DA Image
हिंदी न्यूज़ › NCR › दिल्ली विधानसभा ने भाजपा के विरोध के बीच जीएसटी संशोधन बिल पास, एक भाजपा विधायक अगले सत्र के लिए सस्पेंड
एनसीआर

दिल्ली विधानसभा ने भाजपा के विरोध के बीच जीएसटी संशोधन बिल पास, एक भाजपा विधायक अगले सत्र के लिए सस्पेंड

नई दिल्ली। भाषाPublished By: Praveen Sharma
Fri, 30 Jul 2021 04:13 PM
दिल्ली विधानसभा ने भाजपा के विरोध के बीच जीएसटी संशोधन बिल पास, एक भाजपा विधायक अगले सत्र के लिए सस्पेंड

दिल्ली विधानसभा ने मॉनसून सत्र के दूसरे दिन शुक्रवार को 'दिल्ली वस्तु एवं सेवा कर (संशोधन) विधेयक, 2021 को पारित कर दिया। इस दौरान विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने एक ही दिन विधेयक को पेश करने और पारित किए जाने को लेकर इसका विरोध किया।

दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इसे पेश करते हुए कहा कि इन परिवर्तनों से व्यापारियों के कामकाज को सुचारू बनाने में मदद मिलेगी। इस विधेयक के जरिए दिल्ली जीएसटी कानून में 15 नए संशोधन किए गए हैं। 

दिल्ली विधानसभा में राष्ट्रीय गीत वंदे मातरम् पर खड़े नहीं हुए अधिकारी, स्पीकर ने मुख्य सचिव को दिया कार्रवाई का आदेश

उन्होंने कहा कि जीएसटी एक नया कानून है। हमारी जानकारी में आया है कि कुछ लोग टैक्स की चोरी कर रहे हैं, इसलिए कुछ संशोधनों का मकसद कर चोरी को रोकना है। सिसोदिया ने कहा कि इनमें से एक संशोधन 1.5 करोड़ और उससे अधिक के कारोबार वाले पंजीकृत व्यापारियों के अनिवार्य ऑडिट की आवश्यकता को दूर करता है।

जैसे ही यह विधेयक पेश किया जा रहा था, भाजपा विधायक विजेंद्र गुप्ता ने सरकार द्वारा विधेयक लाने, उस पर चर्चा करने और उसी दिन इसे पारित करने पर आपत्ति जताई।

स्पीकर ने भाजपा विधायक को अगले सत्र के लिए निलंबित किया

दिल्ली विधानसभा अध्यक्ष राम निवास गोयल ने शुक्रवार को सदन की कार्यवाही बाधित करने के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक ओम प्रकाश शर्मा को अगले सत्र के लिए निलंबित कर दिया। अध्यक्ष के इस फैसले के विरोध में भाजपा के सभी विधायकों ने सदन से वॉक आउट कर दिया।

दिल्ली विधानसभा के मॉनसून सत्र के दूसरे दिन भाजपा विधायक मोहन सिंह बिष्ट ने सदन में प्रश्नकाल के दौरान आम आदमी पार्टी (आप) विधायक सोमनाथ भारती के बारे में व्यंग्यात्मक टिप्पणी की, जिसके बाद हंगामा शुरू हो गया। इसके बाद भारती समेत 'आप' के कुछ विधायक सदन के आसन के निकट आ गए और बिष्ट से माफी की मांग करने लगे। इसके बाद बिष्ट, ओम प्रकाश शर्मा, जितेंद्र महाजन, अनिल बाजपेयी समेत भाजपा विधायकों ने भी नारेबाजी शुरू कर दी। अध्यक्ष ने 'आप' विधायकों को अपनी सीटों पर लौटने का निर्देश दिया और बिष्ट से माफी मांगने को भी कहा। उन्होंने भाजपा के अन्य विधायकों से भी शांति बनाए रखने की अपील की।

भाजपा विधायक बिष्ट ने अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगी, लेकिन शर्मा और महाजन चिल्लाते रहे। अध्यक्ष ने महाजन को 10 मिनट के लिए सदन से बाहर जाने को कहा और शर्मा को सदन नहीं चलने देने पर कार्रवाई की चेतावनी दी। शर्मा नहीं माने और उन्होंने बिष्ट से माफी मांगने के अध्यक्ष के फैसले पर सवाल उठाया, जिसके बाद गोयल ने उन्हें अगले सत्र के लिए सस्पेंड करने का आदेश दिया।

गोयल ने फैसला सुनाया कि मैं सदन के अगले सत्र के लिए ओम प्रकाश शर्मा को निलंबित करता हूं। इस फैसले के बाद भाजपा के सभी विधायक सदन से वॉक आउट कर गए।

70 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा के आठ, जबकि आम आदमी पार्टी के 62 सदस्य हैं। सदन में केंद्र के तीन कृषि कानूनों पर भी चर्चा होनी है, जिनके खिलाफ किसान दिल्ली की तीन सीमाओं सिंघु, टीकरी और गाजीपुर में गत 26 नवंबर से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। 

संबंधित खबरें