DA Image
Monday, November 29, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRदिल्ली का हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर हुआ और मजबूत, शालीमार बाग 6 माह में बनेगा 1430 ICU बेड्स का नया अस्पताल, केजरीवाल ने रखी आधारशिला

दिल्ली का हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर हुआ और मजबूत, शालीमार बाग 6 माह में बनेगा 1430 ICU बेड्स का नया अस्पताल, केजरीवाल ने रखी आधारशिला

नई दिल्ली। भाषाPraveen Sharma
Sun, 17 Oct 2021 04:49 PM
दिल्ली का हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर हुआ और मजबूत, शालीमार बाग 6 माह में बनेगा 1430 ICU बेड्स का नया अस्पताल, केजरीवाल ने रखी आधारशिला

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को राजधानी के शालीमार बाग में 1430 बेड्स वाले नए सरकारी अस्पताल की आधारशिला रखी और कहा कि अगले छह महीने में यह अस्पताल बनकर तैयार हो जाएगा।

शालीमार बाग में अस्पताल के निर्माण स्थल पर एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर के दौरान शहर में अस्पतालों में बेड्स, आईसीयू बेड्स एवं मेडिकल ऑक्सीजन की बड़ी कमी नजर आई थी।

उन्होंने कहा कि जिम्मेदार सरकार होने के नाते हम (कोविड-19 की संभावित) तीसरी लहर के सिलसिले में सभी महत्वपूर्ण कदम उठा रहे हैं। आज मैंने यहां 1430 बेड्स वाले इस नए सरकारी अस्पताल की आधारशिला रखी है। ये सारे आईसीयू बेड्स होंगे और हर बेड के साथ ऑक्सीजन सप्लाई की सुविधा होगी।

उन्होंने कहा कि सरकार शहर में कुल 6800 बेड्स की क्षमता वाले सात नए अस्पतालों का निर्माण करवा रही है जिससे शहर में स्वास्थ्य अवसंरचना एवं चिकित्सा सुविधा को बल मिलेगा।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन एवं शालीमाग बाग की विधायक बंदना कुमारी भी इस मौके पर मौजूद थीं। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि सरकार अंतरराष्ट्रीय मापदंडों के अनुसार इन अस्पतालों को बनाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार स्वास्थ्य सूचना प्रबंधन प्रणाली (एचआईएमएस) लागू करेगी जिससे विश्व स्तरीय चिकित्सा सुविधाएं मिलने में मदद होगी।

उन्होंने कहा कि एचआईएमएस के जरिए सरकार के पास नागिरकों के सभी चिकित्सा संबंधी आंकड़े होंगे और लोग सरकारी अस्पतालों में डॉक्टरों के साथ ऑनलाइन समय बुक करा पाएंगे। इससे अस्पतालों में भीड़भीड़ खत्म होगी। केजरीवाल ने कहा कि हम नागिरकों के बीच हेल्थ कार्ड भी वितरित करेंगे। लोग इन कार्डों से अस्पतालों में मुफ्त इलाज करा पाएंगे।  

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें