ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRदिल्ली बर्गर किंग मर्डर केस : US में रची गई थी हत्या की साजिश, इस मिस्ट्री गर्ल का क्या था रोल

दिल्ली बर्गर किंग मर्डर केस : US में रची गई थी हत्या की साजिश, इस मिस्ट्री गर्ल का क्या था रोल

पुलिस को जांच में पता चला है कि अनु हरियाणा की रहने वाली है। वह अपराध की दुनिया में अपना वर्चस्व कायम करने के लिए हिमांशु भाऊ के गुर्गों के संपर्क में आई और परिजनों को बिना बताए घर से फरार हो गई।

दिल्ली बर्गर किंग मर्डर केस : US में रची गई थी हत्या की साजिश, इस मिस्ट्री गर्ल का क्या था रोल
Praveen Sharmaनई दिल्ली। हिन्दुस्तानFri, 21 Jun 2024 09:22 AM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के राजौरी गार्डन के रेस्तरां में ताबड़तोड़ फायरिंग कर अमन की हत्या करने के मामले में कई चौंकाने वाली बातें सामने आ रही हैं। पुलिस को पता चला है कि छह-सात माह पहले अनु सोशल मीडिया के जरिये भाऊ गैंग के संपर्क में आई और गैंग के लिए हनीट्रैप का काम करने लगी। वहीं, यह भी पता चला है कि इस मर्डर की स्क्रिप्ट शक्ति के भाई निक्कू ने (अमेरिका) यूएस में लिखी थी। इस मामले में पश्चिमी जिला पुलिस के अलावा क्राइम ब्रांच, स्पेशल सेल सहित तमाम यूनिट आरोपियों की धर-पकड़ में जुटी हैं।

उधर, गुरुवार को डीडीयू अस्पताल में अमन के शव का पोस्टमॉर्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि मंगलवार को अनु वारदात से पहले जीटीबी नगर मेट्रो स्टेशन पर मेट्रो में चढ़ी और राजौरी गार्डन में उतरी। घटना के कुछ देर बाद तक रेस्तरां में रुकी। इसके बाद वह राजौरी गार्डन से शकूरपुर की ओर चली गई। वहां से वह कहां गई इसका पता नहीं चल पाया है। युवती की ये सारी गतिविधियां आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों में कैद हुई हैं।

पहले युवती ने नॉर्थ कैंपस बुलाया था : सूत्रों ने बताया कि युवती ने पहले अमन को नॉर्थ कैंपस की तरफ मिलने के लिए बुलाया था, लेकिन अमन ने दूर होने की बात कह कर कहीं और मिलने की बात कही थी। इसके बाद दोनों ने पश्चिमी दिल्ली के बर्गर किंग आउटलेट में मिलने की बात की।

अनु पिछले कई महीनों से घर से है फरार : जांच के दौरान पता चला कि अनु अपराध की दुनिया में अपना वर्चस्व कायम करने के लिए हिमांशु भाऊ के गुर्गों के संपर्क में आई और परिजनों को बिना बताए घर से फरार हो गई। परिजनों ने हरियाणा में इसकी गुमशुदगी भी दर्ज कराई थी। बताया जा रहा है कि हरियाणा में उसके खिलाफ मामला दर्ज है। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि घटना के सभी बिंदुओं को ध्यान में रखकर मामले की जांच की जा रही है।

पुलिस की छापेमारी में नहीं मिली युवती

पुलिस सूत्रों के अनुसार, हिसार निवासी आशीष व रोहतक निवासी विक्की ने अनु के इशारे के बाद गोलियां चलाईं थीं। बताया जा रहा है कि अनु रोहतक से है। वह मुखर्जी नगर में रहती है, लेकिन पुलिस ने जब छापेमारी की तो वहां अनु नहीं मिली। जांच में पता चला कि यहां कमरा किराये पर लेने के लिए उसने जो कागजात दिए थे, वह सभी फर्जी हैं। यहां उसने बताया था कि वह मनोविज्ञान में स्नातक है और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रही है। पुलिस सूत्रों का कहना है कि इस पूरे हत्याकांड की सबसे अहम कड़ी अनु ही है। उसने ही अमन को रेस्तरां में बुलाया था। वह सोशल मीडिया पर ही अमन से मिली थी। जिस इंस्टाग्राम अकाउंट से वह अमन से संपर्क में रहती थी, वह भी फर्जी पाया गया है।

शक्ति के भाई निक्कू ने लिखी थी वारदात की स्क्रिप्ट

पुलिस सूत्रों के अनुसार, जांच में पता चला कि वारदात की साजिश पिछले कई महीनों से रची जा रही थी। शक्ति की हत्या अशोक प्रधान गैंग के बदमाशों ने की थी। अशोक प्रधान गैंग से अमन जुड़ा था। ऐसे में बदला लेने के लिए शक्ति के भाई निक्कू ने भाऊ गैंग का सहारा लिया। कुछ महीने पहले वह इसी मामले को लेकर यूएसए (अमेरिका) में भाऊ गैंग के लोगों से मुलाकात की थी। अंदाजा लगाया जा रहा है कि इसी दौरान यूएसए में बैठकर दिल्ली के राजौरी गार्डन में अमन की हत्या करवाने की पूरी स्क्रिप्ट लिखी गई।

इंस्टाग्राम से गायबहुआ गैंगस्टर का दावा

मंगलवार को हत्या के बाद इंस्टाग्राम पर हिमांशु भाऊ के नाम से एक पोस्ट कर राजौरी गार्डन हत्या की जिम्मेदारी ली गई थी। बताया गया था कि हिमांशु भाऊ और उसका भाई नवीन बाली इस वारदात की जिम्मेदारी ले रहे हैं। इंस्टाग्राम का यह पोस्ट कितना विश्वसनीय है, पुलिस इसका पता लगा रही थी कि अचानक यह अकाउंट बंद हो गया। पुलिस सूत्रों का कहना है कि तकनीकी छानबीन में पता चला कि यह अकाउंट विदेश से संचालित किया जा रहा था।

गोली मारने की फुटेज वायरल 

वारदात की एक सीसीटीवी फुटेज सोशल मीडिया पर गुरुवार को वायरल हो गई। वीडियो में दिख रहा है कि लोग बड़े आराम से रेस्तरां में खा रहे हैं। इसी बीच अचानक ताबड़तोड़ गोलीबारी शुरू होती है और रेस्तरां में अफरा-तफरी का माहौल बन जाता है। कुछ लोग किचन की ओर भागते हैं तो कुछ लोग बाथरूम की ओर भागते नजर आते हैं। वहीं, कुछ लोग दीवार के किनारे बेंचों के नीचे छिपते दिखते हैं।

वीडियो कॉल की जानकारी खंगाल रही पुलिस

पुलिस सूत्रों के अनुसार, अमन जब रेस्तरां पहुंचा तो उसने अपने मोबाइल फोन से वीडियो कॉल कर किसी को अनु के बारे में बताया था। इसके बाद ही उस पर गोलियां बरसाई गईं। पुलिस इस बात का पता लगाने की कोशिश कर रही है कि वह युवक कौन था और उसे अनु के बारे में क्यों बताया गया।