ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRसावधान! दिल्ली में बेड बॉक्स में गर्दन फंसने से 12 साल के बच्चे की गई जान

सावधान! दिल्ली में बेड बॉक्स में गर्दन फंसने से 12 साल के बच्चे की गई जान

दिल्ली के वसंतकुंज नॉर्थ इलाके में शनिवार शाम को कपड़े निकालने के दौरान दीवान बेड के बॉक्स में गर्दन फंसने से 12 वर्षीय बच्चे की दर्दनाक मौत हो गई। मृतक बच्चे की पहचान राधे कुमार के तौर पर हुई है।

सावधान! दिल्ली में बेड बॉक्स में गर्दन फंसने से 12 साल के बच्चे की गई जान
Praveen Sharmaनई दिल्ली। हेमंत कुमार पांडेयMon, 12 Feb 2024 07:10 AM
ऐप पर पढ़ें

राजधानी दिल्ली के वसंतकुंज नॉर्थ इलाके में शनिवार शाम को कपड़े निकालने के दौरान दीवान बेड के बॉक्स में गर्दन फंसने से 12 वर्षीय बच्चे की दर्दनाक मौत हो गई। मृतक बच्चे की पहचान राधे कुमार के तौर पर हुई है। पुलिस ने शव का पोस्टमॉर्टम कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया है।

बच्चा अपनी मां सोनी, दो बड़ी बहनों और एक छोटे भाई के साथ महिपालपुर हरिजन बस्ती में रहता था। सोनी के पति विक्की की सात साल पहले दुर्घटना में मौत हो गई थी। इसके बाद से परिवार बिहार के मधुबनी जिले से आकर दिल्ली रहने लगा था। सोनी घरों में काम करके परिवार का गुजारा करती है। राधे स्थानीय सरकारी स्कूल में पांचवीं क्लास का छात्र था। परिजनों ने बताया कि राधे पढ़ाई में अच्छा था। वह बड़े होकर आईपीएस अधिकारी बनना चाहता था। हाल में ही उसने 12वीं फेल मूवी देखी थी, जिससे वह बेहद उत्साहित था। इस हादसे के बाद सोनी की तबीयत खराब है।

पूजा में जाने के लिए साफ कपड़े निकालने गया था

परिजनों ने बताया कि पड़ोस में शनिवार को पूजा थी। सोनी ने बेटे राधे को दीवान बेड से निकालकर साफ कपड़े पहनकर आने के लिए कहा और खुद पूजा स्थल पर चली गई। इस दौरान दोनों बड़ी बहनें छत पर थीं और राधे दीवान खोलकर कपड़े निकालने लगा। इसी दौरान बेड बॉक्स के ढक्कन को सहारा देने वाला डंडा फिसल गया और भारी प्लाई उसकी गर्दन पर गिर गई। इसी दौरान राधे की बड़ी बहन की सहेली घर आई और उसने आवाज दी। कुछ देर बाद उसने राधे का सिर बेड के अंदर घुसा हुआ पाया। वह चीखती हुई बगल में कोचिंग पढ़ाने वाले टीचर अनुज के पास गई। अनुज ने बच्चे को स्पाइनल इंजरी सेंटर में भर्ती कराया, लेकिन तब तक बच्चे की मौत हो गई थी।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें