DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष ने नेता प्रतिपक्ष के अनुरोध के बाद भाजपा विधायक का निलंबन वापस
एनसीआर

दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष ने नेता प्रतिपक्ष के अनुरोध के बाद भाजपा विधायक का निलंबन वापस

नई दिल्ली। भाषाPublished By: Praveen Sharma
Sat, 31 Jul 2021 09:46 AM
दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष ने नेता प्रतिपक्ष के अनुरोध के बाद भाजपा विधायक का निलंबन वापस

दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल ने शुक्रवार को सदन की कार्यवाही बाधित करने के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक ओम प्रकाश शर्मा को अगले सत्र के लिए निलंबित कर दिया था। हालांकि विपक्ष के नेता रामवीर सिंह बिधूड़ी के अनुरोध के बाद निलंबन को वापस ले लिया गया।

दिल्ली विधानसभा के मॉनसून सत्र के दूसरे दिन के अंत में नेता प्रतिपक्ष बिधूड़ी ने गोयल से शर्मा को माफ करने और उन्हें विधानसभा के अगले सत्र में भाग लेने की अनुमति देने का अनुरोध किया, जिस पर अध्यक्ष ने सहमति व्यक्त की। अध्यक्ष ने कहा, “कृपया यह सुनिश्चित करें कि वह सदन का सम्मान करें। मैं उनके खिलाफ अपनी कार्रवाई वापस लेता हूं।"

गौरतलब है कि भाजपा विधायक मोहन सिंह बिष्ट ने सदन में प्रश्नकाल के दौरान आम आदमी पार्टी (आप) विधायक सोमनाथ भारती के बारे में व्यंग्यात्मक टिप्पणी की, जिसके बाद हंगामा शुरू हो गया। इसके बाद भारती समेत 'आप' के कुछ विधायक सदन के आसन के निकट आ गए और बिष्ट से माफी की मांग करने लगे।

इसके बाद बिष्ट, ओम प्रकाश शर्मा, जितेंद्र महाजन, अनिल बाजपेयी समेत भाजपा विधायकों ने भी नारेबाजी शुरू कर दी। अध्यक्ष ने 'आप' विधायकों को अपनी सीटों पर लौटने का निर्देश दिया और बिष्ट से माफी मांगने को भी कहा। उन्होंने भाजपा के अन्य विधायकों से भी शांति बनाए रखने की अपील की।

भाजपा विधायक बिष्ट ने अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगी, लेकिन शर्मा और महाजन चिल्लाते रहे। अध्यक्ष ने महाजन को 10 मिनट के लिए सदन से बाहर जाने को कहा और शर्मा को सदन नहीं चलने देने पर कार्रवाई की चेतावनी दी। शर्मा नहीं माने और उन्होंने बिष्ट से माफी मांगने के अध्यक्ष के फैसले पर सवाल उठाया, जिसके बाद गोयल ने उन्हें अगले सत्र के लिए निलंबित करने का आदेश दिया।

विधानसभा अध्यक्ष गोयल ने फैसला सुनाया, ''मैं सदन के अगले सत्र के लिए ओम प्रकाश शर्मा को निलंबित करता हूं।'' इस फैसले के बाद भाजपा के सभी विधायक सदन से बहिर्गमन कर गए, लेकिन बाद में वे लौट आए। सत्तर सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के आठ जबकि आम आदमी पार्टी के 62 सदस्य हैं। 

संबंधित खबरें