ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News NCRबजट की तैयारी, DDA का नए हाउसिंह प्रोजेक्ट पर फोकस, किन इलाकों का कायाकल्प?

बजट की तैयारी, DDA का नए हाउसिंह प्रोजेक्ट पर फोकस, किन इलाकों का कायाकल्प?

डीडीए ने नए वित्तीय वर्ष 2024-25 के लिए अपना बजट प्रस्तुत करने की तैयारियां शुरू की हैं। अधिकारियों की ओर से बैठकों का दौर शुरू हो चुका है। प्रोजेक्ट व लागत पर प्रस्ताव तैयार किए जा रहे हैं।

बजट की तैयारी, DDA का नए हाउसिंह प्रोजेक्ट पर फोकस, किन इलाकों का कायाकल्प?
Krishna Singhराहुल मानव,नई दिल्लीMon, 05 Feb 2024 10:34 PM
ऐप पर पढ़ें

दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) के नए वित्तीय वर्ष 2024-25 के बजट को जल्द प्रस्तुत करने की तैयारियां शुरू हो गई हैं। इसके लिए प्राधिकरण के अधिकारियों की ओर से बैठकों का दौर शुरू हो चुका है। डीडीए के आवास, भूमि, बागवानी समेत विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारियों की ओर से अपने विभाग से जुड़े प्रोजेक्ट व लागत पर प्रस्ताव तैयार किए जा रहे हैं। सभी विभागों के बजट और उनके प्रोजेक्टों को समायोजित करके बजट को तय किया जाएगा।

एलजी पेश करेंगे बजट
माना जा रहा है लोकसभा चुनाव से पूर्व डीडीए के बजट पर जल्द निर्णय लिया जा सकता है। बजट पर अंतिम फैसला होने के बाद दिल्ली के उपराज्यपाल विनय कुमार सक्सेना की ओर से बजट को प्रस्तुत किया जाएगा। हालांकि इससे पहले पिछले वर्ष मार्च में उपराज्यपाल ने डीडीए के बजट को प्रस्तुत किया था। पिछले वर्ष डीडीए के बजट में कुल वार्षिक लागत 7600 करोड़ रुपये से अधिक और विभिन्न प्रोजेक्ट व राजस्व से अनुमानित प्राप्तियों को 8500 करोड़ रुपये से अधिक तक हासिल करने की जानकारी दी गई थी।

नई आवासीय परियोजनाओं पर जोर
इसके अलावा डीडीए ने पिछले वर्ष के बजट में द्वारका, नरेला और रोहिणी जैसी सब सिटी में नागरिक बुनियादी ढांचे पर 3300 करोड़ रुपये से अधिक फंड को खर्च करके उन्हें अपग्रेड करने का प्रस्ताव भी शामिल किया था। नए वित्तीय वर्ष में भी ढांचागत विकास, नए आवासों के निर्माण कार्यों और यमुना डूब क्षेत्र के कायाकल्प से जुड़े प्रोजेक्ट पर भी फंड को तय किए जाने की उम्मीद है।

कई फंड को लेकर तय होगी रूपरेखा
इस संबंध में डीडीए के अधिकारियों ने कहा कि पिछले वर्ष डीडीए का बजट मार्च माह में प्रस्तुत किया गया था। बजट को तय करने में एक लंबी प्रक्रिया सुनिश्चित होती है। बजट को अंतिम रूप देने का कार्य संचालित किया जा रहा है। बीते वर्ष यमुना में आई बाढ़ के कारण यमुना डूब क्षेत्र के विभिन्न प्रोजेक्ट पर असर पड़ा था। अब डूब क्षेत्र के पुननिर्माण कार्यों पर भी अतिरिक्त फंड को निर्धारित कर सकते हैं।

राजस्व बढ़ाने पर भी होगा जोर
साथ ही लोगों के लिए हजारों आवासीय यूनिट को तैयार करने से जुड़े प्रोजेक्ट पर फंड तय किया जाएगा। डीडीए अपने स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स में और अपने अधिकार क्षेत्र में आने वाली जगहों से भी विज्ञापन के जरिए राजस्व अर्जित करता है। इसके अलावा डीडीए को आवासीय योजना में फ्लैट बेचने से भी राजस्व प्राप्त होता है। इन सब नीतियों से प्राधिकरण को राजस्व मिलता है। इस वर्ष डीडीए का ध्यान राजस्व को बढ़ाने पर भी रहेगा।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें