ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRअभी भी बहुत खराब है दिल्ली का AQI, GRAP-3 के नियम कब तक रहेंगे लागू; गोपाल राय ने क्या कहा

अभी भी बहुत खराब है दिल्ली का AQI, GRAP-3 के नियम कब तक रहेंगे लागू; गोपाल राय ने क्या कहा

जिस तरह से हवा की गति धमी है उसे देखते हुए वैज्ञानिकों को विश्वास है कि आगे चलकर इसमें सुधार होगा। उन्होंने कहा, 'जब तक दिल्ली की हवा में सुधार नहीं होता तब तक GRAP 3 की पाबंदियां लागू रहेंगी।

अभी भी बहुत खराब है दिल्ली का AQI, GRAP-3 के नियम कब तक रहेंगे लागू; गोपाल राय ने क्या कहा
Nishant Nandanएएनआई,नई दिल्लीThu, 23 Nov 2023 02:23 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली की हवा जहरीली बनी हुई है। मंगलवार की सुबह दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 324 पर पहुंच गया। दिल्ली में हवा बहुत खराब की श्रेणी में है। केजरीवाल सरकार के पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने कहा कि Graded Response Action Plan-3 (GRAP-3)के तहत जारी पाबंदियां लागू रहेंगी। उन्होंने कहा कि जब तक शहर की हवा सुधरती नहीं है तब तक ग्रेड-3 के नियम जारी रहेंगे। गोपाल राय ने लोगों से अपील की है कि वो सतर्क रहे और ग्रैप के सभी नियमों का सख्ती से पालन करें जब तक कि राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण कम नहीं हो जाता। ANI से शहर में अत्यधिक वायु प्रदूषण पर बातचीत करते हुए आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता ने कहा कि राष्ट्रीय महत्व से संबंधित निर्माणों को छोड़ कर अन्य किसी भी तरह के निर्माण कार्य पर पाबंदी है। जिस तरह से हवा की गति धमी है उसे देखते हुए वैज्ञानिकों को विश्वास है कि आगे चलकर इसमें सुधार होगा। उन्होंने कहा, 'जब तक दिल्ली की हवा में सुधार नहीं होता तब तक GRAP 3 की पाबंदियां दिल्ली में लागू रहेंगी।'

कुछ दिनों पहले दिल्ली की हवा में सुधार होने के बाद GRAP-4 के तहत लागू प्रतिबंधों को हटा लिया गया थ। CAQM (Commission for Air Quality Management) ने दिल्ली में वायु प्रदूषण को देखते हुए कई तरह की पाबंदियां वापस ले ली हैं। BS-3 और BS-4 पेट्रोल तथा डीजल वाहनों को छोड़ कर अन्य वाहनों को शहर में प्रवेश की अनुमति दी गई है। इसके अलावा कंस्ट्रक्शन के कामों पर प्रतिबंध हटाया गया है।

राष्ट्रीय राजधानी में बृहस्पतिवार को इस मौसम में अब तक का सबसे कम न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया।  अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली का न्यूनतम तापमान 9.2 डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस कम है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के 38 निगरानी स्टेशन में से कम से कम 15 ने बृहस्पतिवार को सुबह नौ बजे एक्यूआई को 'गंभीर' श्रेणी में तथा 22 निगरानी स्टेशन ने 'बेहद खराब' श्रेणी में दर्ज किया।
शून्य से 50 के बीच एक्यूआई 'अच्छा', 51 से 100 के बीच 'संतोषजनक', 101 से 200 के बीच 'मध्यम', 201 से 300 के बीच 'खराब', 301 से 400 के बीच 'बहुत खराब', 401 से 500 के बीच 'गंभीर' श्रेणी में माना जाता है।
 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें