DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

DCP विक्रम कपूर सुसाइड केस : कोर्ट ने आरोपी SHO को 4 दिन की पुलिस रिमांड में भेजा

दो दिन से फरीदाबाद जिला पुलिस की हिरासत में चल रहे थाना भूपानी एसएचओ अब्दुल शहीद को देखने के लिए सेक्टर-12 स्थित जिला अदालत में सुबह से ही भीड़ लगी थी।

                                                                                                                       -

डीसीपी विक्रम कपूर सुसाइड केस में आरोपी एसएचओ अब्दुल शहीद को शुक्रवार को फरीदाबाद की कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने आरोपी इंस्पेक्टर को चार दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया।

दो दिन से फरीदाबाद जिला पुलिस की हिरासत में चल रहे थाना भूपानी एसएचओ अब्दुल शहीद को देखने के लिए सेक्टर-12 स्थित जिला अदालत में सुबह से ही भीड़ लगी थी। किसी अनहोनी की आशंका से बचने के लिए पुलिस ने छिपते-छिपाते उसे सिविल जज शिवानी की कोर्ट में दोपहर करीब तीन बजे पेश किया।

कोर्ट में पेशी के दौरान आरोपी इंस्पेक्टर अब्दुल शहीद मीडिया और भीड़ से मुंह छिपाता रहा। पेशी के बाद जैसे ही कोर्ट ने चार दिन का रिमांड दिया, पुलिस आरोपी इंस्पेक्टर को भीड़ से बचाती हुई अदालत परिसर से बाहर ले गई।

पहले भी दागी रहा है आरोपी एसएचओ का रिकॉर्ड

गौरतलब है कि करीब 24 घंटे की हिरासत में पूछताछ के बाद गुरुवार देर शाम थाना भूपानी के पूर्व एसएचओ अब्दुल शहीद को निलंबित कर दिया गया था। उसके कुछ देर बाद ही उसे गिरफ्तार कर लिया गया। अब्दुल शहीद को डीसीपी कपूर द्वारा सुसाइड से पहले लिखे गए नोट के आधार पर गिरफ्तार किया गया है। सुसाइड नोट में डीसीपी कपूर ने अब्दुल पर एक और शख्स के साथ मिलकर ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया था।

आत्महत्या मामले की जांच एसआईटी करेगी

डीसीपी एनआईटी विक्रम कपूर की आत्महत्या के मामले की जांच के लिए पुलिस आयुक्त संजय कुमार ने स्पेशल इनवेस्टीगेशन टीम (एसआईटी) गठित कर दी है। पुलिस इस मामले में आरोपी एसएचओ से 36 घंटे से पूछताछ कर रही है। 

पुलिस की मानें तो आरोपी आत्महत्या का राज नहीं उगल रहा है। पुलिस को वह लगातार गुमराह कर रहा है। पुलिस आयुक्त ने आरोपी को निलंबित भी कर दिया है। पुलिस आयुक्त ने एसआईटी का मुखिया एसीपी क्राइम राजेश कुमार को बनाया है। इस पुलिस टीम में अपराध जांच शाखा, मुख्यालय प्रभारी इंस्पेक्टर विमल कुमार, सब-इंस्पेक्टर रविंद्र कुमार और सतीश कुमार को शामिल किया है। 

सुसाइड नोट से हुआ खुलासा, DCP विक्रम कपूर को ब्लैकमेल कर रहा था एक SHO

पुलिस सूत्रों का कहना है कि इस मामले की जांच के सिलसिले में पुलिस ने एक महिला से भी पूछताछ की है। महिला से पूछताछ के बाद पुलिस को अहम राज हाथ लगे हैं। दूसरा पहलू यह भी सामने आया है कि आरोपी डीसीपी पर बड़ी रकम लेने का दबाव बना रहा था। रकम किसलिए मांग रहा था। यह अभी पता नहीं चल पा रहा है। पुलिस सूत्रों का यह भी कहना है कि आरोपी करीब एक सप्ताह पहले भी डीसीपी निवास पर गया था। वहां भी आरोपी ने दबाव बनाया था। मगर, आरोपी अपनी मांग से टस से मस नहीं हुआ।

एसएचओ को समय से पहले मिलते रहे प्रमोशन

आईपीएस अधिकारियों और सत्ताधारी नेताओं से घनिष्ठता के चलते इंस्पेक्टर अब्दुल शहीद समय से पहले पदोन्नति पाता रहा। एक आईपीएस अधिकारी ने ही अब्दुल शहीद को हरियाणा पुलिस में भर्ती करने की सिफारिश की थी।

पुलिस की कार्यप्रणाली पर उठे सवाल

पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े हो रहे हैं। कई पूर्व पुलिस अधिकारियों का कहना है कि आरोपी के खिलाफ तुरंत विभागीय जांच बैठा उसे बर्खास्त करना चाहिए। एसआईटी का हेड भी किसी आईपीएस अधिकारी कोबनाना चाहिए।

घरवालों से मिले डीजीपी

डीजीपी मनोज यादव गुरुवार को पुलिस लाइन में डीसीपी के आवास पर पहुंचे। डीजीपी ने मृतक डीसीपी के परिजनों को सांत्वना दी। उन्होंने कहा कि जांच की जा रही है। आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा। परिवार के लोग बिल्कुल भी चिंता न करें।

फरीदाबाद: DCP विक्रम कपूर ने किया सुसाइड, सर्विस रिवाल्वर से मारी गोली

DCP सुसाइड केस : ब्लैकमेलिंग के आरोपी SHO की आज कोर्ट में पेशी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:DCP Vikram Kapoor Suicide Case: faridabad Court sent accused SHO to 4-day police remand