ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRबिना नोटिस बुलडोजर चलाना अवैध... जहांगीरपुरी पहुंचे असदुद्दीन ओवैसी को पुलिस ने लौटाया

बिना नोटिस बुलडोजर चलाना अवैध... जहांगीरपुरी पहुंचे असदुद्दीन ओवैसी को पुलिस ने लौटाया

दिल्ली के जहांगीरपुरी में बुधवार को हुई अवैध निर्माण के खिलाफ कार्रवाई पर जमकर सियासत हो रही है। इस बीच एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी बुधवार शाम जहांगीरपुरी पहुंचे।

बिना नोटिस बुलडोजर चलाना अवैध... जहांगीरपुरी पहुंचे असदुद्दीन ओवैसी को पुलिस ने लौटाया
Shivendra Singh लाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 20 Apr 2022 08:02 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली के जहांगीरपुरी में बुधवार को हुई अवैध निर्माण के खिलाफ कार्रवाई पर जमकर सियासत हो रही है। इस बीच एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी बुधवार शाम जहांगीरपुरी पहुंचे। यहां ओवैसी ने भाजपा और दिल्ली की केजरीवाल सरकार पर जमकर हमला बोला। इस दौरान ओवैसी को पुलिस ने जहांगीरपुरी में दौरा नहीं करने दिया। उन्होंने कहा कि बिना नोटिस बुलडोजर चलाना गलत है।

ओवैसी ने कहा कि हनुमान जयंती के दिन पुलिस ने अनुमति नहीं दी तो शोभा यात्रा कैसे हुई? लोगों के पास हथियार कैसे थे? अगर उन्होंने (पुलिस) उन्हें रोक दिया होता और हथियार जब्त कर लिए होते, तो हमें यह दिन देखने की जरूरत नहीं होती। फिलाहाल, मौके पर भारी पुलिस बल तैनात है।

इससे पहले, ओवैसी ने कहा कि मैं यह पहले भी कह चुका हूं, अंसार, अहमद पर बुलडोजर चलेगा लेकिन अर्जुन, अजय पर नहीं। यही अंतर है। अंसार भाजपा या आप में रहते हुए भी अंसार बने हुए हैं... यह विध्वंस चौकस न्याय है... चुनाव आएंगे और जाएंगे लेकिन उनका क्या जो रमजान के दौरान सड़कों पर उतरे? उन्होंने कहा कि मैं आभारी हूं कि सुप्रीम कोर्ट ने इस पर संज्ञान लिया और तत्काल रोक लगा दी, लेकिन वे फिर भी नहीं रुके। ये लोग जनता को बांग्लादेशी और रोहिंग्या कह रहे हैं? लेकिन वे भारतीय हैं।

आपको बता दें किजहांगीरपुरी में  हनुमान जयंती के जुलूस के दौरान दो समुदायों के बीच पथराव, आगजनी और गोलीबारी की घटनाएं हुई थीं। हिंसा में आठ पुलिसकर्मियों के अलावा एक स्थानीय नागरिक घायल हो गया था। इसके बाद दिल्ली के प्रदेश भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने मंगलवार को एनडीएमसी के महापौर को जहांगीरपुरी में दंगाइयों के अवैध निर्माण की पहचान करने और बुलडोजर का उपयोग करके उन्हें ध्वस्त करने के लिए एक पत्र लिखा था। जिसके बाद बुधवार को जहांगीरपुरी में अतिक्रमण विरोधी अभियान के तहत कार्रवाई हुई।

epaper