Tuesday, January 18, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ NCRबेटा नहीं आया तो बेटी ने फर्ज निभाया, पिता की अर्थी को कंधा और मुखाग्नि दी

बेटा नहीं आया तो बेटी ने फर्ज निभाया, पिता की अर्थी को कंधा और मुखाग्नि दी

सोहना। हमारे संवाददाताPraveen Sharma
Thu, 21 Jan 2021 07:35 PM
बेटा नहीं आया तो बेटी ने फर्ज निभाया, पिता की अर्थी को कंधा और मुखाग्नि दी

दिल्ली से सटे गुरुग्राम जिले के सोहना में सामाजिक बंदिशों को तोड़कर एक बेटी ने बेटे का फर्ज निभाते हुए अपने पिता की अर्थी को कंधा देकर उन्हें श्मशान तक पहुंचाकर मुखाग्नि भी दी। इस पूरे घटनाक्रम को देखकर हर किसी की आंखें नम हो गईं।

सोहना शहर के वार्ड नंबर 18 मोहल्ला मिर्जावाड़ा में सुनील पुत्र जगदीशचंद अपने परिवार के साथ रहते थे। सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक में कार्यरत सुनील काफी लंबे समय से बीमार चल रहे थे। उनकी तीन संतान थीं। करीब दो महीने पहले सुनील के एक बेटे की मौत लंबी बीमारी के चलते हो गई थी और दूसरा बेटा घर से बाहर रहता है।

उनकी पत्नी का कई वर्ष पूर्व ही निधन हो गया था। सुनील का अचानक निधन होने पर परिजन अंतिम संस्कार करने के लिए घर तक नहीं पहुंच सके। ऐसे में शहर के कुछ समाज सेवी सुनील के शव का अंतिम संस्कार करने के लिए आगे आए।

निरंकारी महाविद्यालय में पढ़ाने वाली उनकी बेटी नेहा और कॉलेज स्टाफ भी आगे आया। इस दौरान बेटी ने न सिर्फ अपने पिता की अर्थी को कंधा दिया, बल्कि एक बेटे की तरह अंतिम संस्कार की सभी रस्मों को भी पूरा किया। नेहा के इस हौसले को सभी लोगों ने सलाम किया।

epaper
सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें