DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डीडीए की नई आवासीय योजना हुई फ्लॉप, जानें कम आवेदन का बड़ा कारण

DDA flats

दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) की नई आवासीय योजना लोगों को आकर्षित करने में नाकाम रही है। डीडीए को अपनी नई आवासीय योजना के लिए करीब 50,000 आवेदन मिले हैं। अधिकारियों का कहना है कि कम आवेदन का मुख्य कारण ज्यादातर फ्लैट दिल्ली के बाहरी इलाके नरेला में स्थित होना है।

डीडीए की ऑनलाइन योजना 2019 के लिए आवेदन करने की समयसीमा 10 जून को समाप्त हो गई। योजना मार्च में लाई गई थी।

प्राधिकरण के उपाध्यक्ष तरुण कपूर ने कहा कि जहां तक प्राप्त आवेदनों की संख्या का सवाल है, हमें विभिन्न बैंकों से आंकड़े मिल रहे हैं। हम अब तक अंतिम आंकड़े तक नहीं पहुंचे हैं, लेकिन अब तक का आंकड़ा करीब 50,000 है।

योजना के तहत नए बने करीब 18,000 फ्लैट बिक्री के लिए रखे गए थे। ये फ्लैट दिल्ली के वसंत कुंज और नरेला के रिहायशी इलाके में हैं। कम आवेदन मिलने के कारणों के बारे में पूछे जाने पर कपूर ने कहा कि ज्यादातर फ्लैट नरेला में स्थित हैं। यह दिल्ली का बाहरी इलाका नरेला में स्थित है। संभवत: इस कारण से कम आवेदन आए। उन्होंने कहा कि और दूसरा बाजार अभी नीचे है। ये चीजें भी लोगों के निर्णय को प्रभावित कर सकती हैं।

उल्लेखनीय है कि डीडीए को अपनी 2014 योजना के लिए कुल 7.5 लाख आवेदन मिले थे। इसमें 25,000 से अधिक फ्लैट की पेशकश की गई थी। डीडीए आवासीय योजना 2019 की शुरुआत 25 मार्च को हुई थी। कुल 17,922 फ्लैट चार श्रेणियों- एचआईजी, एमआईजी, एलआईजी और ईडब्ल्यूएस में बिक्री के लिए रखे गए थे। आवेदन जमा करने की समयसीमा एक महीने बढ़ाकर 10 जून कर दी गई थी। पहले यह समयसीमा 10 मई थी।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:DDA gets only 50000 applications for new housing scheme