ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRDelhi Chandni Chowk Fire : दिल्ली के चांदनी चौक में आग से दो बाजारों की 200 दुकानें तबाह, अरबों रुपयों का माल राख

Delhi Chandni Chowk Fire : दिल्ली के चांदनी चौक में आग से दो बाजारों की 200 दुकानें तबाह, अरबों रुपयों का माल राख

दिल्ली के चांदनी चौक में लगी आग पर 24 घंटे बाद भी काबू नहीं पाया जा सका। आग की चपेट में आने से अनिल और भगवती मार्केट की करीब 200 दुकानें पूरी तरह जल गई हैं। माल के साथ ही बिल्डिंग भी टूटने लगी है।

Delhi Chandni Chowk Fire : दिल्ली के चांदनी चौक में आग से दो बाजारों की 200 दुकानें तबाह, अरबों रुपयों का माल राख
Praveen Sharmaनई दिल्ली। हिन्दुस्तानSat, 15 Jun 2024 07:46 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के चांदनी चौक में लगी आग पर 24 घंटे बाद भी काबू नहीं पाया जा सका। आग की चपेट में आने से अनिल और भगवती मार्केट की करीब 200 दुकानें पूरी तरह जल गई हैं। माल के साथ ही बिल्डिंग भी टूटने लगी है, जिससे नुकसान और बढ़ गया है। उधर, बिजली गुल रहने के कारण भी लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। आग से प्रभावित व्यापारियों का कहना है कि आग की एक चिंगारी ने पूरा कारोबार तबाह कर दिया। अब लोगों के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है।

आग के चलते नई सड़क पर स्थित अनिल मार्केट की करीब 125 दुकानें और भगवती मार्केट की 50 से अधिक दुकानों में रखे कपड़े समेत अन्य जल गया है। साथ ही, आग बुझाने के लिए छोड़ा गया पानी आसपास की करीब 30 दुकानों में भर गया, जिससे लाखों का सामान खराब हो गया है। आग इतनी भीषण थी कि इमारत भी टूटकर गिर रही है। व्यापारियों का कहना है कि अब तक सामान और बिल्डिंग को जोड़कर देखा जाए तो 200 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ है, जिसके अभी और बढ़ने की आशंका है।

बाजार के जीर्णोद्धार में मदद करेंगे : इमरान

दिल्ली सरकार में खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री और बल्लीमारान के विधायक इमरान हुसैन ने चांदनी चौक में नई सड़क स्थित मारवाड़ी कटरा क्षेत्र का दौरा किया। इस दौरान मंत्री ने पीड़ित व्यापारियों से मुलाकात की। मंत्री ने कहा कि सरकार उनके साथ खड़ी है। हम डीडीएमए, दिल्ली पुलिस और विशेष रूप से अग्निशमन कर्मियों की भूमिका की सराहना करते हैं, क्योंकि घनी आबादी और संकरी गलियों को देखते हुए राहत एवं बचाव कार्यों में कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। उन्होंने व्यापारियों को भरोसा दिया कि दिल्ली सरकार संकट की इस घड़ी में व्यापारियों के साथ खड़ी है। सरकार आग से प्रभावित बाजार के जीर्णोंद्धार करने में हरसंभव सहायता का प्रयास करेगी। उन्होंने एसडीएम को नुकसान के आकलन के निर्देश भी दिए।

रास्ते पर आ गया पूरा परिवार : जैन

अनिल मार्केट ट्रेडर्स एसोसिएशन के प्रधान सुखमल चंद जैन का कहना कि वह यहां 1966 से कपड़े की दुकान चला रहे हैं। पहले उनके पिताजी बैठते थे और अब वह स्वयं दुकान पर बैठते थे। करीब 50-55 लाख रुपये का सामान जल गया है। घर का सारा खर्च दुकान से होने वाली कमाई से ही चलता था, लेकिन आग ने सब कुछ छीन लिया है। समझ में नहीं आ रहा है कि अब दोबारा कैसे कारोबार शुरू करेंगे।

सामान निकालने का समय नहीं मिला और सब जल गया

दुकानदार जयकिशन कहते हैं, अनिल मार्केट में तीसरे तल पर लक्ष्मी साड़ी सेंटर नाम से मेरी दुकान थी। अब सब कुछ खत्म हो चुका है। 35-36 लाख का माल जलकर राख हो गया है। शुरुआत में आग का पता चला तो बेटे को गोदाम की ओर भेजकर माल निकालने की कोशिश की, लेकिन आग की लपटें बढ़ने लगी और सामान निकालने का भी समय नहीं मिला पाया। देखते ही देखते सब कुछ आग की चपेट में आ गया। दुकान से ही पूरा परिवार का पेट पल रहा था। एक झटके में आग ने सब कुछ छीन लिया है।

आंखों के सामने उजड़ गया बाजार

अनिल मार्केट में दुकानदार जयकिशन ने बताया कि आग गुरुवार को छत वाले हिस्से से शुरू हुई थी। इसके बाद पूरी मार्केट को चपेट में ले लिया। इसकी सूचना दमकल विभाग को देने के अलावा लोग अपनी-अपनी दुकानें समेटने में लग गए, लेकिन तब तक अनिल मार्केट की दीवारें धधक उठीं और लोग जान बचाकर किसी तरह भागे। देखते ही देखते मार्केट में आंखों के सामने सब कुछ जल गया।

व्यापारियों और श्रमिकों के सामने रोजी-रोटी की चिंता

नई सड़क ट्रेडर्स वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष दीपक महेंद्रू ने कहा कि अनिल मार्केट में 125 और भगवती मार्केट में 50 से अधिक दुकानें आग के चलते पूरी तरह से खत्म हो गई हैं। उन्होंने बताया कि करीब 200 व्यापारी और उनकी दुकानों पर काम करने वाले करीब 500 श्रमिक के सामने अब जीवन चलाने का संकट खड़ा हो गया है। 24 घंटे से आग को बुझाने की कोशिश की जा रही है, परंतु अभी तक पूरी तरह से नहीं बुझी है। यहां तक कि जीएसटी रिटर्न से लेकर लेन-देन से जुड़े कागजात भी आग में खत्म हो गए।

हमारी तो दुकान ही खत्म हो गई

स्थानीय दुकानदार श्रीनिवास पाण्डेय का कहना है, अनिल मार्केट में मेरी बालाजी फैशन के नाम से दुकान है। मेरा साड़ी बेचने का काफी पुराना काम है। दुकान व गोदाम में करीब 20-25 लाख का सामान रखा हुआ था, जो जलकर खाक हो गया। अब दुकान भी टूटकर गिर चुकी है। दुकान कब बनेगी और कैसे कारोबार शुरू कर पाएंगे, अब कुछ समझ में नहीं आ रहा है। दुकान बनाने के लिए भी तमाम मंजूरी लेनी होती है, लेकिन अब मिलनी मुश्किल हो जाएगी।

सांसद खंडेलवाल ने किया प्रभावित इलाके का दौरा

चांदनी चौक के सांसद प्रवीण खंडेलवाल ने भी शुक्रवार को आग से प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया। आग से हुए नुकसान का जायजा लेते हुए उन्होंने स्थानीय व्यापारियों से बात की। उन्हें भरोसा दिया कि वह आग की घटनाओं को रोकने के लिए एमसीडी व स्थानीय प्रशासन के साथ मिलकर ठोस योजना बनाएंगे। भविष्य में ऐसी घटनाएं रोकने के लिए उन्होंने व्यापारियों से सुझाव भी मांगे।

गर्मी के कारण बिलबिला उठे आसपास के लोग

चांदनी चौक में शुक्रवार देर रात तक मलबा हटाने और आग बुझाने का काम चलता रहा। स्थानीय लोगों ने बताया कि गुरुवार को आग लगने के बाद से शाम करीब 5 बजे से ही बिजली काट दी गई थी। इस दौरान लोग गर्मी से बिलबिला उठे। शुक्रवार देर रात तक भी प्रभावित इलाके के आसपास की बिजली गुल रही। मारवाड़ी कटरा स्थित चार मंजिला अनिल मार्केट कॉम्प्लेक्स की इमारत आग की चपेट में आने से गुरुवार को ढह गई थी।

शुक्रवार देर रात खबर लिखे जाने तक आग पूरी तरह नहीं बुझ सकी थी और दमकल की टीमें लगी रहीं। स्थानीय लोगों के अनुसार, अनिल मार्केट की चार मंजिला इमारत के प्रत्येक तल पर करीब 60 दुकान थीं। ऐसे में इमारत ढहने से करीब 250 दुकानें व उनमें रखा लाखों का सामान मलबे में बदल गया। अनिल मार्केट साड़ी व अन्य कपड़ों की मार्केट थीं, इसलिए मलबे के बीच फंसे कपड़े आग को सहारा देते रहे आग नहीं बुझ नहीं सकी। अनिल मार्केट के आसपास के सभी बाजारों में आग पर पूरी तरह नियंत्रण पा लिया गया था।