ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News NCRदिवाली की अगली सुबह जहरीली हुई हवा, 31 गुना बढ़ा पलूशन; आज शाम से फिर इस बात की टेंशन

दिवाली की अगली सुबह जहरीली हुई हवा, 31 गुना बढ़ा पलूशन; आज शाम से फिर इस बात की टेंशन

Delhi AQI: दिल्ली में दिवाली की अगली सुबह हवा एक बार फिर जहरीली हो गई है। कई इलाके में पटाखा बैन की धज्जियां उड़ाई गईं। हवा में PM 2.5 के प्रदूषक कण 31 गुना से अधिक बढ़ गए हैं।

दिवाली की अगली सुबह जहरीली हुई हवा, 31 गुना बढ़ा पलूशन; आज शाम से फिर इस बात की टेंशन
Abhishek Mishraलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 13 Nov 2023 12:05 PM
ऐप पर पढ़ें

Delhi AQI: दिवाली की अगली सुबह दिल्ली की हवा एक बार फिर जहरीली हो गई है। राजधानी में बीते दिनों हुई हल्की बारिश से थोड़ी रहत मिली थी। पटाखों पर बैन के बावजूद जमकर आतिशबाजी ने राजधानी को फिर से गैस का चैम्बर बना दिया है। कई इलाकों में AQI खतरनाक दर्ज की गई। हवा में प्रदूषक कणों PM 2.5 की मात्रा लिमिट से 31 गुना ज्यादा हो गई है। आज शाम तक औसत AQI बहुत खराब श्रेणी में पहुंचने की संभावना है।

दिल्ली का 24 घंटे का औसत AQI आज सुबह 7 बजे 275 (खराब) दर्ज किया गया - जो रविवार शाम 4 बजे के औसत AQI 218 (खराब) से अधिक है। रविवार शाम से AQI धीरे-धीरे बढ़ रहा है।। 24 घंटे का रोलिंग औसत रात 9 बजे 225 (खराब) था; आधी रात को 240 (खराब) और सुबह 5 बजे 261 (खराब) दर्ज किया गया है। पटाखों के उत्सर्जन के चलते राजधानी के कई इलाकों में AQI खतरनाक श्रेणी में है। इसके चलते आज शाम से औसत AQI बहुत खराब श्रेणी में पहुंच जाएगा। 

दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) के मुताबिक दिल्ली के प्रति घंटा पीएम 2.5 की सांद्रता पूर्वी दिल्ली के पटपड़गंज में 1,856 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर तक दर्ज की गई - जो राष्ट्रीय 24 घंटे के पीएम 2.5 मानक 60 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर से लगभग 31 गुना अधिक है। इसके बाद जहांगीरपुरी (रात 11 बजे) में 1,792 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर और नेहरू नगर में 1,785 माइक्रोग्राम प्रति घन मीटर की एक घंटे की अधिकतम वृद्धि दर्ज की गई।

डेटा से पता चला है कि अधिकांश स्टेशनों ने लगभग 1 बजे अपना चरम पीएम 2.5 स्तर दर्ज किया, जिसके स्तर में 2 बजे के बाद से धीरे-धीरे गिरावट आ रही है।

आईएमडी के पूर्वानुमान से पता चलता है कि सोमवार के शुरुआती घंटों में हवाएं मुख्य रूप से शांत थीं। जिससे प्रदूषकों के दोपहर तक वातावरण में फंसे रहने की संभावना है। जब दिन के दौरान 4-6 किमी/घंटा की हवाएं दर्ज की जाती हैं - धीरे-धीरे प्रदूषकों को फैलने में मदद मिलती है। दिवाली पर दिन में हवा की गति 10 किमी/घंटा तक पहुंच गई थी और शनिवार को हवा की गति 18 किमी/घंटा तक पहुंच गई थी - जिसके एक दिन बाद दिल्ली में भी हल्की बारिश दर्ज की गई थी। यही मुख्य कारण था कि दिवाली तक दिल्ली का आधार प्रदूषण स्तर कम था।

पिछले साल, दिल्ली में दिवाली के अगले दिन 25 अक्टूबर को औसत AQI 302 (बहुत खराब) दर्ज किया गया था। ये पिछले सात वर्षों में त्योहार के बाद दिल्ली के लिए सबसे कम AQI था। इस बीच, दिवाली के दिन औसत AQI 312 (बहुत खराब) था। इसकी वजह तेज हवाएं रही थीं। जिनकी मदद से AQI ज्यादा प्रभावित नहीं हुआ था। 

IMD के एक अधिकारी ने बताया,“सोमवार और मंगलवार दोनों दिन दिन के दौरान हवाएँ लगभग 4-6 किमी/घंटा चलने की उम्मीद है। इस अवधि के दौरान हवा की दिशा उत्तर-पश्चिमी होने की उम्मीद है।”

दिवाली के दिन दिल्ली में पारे में गिरावट दर्ज की गई थी। राजधानी में न्यूनतम तापमान 12.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था - जो सामान्य से एक डिग्री कम और इस सीजन में अब तक का सबसे कम तापमान है। आज और कल भी न्यूनतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की उम्मीद है।