका में कहा गया था कि सुशील का ऑपरेशन 26 जुलाई को होना है।

समाचार एजेंसी पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक,  रोहिणी जिला अदालत ने बुधवार को ओलंपिक पदक विजेता पहलवान सुशील कुमार का लिगामेंट (स्नायु) फटे होने का संज्ञान लिया। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश ने चिकित्सा के आधार पर एक हफ्ते की अंतरिम जमानत प्रदान की। अदालत ने कहा- याचिकाकर्ता की मौजूदा स्वास्थ्य स्थिति को ध्यान में रखते हुए यह आदेश दिया जाता है कि उसे 23 जुलाई से 30 जुलाई तक एक हफ्ते की अवधि के लिए अंतरिम जमानत पर रिहा किया जाए। उसे केवल एक लाख रुपये के निजी बॉण्ड और समान राशि के दो जमानतदार प्रस्तुत करने पर रिहा किया जाए।

अदालत ने कहा कि याचिका इसलिए दायर की गई, क्योंकि सुशील को दाहिने घुटने के पास लिगामेंट में चोट आई है। 26 जुलाई को इसकी सर्जरी की जानी है। जांच अधिकारी (आईओ) ने स्वास्थ्य दस्तावेजों की पुष्टि की है। आरोपी पहलवान को सलाह दी गई है कि वह 23 जुलाई को पुसा रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती हो जाएं। आरोपी गवाहों को प्रभावित नहीं करने पाए इस बात को ध्यान में रखते हुए और सुशील कुमार की सुरक्षा को देखते हुए, कम से कम दो सुरक्षाकर्मी 24 घंटे उनके साथ मौजूद रहेंगे।

अदालत ने कहा कि सुशील कुमार को निर्देश दिया जाता है कि वह अभियोजन पक्ष के गवाहों को न धमकाए, साथ ही साक्ष्यों के साथ छेड़छाड़ न करे और किसी अन्य अपराध में शामिल न हों। आईओ की मांग पर आरोपी अपनी लाइव लोकेशन साझा करे। निर्देशों का उल्लंघन करने पर आरोपी की जमानत निरस्त हो जाएगी। सुरक्षाकर्मियों की तैनाती का खर्च आरोपी के परिवार द्वारा वहन किया जाएगा और उक्त राशि संबंधित जेल अधीक्षक के पास अग्रिम रूप से जमा की जाएगी। 

कथित संपत्ति विवाद में सुशील कुमार पर कुछ अन्य लोगों के साथ मिलकर चार मई, 2021 को राष्ट्रीय राजधानी के छत्रसाल स्टेडियम की पार्किंग में सागर धनखड़ और उनके दोस्तों- जय भगवान और भगत पर हमला करने का आरोप है। धनखड़ की बाद में चोटों के कारण मौत हो गई, जिसके बाद कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया। एक अदालत ने 12 अक्टूबर को कुमार और 17 अन्य के खिलाफ हत्या और आपराधिक साजिश के आरोप तय किए थे। सुशील कुमार पर दो वर्ष पूर्व जूनियर राष्ट्रीय कुश्ती चैंपियन सागर धनखड़ की हत्या का आरोप है। वह दो जून 2021 से न्यायिक हिरासत में हैं।