ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRलड़की के घर जाकर रेप करने का आरोप, कोर्ट ने आरोपी को दी जमानत; वजह भी बताई

लड़की के घर जाकर रेप करने का आरोप, कोर्ट ने आरोपी को दी जमानत; वजह भी बताई

दिल्ली कोर्ट ने एक मामले की सुनवाई करते हुए रेप के आरोपी को जमानत देदी है। कोर्ट ने आरोपी को जमानत देने के पीछ वजह भी बताई है।

लड़की के घर जाकर रेप करने का आरोप, कोर्ट ने आरोपी को दी जमानत; वजह भी बताई
Aditi Sharmaलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 25 Jun 2024 07:49 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली की एक अदालत ने एक रेप केस में आरोपी को जमानत दे दी है। कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि रेप पीड़िता की जमानत से कोई आपत्ति नहीं है। कोर्ट ने इस बात पर भी गौर किया कि एफआईआर घटना के 176 दिन बाद दर्ज की गई थी। ऐसे में कोर्ट ने आरोपी को जमानत दे दी। आरोपी स्कूल ऑफ ओपन लर्निंग (एसओएल) का छात्र बताया जा रहा है। पीड़िता भी आरोपी के साथ एसओएल में पढ़ती थी। दोनों के बीच प्रेम संबंध भी था। 

दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश (एएसजे) मनोज कुमार ने यह देखते हुए कि आरोपी 20 साल का युवक है और मामले में चार्जशीट भी दायर की जा चुकी है, आरोपी को जमानत दे दी। 22 जून को आरोपी को जमानत देते हुए अदालत ने कहा, आरोपी ने पीड़िता के साथ शारीरिक मारपीट की या नहीं, यह जांच का विषय है। 

कोर्ट ने इस बात पर भी गौर किया कि एमएलसी के अनुसार, पीड़िता को कोई बाहरी चोट नहीं है और अभियोजक ने अपना इंटरनल मेडिकल चेकअप से इनकार कर दिया था। उसने अपना मोबाइल फोन भी नहीं दिखाया।  इसके अलावा उसके दोस्तों से भी पूछताछ की गई तो उन्होंने भी उसके आरोपों का समर्थन नहीं किया। आरोपी के वकील दीपक शर्मा ने दलील दी कि आरोपी 12 अप्रैल 2024 से हिरासत में है। एफआईआर दर्ज करने में 176 दिन की देरी हुई। जांच के दौरान पीड़िता के दोस्तों ने उसके द्वारा लगाए गए आरोपों का समर्थन नहीं किया।

पीड़िता का क्या आरोप?

पीड़िती की ओर से पेश वकील ने कोर्ट में कहा कि आरोपी ने उसका रेप किया है। आरोपी के मोबाइल फोन की जांच की गई तो पीड़िता के अश्लील फोटो और वीडियो मिले, जो पीड़िता के बयान की पुष्टि करते हैं। वह न्याय से भाग सकता है और गवाहों को प्रभावित कर सकता है। इसलिए उन्हें जमानत नहीं दी जानी चाहिए।

 बता दें, 28 मार्च, 2024 को पीड़िता की शिकायत के आधार पर पुलिस स्टेशन सब्जी मंडी में एक एफआईआर दर्ज की गई थी।  आरोपी की जमानत अर्जी में कहा गया कि आरोपी और पीड़िता 12वीं कक्षा से एकसाथ पढ़ते हैं और एसओएल में पढ़ते हैं। उनका पिछले दो साल से प्रेम प्रसंग चल रहा है। याचिका में काउंसलिंग रिपोर्ट के हवाले से कहा गया है कि पीड़िता ने खुद स्वीकार किया कि आरोपी उसका प्रेमी है।

रिपोर्ट के अनुसार, घटना 4 अक्टूबर, 2023 को पीड़िता के घर पर हुई थी। उसके घर पर दो दोस्त भी मौजूद थे, लेकिन उनके बयान दर्ज नहीं किए गए। पीड़िता का परिवार उनके प्रेम संबंध से खुश नहीं था। आख़िरकार 176 दिनों की देरी के बाद 28 मार्च, 2024 को एफआईआर दर्ज की गई। हालांकि पीड़िता ने 25 मार्च को अपनी मां को सब कुछ बताया था, लेकिन एफआईआर 28 मार्च को दर्ज की गई।