ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRदिल्ली जल बोर्ड में लगाया भ्रष्टाचार का आरोप; जांच की मांग, BJP का LG और एजेंसियों को पत्र

दिल्ली जल बोर्ड में लगाया भ्रष्टाचार का आरोप; जांच की मांग, BJP का LG और एजेंसियों को पत्र

दिल्ली भाजपा ने दिल्ली जल बोर्ड में भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं। भाजपा ने एलजी से सीवेज उपचार संयंत्रों को अपग्रेडेशन के लिए निविदा प्रक्रिया में कथित अनियमितताओं की जांच की मांग की है।

दिल्ली जल बोर्ड में लगाया भ्रष्टाचार का आरोप; जांच की मांग, BJP का LG और एजेंसियों को पत्र
Krishna Singhपीटीआई,नई दिल्लीMon, 27 Nov 2023 01:00 AM
ऐप पर पढ़ें

इन दिनों राष्ट्रीय राजधानी में दिल्ली जल बोर्ड को लेकर सियासत गर्म है। दिल्ली भाजपा ने एलजी वीके सक्सेना से सीवेज उपचार संयंत्रों को अपग्रेडेशन के लिए निविदा प्रक्रिया में कथित अनियमितताओं की जांच कराने की मांग की है। दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने केंद्रीय जांच एजेंसियों और उपराज्यपाल वीके सक्सेना को इस बारे में पत्र लिखा है। उन्होंने पत्र में केंद्रीय जांच एजेंसियों और उपराज्यपाल से दिल्ली जल बोर्ड की ओर से संचालित सीवेज उपचार संयंत्रों को अपग्रेड करने के लिए निविदा प्रक्रिया में कथित अनियमितताओं की जांच की मांग की है। 

सचदेवा ने दिल्ली सरकार पर नियमों का उल्लंघन करके जल्दबाजी में बढ़ी लागत पर अपग्रेडेशन का काम सौंपने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा- एकल संविदा भाव के आधार पर सलाहकार द्वारा अनुमान तैयार किए गए। ये अनुमान बाजार दर से अधिक थे। इस प्रक्रिया के दौरान दरें उच्च स्तर पर तैयार की गईं। कार्यों के लिए 1,938 करोड़ रुपये की लागत आ रही है जो 1,508 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से 28 फीसदी अधिक है। 

बीजेपी नेता ने इस मामले में करीब 500 करोड़ रुपये के 'घोटाले' का आरोप लगाया है। उन्होंने आगे आरोप लगाया है कि दो बोलीदाताओं को फेवर करने के लिए निविदा प्रक्रिया में बदलाव किए गए थे। अनिवार्य विस्तृत परियोजना रिपोर्ट के बिना परियोजनाओं को आवंटित करने के लिए काम को पैकेजों में विभाजित किया गया था।

बयान में कहा गया है कि सचदेवा ने सीबीआई, ईडी और एलजी को विस्तृत नोट भेजकर कथित अनियमितताओं की जांच की मांग की है। उन्होंने ठेकेदारों को दी गई परियोजनाओं को रद्द करने की भी मांग की है। साथ ही ठेके आवंटित करने में कथित तौर पर अनुचित जल्दबाजी दिखाने के आरोप लगाए हैं। संबंधित अधिकारियों और मंत्री के खिलाफ जांच की मांग की है। 

सचदेवा ने आरोप लगाया है कि परियोजनाओं की लागत बहुत ज्यादा थी। दिल्ली सरकार ने बिना विश्लेषण किए परियोजनाओं को आवंटित करने में अत्यधिक जल्दबाजी दिखाई।

इस पर आम आदमी पार्टी ने कहा कि भाजपा हर दिन एक नए घोटाले का आरोप लगाती है, लेकिन किसी भी अधिकारी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करती है। यह एक राजनीतिक नाटक है। दिल्ली सरकार ने खुद ही दिल्ली जल बोर्ड और वित्त विभाग से अब तक प्राप्त शिकायतों के आधार पर दोषी अधिकारियों की पहचान करने को कहा था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई है। यदि कुछ गलत हुआ है, तो हम एलजी से आग्रह करेंगे कि जिम्मेदार अधिकारी के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।  

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें